जानें क्या है फर्मेंटेड फूड और सेहत के लिए क्या है इसके फायदे

फर्मेंटेड फूड के तहत आप इडली का सेवन भी कर सकते हैं-Image credit/Pexels/sarthak

फर्मेंटेड फूड के तहत आप इडली का सेवन भी कर सकते हैं-Image credit/Pexels/sarthak

अपने इम्यून सिस्टम को मजबूती देने के लिए (To make immune system strong) लोग इन दिनों तरह-तरह की चीजों को डाइट में शामिल कर रहे हैं. ऐसे में आप फर्मेंटेड फूड की मदद (Help of fermented food) भी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ले सकते हैं.

  • Share this:
कोरोना के इस दौर में खुद को फिट और सेफ रखना (Keep yourself fit and safe) बेहद ज़रूरी है. सेफ रहने के लिए सबसे बेस्ट ऑप्शन है घर में रहना और फिट रहने के लिए ज़रूरी है अपनी इम्यूनिटी को स्ट्रांग बनाना. अपने इम्यून सिस्टम को मजबूती देने के लिए (To make immune system strong) लोग इन दिनों तरह-तरह की चीजों को डाइट में शामिल कर रहे हैं. ऐसे में आप फर्मेंटेड फूड की मदद (Help of fermented food) भी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ले सकते हैं. ये आपकी इम्यूनिटी को बढ़ाने के साथ कई और तरह की सेहत सम्बन्धी दिक्कतों को दूर करने में भी आपकी सहायता करेंगे. आइये जानते हैं क्या होता है फर्मेंटेड फूड और क्या हैं इसके फायदे.

क्या होता है फर्मेंटेड फूड

फर्मेंटेड फूड वो होते हैं जो खमीरी प्रक्रिया के तहत तैयार किये जाते हैं. इनको आम बोलचाल की भाषा में खमीर उठाना कहते हैं. फर्मेंटेशन के तहत बैक्टीरिया, ईस्ट या फंगस जैसे सूक्ष्मजीव आर्गेनिक कम्पाउंड को एसिड में बदल देते हैं. ये एसिड प्रिजर्वेटिव के तौर पर काम करता है और खाने के स्वाद को थोड़ा खट्टा बना देता है. इस प्रक्रिया के तहत बनाये जाने वाले आहार के लिए जो खाद्य सामग्री इस्तेमाल की जाती है उसको रात भर के लिए या कुछ घंटों के लिए रूम टेम्प्रेचर पर रख दिया जाता है जिससे उसमें खमीर उठ जाता है और वो फूल जाती है. खमीर उठाने के लिए अगर ज्यादा समय तक सामग्री को रखना मुमकिन नहीं हो तो इसके लिए बेकिंग सोडा, यीस्ट और फ्रूट सॉल्ट का इस्तेमाल किया जाता है. फर्मेंटेशन की इस प्रक्रिया के दौरान जो फायदेमंद बैक्टीरिया पनपते हैं उनको प्रोबायोटिक कहा जाता है जो फर्मेंटेड फूड के सेवन के दौरान शरीर को फायदा पहुंचाते हैं.

ये भी पढ़ें: गर्मी में फिट रहने के लिए इन फूड्स का लें सहारा, नहीं होगी कोई दिक्कत


 फर्मेंटेड फूड के तहत इनको कर सकते हैं डाइट में शामिल


फर्मेंटेड फूड को डाइट में शामिल करने के लिए आप जिन चीजों का सेवन कर सकते हैं उसमें इडली, डोसा, ब्रेड, ढोकला, दही, मठ्ठा, अचार, कांजी, मीसो, दही-चावल, अम्बाली, एखोनी, योगर्ट, टेम्प, केफिर, किमची, अंदुरि पीठा, जलेबी और भटूरा जैसी चीजें शामिल हैं.



इम्यूनिटी बूस्ट करता करता है

अपने रुटीन डाइट में फर्मेंटेड फूड को शामिल करने से आपका इम्यून सिस्टम मजबूत होता है. इससे आपकी इम्यूनिटी बूस्ट होने में मदद मिलती है. ये  केवल इम्यूनिटी को मजबूत ही नहीं करते बल्कि लम्बे समय तक इसको स्ट्रांग भी बनाये रखते हैं.

ये भी पढ़ें: दुबलेपन से हैं परेशान, तो आज ही डाइट में शामिल कर लें ये चीज़ें



आंतों के लिए है फायदेमंद


फर्मेंटेड फूड का सेवन आंतों के लिए भी फायदेमंद माना जाता है. इसके सेवन से पाचन क्रिया सही तरह से काम करती है जिससे आपको कब्ज, गैस, अपच  और एसिडिटी जैसी दिक्कतों को दूर करने में मदद मिलती है. फर्मेंटेड फूड में लैक्टिक एसिड पाया जाता है जो आंतों की सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है.

वजन कम करने में मदद करते हैं

फर्मेंटेड फूड डाइट में शामिल करने से वजन कम करने में मदद मिलती है. ये मेटाबॉलिज़्म को सही रखने में सहायता करते हैं, जिससे आपका पेट सही रहता है. साथ ही प्रतिरक्षा तंत्र भी सही तरह से काम करता है. इससे आपको वजन कम करने में मदद मिलती है.

विटामिन बी12 की ज़रूरत पूरी करने में सहायक

फर्मेंटेड फूड का सेवन करने से शरीर को विटामिन बी12 भी काफी मात्रा में मिल सकता है. जो लोग नॉनवेज नहीं खाते हैं उनको फर्मेंटेड फूड को अपनी डाइट में शामिल करने से शरीर में विटामिन बी12 की ज़रूरत काफी हद तक पूरी हो सकती है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज