Home /News /lifestyle /

ब्रेन में एक खास प्रोटीन की कमी होने से बढ़ता है मोटापा- शोध

ब्रेन में एक खास प्रोटीन की कमी होने से बढ़ता है मोटापा- शोध

 विश्व भर में 65 करोड़ से अधिक वयस्क मोटापे (obesity) के शिकार हैं. (प्रतीकात्मक फोटो- shutterstock.com)

विश्व भर में 65 करोड़ से अधिक वयस्क मोटापे (obesity) के शिकार हैं. (प्रतीकात्मक फोटो- shutterstock.com)

Protein linked to Appetite: जापान के रिसर्चर्स ने एक ऐसे प्रोटीन की पहचान की है, जो दिमाग को भूख संबंधी नियमित संकेत देने और मेटाबॉलिज्म (Metabolism) में अहम भूमिका निभाता है.

    Key protein linked to Appetite & Obesity: आज के दौर में मोटापा एक बीमारी नहीं है, बल्कि ये कई बीमारियों का हेडक्वाटर है. मोटापा आपके शरीर में, डायबिटीज, हाईपरटेंशन, हार्ट डिजीज, बैड कोलेस्ट्रॉल, हाई ब्लड प्रेशर जैसी कई बीमारियां अपने साथ लाता है. अभी तक आप समझ रहे होंगे कि मोटापे का संबंध भूख से होता होगा. जिस व्यक्ति को जितनी भूख लगती है, वो उतना खाता है, फिर उसी कारण उसे मोटापा जकड़ लेता है. लेकिन ऐसा नहीं है. दैनिक जागरण अखबार में छपी न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक, जापान के रिसर्चर्स ने एक ऐसे प्रोटीन की पहचान की है, जो दिमाग को भूख संबंधी नियमित संकेत देने और मेटाबॉलिज्म (Metabolism) में अहम भूमिका निभाता है. चूहों पर की गई इस स्टडी में पाया गया कि ब्रेन के आगे के हिस्से (Front) में एक्सआरएन1 (XRN1) नामक प्रोटीन कम होने पर उनकी (चूहों) भूख बढ़ जाती है और वह मोटे हो जाते हैं.

    जापान की ओआईएसटी यानी ओकीनावा इंस्टीट्यूट आफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी ग्रैजुएट यूनिवर्सिटी (Okinawa Institute of Science and Technology Graduate University) के वैज्ञानिक प्रोफेसर तदाशी यामामोटो (Tadashi Yamamoto) के अनुसार मूलभूत रूप से मोटापे का कारण भोजन करने और उससे उत्पन्न ऊर्जा के समायोजन में असंतुलन होता है. इस स्टडी को साइंस मैगजीन ‘आईसाइंस (iScience)’ में प्रकाशित किया गया है.

    यह भी पढ़ें- कोविड से ठीक हुए मरीजों में ऑस्टियोपोरोसिस का बड़ा खतरा, घर पर ऐसे कर सकते हैं जांच

    महामारी बन रहीं मोटपे से जुड़ी बीमारियां 
    मौजूदा समय में मोटापा (Obesity) पब्लिक हेल्थ के लिए चिंता का बड़ा कारण है. विश्व भर में 65 करोड़ से अधिक वयस्क मोटापे के शिकार हैं. वजन अत्यधिक बढ़ जाने से इससे जुड़ी कई अन्य बीमारियां भी महामारी का रूप लेती जा रही हैं, जैसे- टाइप-2 डायबटीज आदि.

    यह भी पढ़ें- संक्रमित व्यक्ति की खांसी से ही नहीं, सांस से भी लग जाता है टीबी का रोग – रिसर्च

    शोध में बताया गया है कि चूहे के दिमाग के अग्रभाग में न्यूरान की कमी करने से उनके दिमाग के उस हिस्से (हाइपोथैलेमस) में एक्सआरएन1 नाम के प्रोटीन की कमी हो जाती है. इससे शरीर के तापमान, नींद, भूख और प्यास को नियंत्रित किया जाता है. जिन चूहों में इस प्रोटीन की कमी पाई गई, उन्होंने सामान्य चूहों के मुकाबले दोगुना खाना खाया.

    Tags: Health, Health News, New Study

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर