Home /News /lifestyle /

health news leaning on mobile computer we put 27 kilograms of weight on the spine know how to avoid it nav

मोबाइल, कंप्यूटर पर झुककर हम रीढ़ पर डालते हैं 27 किलोग्राम वजन, जानिए कैसे बचें?

हम इसी तरह से इन डिवाइस का अधिक इस्तेमाल करते रहे, तो गर्दन-पीठ में कूबड़ निकल सकता है. (फोटो-canva.com)

हम इसी तरह से इन डिवाइस का अधिक इस्तेमाल करते रहे, तो गर्दन-पीठ में कूबड़ निकल सकता है. (फोटो-canva.com)

ऑस्ट्रेलिया के स्पाइन स्पेशलिस्ट्स के अनुसार, जब हम गर्दन आगे की तरफ 60 डिग्री झुकाते हैं, तो रीढ़ पर 27 किलोग्राम वजन डालते हैं. नई रिसर्च में दावा किया गया है कि हम इसी तरह से इन डिवाइस का अधिक इस्तेमाल करते रहे, तो गर्दन-पीठ में कूबड़ निकल सकता है.

अधिक पढ़ें ...

कोरोनाकाल के दौरान मोबाइल का इस्तेमाल और ऑफिस में कंप्यूटर पर काम की टाइमिंग बढ़ गई है. हम दिनभर मोबाइल, कंप्यूटर के सामने सिर झुकाकर काम करते रहते हैं. ये हमारे लिए हानिकारक हो सकता है. लगातार बैठे रहने और गर्दन को झुकाए रखने से स्पाइन से जुड़ी समस्याएं हो सकती है. डेली मेल में छपी न्यूज रिपोर्ट के अनुसार, ऑस्ट्रेलियाई काइरोप्रैक्टर्स एसोसिएशन (Australian Chiropractors Association) ने नई रिसर्च में दावा किया है कि अगर हम इसी तरह से इन डिवाइस का अधिक इस्तेमाल करते रहे, तो गर्दन-पीठ में कूबड़ निकल सकता है. साइंटिस्टों ने इसे ‘टेक-नेक’ (Tech-Neck) नाम दिया है. इस स्थिति में रीढ़ की हड्डी को झुकाव का सामना करना पड़ता है.

ऑस्ट्रेलिया के स्पाइन स्पेशलिस्ट्स के अनुसार, जब हम गर्दन आगे 60 डिग्री झुकाते हैं, तो रीढ़ पर 27 किलोग्राम वजन डालते हैं. सिडनी की ट्रुडी यिपो (Trudi Yip) कहती हैं कि रोज 12 घंटे काम करके गर्दन की कूबड़ जैसी स्थिति आ गई थी, सिरदर्द भी रहने लगा था. हफ्ते में 70 घंटे काम करने से बिस्तर पकड़ने की नौबत आ गई थी. स्पाइन स्पेशलिस्ट्स की सलाह पर ट्रुडी ने 8 हफ्ते तक रीढ़-गर्दन की एक्सरसाइज की. ऑफिस में पॉश्चर सुधारा, स्ट्रेच किया, तब जाकर पुराना स्वरूप हासिल कर पाई.

स्टडी में क्या निकला
ऑस्ट्रेलिया में वयस्कों पर हुई स्टडी के मुताबिक, 42% वयस्क गर्दन दर्द से पेरशान थे. इतने ही लोग गर्दन अकड़ने की समस्या से जूझ रहे थे. 36% को सिर दर्द और 25% लोग माइग्रेन से परेशान थे. करीब एक तिहाई ऑस्ट्रेलियाई वयस्कों ने कहा कि वे हर घंटे 5-30 बार मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं. 10 में से एक ने माना कि वे ऐसा 40 बार तक करते हैं. स्पेश्लिस्टों ने इन्हें हर 30-60 मिनट में जगह से उठने और घूमने के लिए कहा.

यह भी पढ़ें-
गर्मी में वर्कआउट करने का सही समय क्या है? एक्सपर्ट से जानें, किन बातों का रखें ख्याल

मोबाइल पकड़ने का तरीका तत्काल सुधारें

20/20 ब्रेक लें
फोन या कंप्यूटर का इस्तेमाल करते समय हर 20 मिनट में 20 सेकंड का रेस्ट लें. खड़े हो, चलें और स्ट्रेच करें.

मोबाइल को आंखों के लेवल पर लाएं
फोन की स्क्रीन आंखों के लेवल लाएं, ताकि सिर आगे ना झुके, न ही ऊंचा हो. रीढ़ को सीधा रखें ताकि कान-कंधे एक सीध में हों.

सोने का तरीका सुधारें
पेट के बल सोते हैं और गर्दन दर्द होती है तो ऐसे में सीधे या करवट लेकर साएं. पेट के बल सोने से बचने के लिए तकिए सटाकर भी सो सकते हैं.

यह भी पढ़ें-
ज्यादा पिएं या कम…दिल के साथ-साथ सेहत के लिए बेहद खराब है शराब- स्टडी

तीन स्टेप में सुधारें पोश्चर
कनाडा के ऑस्टियोपैथ ब्रानडॉन टालबॉट के अनुसार, पोश्चर ठीक करने के लिए गर्दन की एक्सरसाइज कर सकते हैं. दोनों हाथों की उंगुलियों को इंटरलॉक कर सिर के पीछे रखें. दीवार की तरफ मुंह कर कोहनियों को दीवार से टिकाते हुए ऊपर की तरफ ले जाएं. इससे रीढ़ का पोश्चर सीधा होगा.

Tags: Health, Health News, Lifestyle

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर