वर्क फ्रॉम होम, ऑनलाइन क्लासेज़ ने बढ़ाई आई स्ट्रेन की समस्‍या, ऐसे करें बचाव

स्‍क्रीन और आंखों के बीच सही दूरी होना जरूरी है. Image Credit : shutterstock

Digital Eye Strain Symptoms And Treatment : स्क्रीन टाइम (Screen Time) बढ़ जाने की वजह से डिजिटल आई स्ट्रेन (Digital Eye Strain) की समस्‍या से लोग जूझ रहे हैं. जानें कैसे करें बचाव.

  • Share this:
    Digital Eye Strain Symptoms And Treatment : कोरोना महामारी की वजह से पिछले करीब दो साल से लोग वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) और ऑनलाइन क्लासेज़ (Online Classes) में बिजी हैं. लगातार कंप्‍यूटर और मोबाइल देखने की वजह से लोगों का स्क्रीन टाइम (Screen Time) पहले की तुलना में कई गुना बढ गया है.  जिस वजह से डिजिटल आई स्ट्रेन का खतरा भी लोगों में बढ़ रहा है. हेल्‍थलाइन के मुताबिक,  स्क्रीन की वजह से आंखों में होने वाली परेशानी को डिजिटल आई स्ट्रेन कहा जाता है.  डिजिटल आई स्‍ट्रेन (Digital Eye Strain) की वजह से आंखों में दर्द होना, लालिमा आना, फोकस नहीं कर पाना, धुंधला दिखना, गरदन आदि में दर्द आदि होता है. आइए जानते हैं कि आखिर हम किस तरह डिजिटल आई स्‍ट्रेन से खुद को बचा सकते हैं.

    20-20-20 रूल को करें फॉलो

    जब भी आप स्‍क्रीन के सामने लंबे समय तक के लिए बैठें तो 20-20-20 रूल को फॉलो करें. इसमें आप स्क्रीन पर 20 मिनट काम करने के बाद 20 फीट दूर तक देखें और फिर 20 सेकेंड का रेस्ट लें. साथ ही बीच में आंखों को झपकाते रहें.

    सही दूरी जरूरी

    स्‍क्रीन और आपके आंखों के बीच सही दूरी मेंटेन होना जरूरी है. कम से कम एक फुट की दूरी जरूरी है. आंखों से स्‍क्रीन की उंचाई नीची रहे तो बेहतर है.





    इसे भी पढ़ें : कभी पी है मेथी की चाय? वजन घटाने के लिए बहुत है फायदेमंद




     

    सही रोशनी में करें काम

    अगर आप अंधेरे कमरे में काम कर रहे हैं तो स्‍क्रीन की तेज लाइट का असर आपकी आंखों पर बुरा पड़ सकता है. ऐसे में रूम में पर्याप्‍त रौशनी जरूर रखें.

    एयर क्‍वालिटी का रखें ध्‍यान 

    जहां भी काम कर रहे हैं वहां ध्‍यान रखें कि पॉल्‍यूशन आदि ना हो. ऐसा होने पर आंखों में जलन आदि की समस्‍या अधिक हो सकती है.

    आई प्रोटेक्‍टर चश्‍मे का करें प्रयोग

    मोबाइल और लॉपटॉप पर काम अधिक करना हो तो आप आई प्रोटेक्‍टर चश्‍मे का प्रयोग करें. इनके प्रयोग से आंखों पर तनाव कम पड़ता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.