Home /News /lifestyle /

क्या कोरोना की दवा ओमिक्रॉन पर काम करेगी, कंपनी ने किया ये दावा

क्या कोरोना की दवा ओमिक्रॉन पर काम करेगी, कंपनी ने किया ये दावा

मर्क ने दावा किया है कि उसने कोविड-19 के खिलाफ जो दवा तैयार की है, वह खतरनाक ओमिक्रॉन वेरिएंट पर भी असरदार होगी. (image: Shutterstock)

मर्क ने दावा किया है कि उसने कोविड-19 के खिलाफ जो दवा तैयार की है, वह खतरनाक ओमिक्रॉन वेरिएंट पर भी असरदार होगी. (image: Shutterstock)

Omicron variant and antiviral medicine: दवा निर्माता कंपनी मर्क (Merck & Co) ने दावा किया है कि कोरोना के लिए तैयार उसकी दवा मॉलनुपिराविर (molnupiravir)ओमिक्रॉन वेरिएंट के खिलाफ भी कारगर साबित होगी. गौरतलब है कि मर्क कंपनी ने कोविड-19 के खिलाफ एंटीवायरल दवा मॉलनुपिराविर (molnupiravir) विकसित की है. इस दवा को अभी अमेरिकी नियामक से मंजूरी मिलना बाकी है. वर्तमान ट्रायल के आधार पर पाया गया कि यह दवा वायरस से होने वाली मौत को 30 प्रतिशत तक कम करती है. लेकिन कुछ वैक्सीन और दवा निर्माता कंपनियों को डर है कि शायद उनका प्रोडक्ट ओमिक्रॉन पर असरदार नहीं हो.

अधिक पढ़ें ...

    Omicron variant and antiviral medicine: कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर दुनिया भर में हलचल मची है. विशेषज्ञों का मानना है कि ओमिक्रॉन पर वैक्सीन का असर न के बराबर है. इस बीच अमेरिकी दवा निर्माता कंपनी मर्क (Merck & Co) ने दावा किया है कि उसने कोविड-19 के खिलाफ जो दवा तैयार की है, वह खतरनाक ओमिक्रॉन वेरिएंट पर भी असरदार होगी. गौरतलब है कि मर्क कंपनी ने कोविड-19 के खिलाफ एंटीवायरल दवा मॉलनुपिराविर (molnupiravir) विकसित की है. इस दवा को अभी अमेरिकी नियामक से मंजूरी मिलना बाकी है.

    मर्क को उम्मीद है कि उसकी यह दवा ओमिक्रॉन वेरिएंट पर भी असरदार होगी. मर्क का मानना है कि हालांकि दवा उस जिम्मेदार प्रोटीन को अपना निशाना नहीं बनाती जिसके कारण ओमिक्रॉन का म्यूटेशन होता, इसके बावजूद यह दवा ओमिक्रॉन पर प्रवाभी होनी चाहिए.

    इसे भी पढ़ेंः  Basil Seeds Benefits: केवल तुलसी के पत्ते ही नहीं इसके बीज भी हैं सेहत के लिए वरदान

    नई दवा को जल्दी अमेरिका में मिलेगी मंजूरी
    डेलीमेल कीखबर के मुताबिक वर्तमान ट्रायल के आधार पर पाया गया कि यह दवा वायरस से होने वाली मौत को 30 प्रतिशत तक कम करती है. लेकिन कुछ वैक्सीन और दवा निर्माता कंपनियों को डर है कि शायद उनका प्रोडक्ट ओमिक्रॉन पर असरदार नहीं हो. क्योंकि ओमिक्रॉन बहुत तेजी के साथ खुद को म्यूटेट कर लेता है या अपना रूप बदल लेता है. हालांकि अमेरिकी फूड एंट ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (U.S. Food and Drug Administration) को इस दवा का इमरजेंसी यूज के लिए मंजूरी देने पर फैसला करना बाकी है. एफडीए की प्रतिनिधि देरिया हाजुदा (Daria Hazuda) का मानना है कि दवा का कोरोना के सभी वेरिएंट के खिलाफ समान प्रभाव होना चाहिए.बहुत जल्दी यह दवा कोरोना के मरीजों के लिए उपलब्ध होगी.

    इसे भी पढ़ेंः कोरोना मरीजों को स्ट्रोक का ज्यादा खतरा, स्टडी में समाने आए दिमाग में संक्रमण के लक्षण

    मॉलनुपिराविर डेल्टा वेरिएंट पर असरदार
    देरिया हाजुदा ने कहा कि क्लिनिकल ट्रायल में मोलनुपिरविर (molnupiravir ) ने डेल्टा वेरिएंट पर बेहतरीन असर दिखाया है. वर्तमान में डेल्टा वेरिएंट सबसे ज्यादा खतरनाक है. मॉडर्ना के सीईओ स्टीफन बेंसल ने कहा कि उनकी कंपनी की वैक्सीन ओमिक्रॉन के खिलाफ शरीर में पर्याप्त एंटीबॉडी विकसित नहीं कर पाती है. डर इसलिए ज्यादा है कि ओमिक्रॉन वेरिएंट अन्य वायरस के वेरिएंट के मुकाबले बहुत सारे म्यूटेशन को जन्म देता है. लेकिन मर्क ने भरोसा जताया है कि ओमिक्रोन का म्यूटेशन भी दवा के असर के रास्ते में नहीं आएगा.

    Tags: Health, Lifestyle, Omicron

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर