Home /News /lifestyle /

ब्रेस्टफीडिंग के दौरान होने वाले दर्द से हैं परेशान? इस तरह पाएं राहत

ब्रेस्टफीडिंग के दौरान होने वाले दर्द से हैं परेशान? इस तरह पाएं राहत

कुछ महिलाओं को जरूरत से अधिक ब्रेस्ट मिल्क आता है.-image/shutterstock

कुछ महिलाओं को जरूरत से अधिक ब्रेस्ट मिल्क आता है.-image/shutterstock

Breastfeeding Care-नई माताओं (Mother) को लेट डाउन रिफ्लेक्शन से लेकर बहुत ज्यादा सप्लाई से भी स्तन में दर्द हो सकता है.

    Pain During Breastfeeding Care: नई माताओं (Mother) को अक्सर स्तनपान कराते वक़्त कई बार स्तन में दर्द होता है. इसके कई कारण होते हैं लेट डाउन रिफ्लेक्शन से लेकर बहुत ज्यादा सप्लाई से भी दर्द हो सकता है. जिससे निपटना ज़रूरी है. इसके साथ ही जब आप बच्चे के बारे में सोचती हैं तो ऑक्सीटॉसिन हार्मोन निकलता है. कई बार इसकी वजह से बच्चे की आवाज सुनकर या बच्चे को तरफ देखकर आपके स्तनों से रिसाव भी होता है. कई बार जब स्तन में दूध(Milk) आता है तो झनझनाहट, चुभन और टीस जैसा भी महसूस होता है. इसके अलावा भी कई कारण हैं.

    यह भी पढ़ें : कहीं आपको तो नहीं टेस्टोस्ट्रोन इंजेक्शन की ज़रूरत?

    ज्यादा दूध का उत्पाद होना

    कुछ महिलाओं को जरूरत से अधिक ब्रेस्ट मिल्क आता है. इसकी वजह से भी उनको सीने में दर्द होता है. जो 3 महीने के बाद में कम हो जाता है. अगर बच्चा ठीक से स्तनपान करता है तो यह दर्द कम होता है. लेकिन कई बार अगर आप उसे सही ढंग से फीड नहीं करा पाती या बच्चा लैच नहीं कर पाता तो यह समस्या बढ़ जाती है.

    मेस्टाइटिस

    मैस्टाइटिस स्थिति में दूध सही तरीके से बाहर नहीं निकल पाता है. इससे स्तनों में सूजन आ जाती है और वह मिल्क डक्ट को कई बार ब्लॉक कर देता है. जिससे बहुत ज्यादा दर्द की वजह से बुखार भी आ सकता है. ऐसा होने पर जिस स्तन में सूजन ज्यादा है या दर्द है. उस स्तन से बच्चे को फीड कराए. अगर फिर भी दर्द कम नहीं हो रहा है तो उस पर बर्फ से सिकाई करें या गर्म पानी से सिकाई करें. इसके अलावा ब्रेस्ट पंप की मदद से जो भी दूध को बाहर निकाले.

    यह भी पढ़ें :बच्चा होने के बाद इन वजहों से कपल्‍स के बीच बढ़ जाती हैं दूरियां, जानें दोबारा करीब आने का तरीका

    थ्रश

    एक तरह का संक्रमण है जो बच्चे के मुंह और आपके निप्पल में हो सकता है. यदि बच्चों ने किसी तरह की एंटीबायोटिक दवा ली है तो यह संक्रमण होने की आशंका बढ़ जाती है.

    इसके अलावा और भी कई कारण हो सकते हैं

    • प्रसव के बाद में अगर पीरियड आता है तो भी दर्द होने की आशंका रहती है
    • सही फिटिंग की ब्रा नही पहनने से भी दर्द होता है

    इससे बचने के लिए क्या करें

    • हर 2 घंटे पर बच्चे को फीड कराएं
    • समय-समय पर स्तनों को सहलाएं और मसाज दें
    • दर्द होने पर गर्म पानी से स्तनों की सिकाई करें
    • अगर बच्चा ठीक से लैच  नहीं कर पाता तो ब्रेस्ट पंप का इस्तेमाल करें

    (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Female Health, Lifestyle, Mother, Motherhood

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर