Home /News /lifestyle /

सर्दी-खांसी से लेकर ऑर्थराइटिस के दर्द को भी ठीक करता है पारिजात-हरसिंगार

सर्दी-खांसी से लेकर ऑर्थराइटिस के दर्द को भी ठीक करता है पारिजात-हरसिंगार

पारिजात के पत्ते, फूल और छाल में कई गुण पाए जाते हैं. (Image: Shutterstock)

पारिजात के पत्ते, फूल और छाल में कई गुण पाए जाते हैं. (Image: Shutterstock)

parijat benefits in many disease: पारिजात या हरसिंगार के फूल इतने सुगंधित होते हैं कि इसे रात की रानी कहा जाता है. लेकिन पारिजात के फूल सिर्फ सुगंधित ही नहीं होते हैं बल्कि यह औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं. सबसे ज्यादा पारिजात या हरसिंगार के पत्ते में औषधीय गुण पाए जाते हैं. पारिजात के पत्ते, फूल और छाल सभी काम के हैं. इससे साइटिका और ऑर्थराइटिस के दर्द को ठीक किया जा सकता है. इसके अलावा इसके पत्ते में पेट के कीड़ों की मारने की क्षमता होती है. साथ ही इसके पत्ते सर्दी-खांसी में बेहद फायदेमंद होते हैं. पारिजात में एंटीऑक्सीडेंट्स, एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं, जो कई बीमारियों से लड़ने में मददगार होते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    Know health benefits of parijat or Harsingar: आयुर्वेद के अनुसार पारिजात या हरसिंगार एक औषधीय पौधा है. इसके पत्ते में कई गुण मौजूद होते हैं. भारत में इस पौधे को पवित्र माना जाता है. मान्यता के अनुसार पारिजात पौधे को देवराज इंद्र ने स्वर्ग में लगाया था. पारिजात का दूसरा नाम हरसिंगार है. हरसिंगार के फूल बेहद सुगन्धित, छोटे पखुड़ियों वाले और सफेद रंग के होते हैं. फूल के बीच में चमकीला नारंगी रंग इसकी खूबसूरती को और बढ़ा देता है. यह फूल सिर्फ रात को ही खिलता है, इसलिए इसे नाइट ब्लूमिंग जैस्मीन ( night-blooming jasmine) भी कहते हैं. इसे रात की रानी भी बोला जाता है. इस पौधे के पत्ते, फूल और छाल में कई गुण पाए जाते हैं. इससे साइटिका और ऑर्थराइटिस के दर्द को ठीक किया जा सकता है. इसके अलावा इसके पत्ते में पेट के कीड़ों की मारने की क्षमता होती है. साथ ही इसके पत्ते सर्दी-खांसी में बेहद फायदेमंद होते हैं. एचटी की खबर के मुताबिक पारिजात में एंटीऑक्सीडेंट्स, एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं, जो कई बीमारियों से लड़ने में मददगार होते हैं. तो आइए जानते हैं पारिजात से किस-किस चीज का इलाज किया जा सकता है.

    पारिजात के फायदे

    इसे भी पढ़ेंः जीभ में जलन हो रही हो, तो इन घरेलू तरीकों से करें इसका इलाज

    साइटिका के दर्द का इलाज
    पारिजात के पत्ते को पीसकर इसे गर्म पानी के साथ उबालें. इसके बाद इसे छानकर पी लें. दिन में दो बार खाली पेट इसे पीने से साइटिका का दर्द खत्म हो सकता है.

    सर्दी-खांसी में राहत
    पारिजात के पत्ते को पीस लें और इसमें शहद मिलाकर इसे खाएं. आप चाहें तो पारिजात के पत्ते को पीसकर इसे छान लें और शहद में मिलाकर जूस की तरह बना लें. दिन में दो बार इसका सेवन करें. सूखी खांसी खत्म हो जाएगी. सर्दी-खांसी के लिए आप इसे चाय की तरह बनाकर पी सकते हैं. पारिजात के पत्ते को पानी के साथ उबालें. इसमें कुछ तुलसी के पत्ते भी दे दें. इसे रोजाना पीएं, सर्दी-खांसी दूर हो जाएगी.

    इसे भी पढ़ेंः रात में अच्छी नींद के लिए अपनी डाइट में जरूर शामिल करें ये चीजें

    ऑर्थराइटिस के दर्द में कारगर
    पारिजात के पत्ते, छाल और फूल तीनों को एक साथ लें. 5 ग्राम इन सामग्रियों में 200 ग्राम पानी मिलाएं. इसका काढ़ा बनाएं. इसे आग पर तब तक रखें, जब तक कि पानी का दो तिहाई भाग सूख न जाए. सिर्फ एक चौथाई पानी ही बचना चाहिए. अब इसका सेवन करें.

    सूजन और दर्द में राहत
    पारिजात के पत्ते को पानी में उबाल कर काढ़ा बनाएं, इसका दो बार सेवन करें. सूजन खत्म हो जाएगी और इससे हो रहे दर्द से भी राहत मिलेगी.

    पेट के कीड़ों से निजात दिलाते हैं इसके पत्ते
    पेट में किसी भी तरह के कीड़े को मारने में पारिजात के पत्ते बेहद कारगर होते हैं. इसके लिए ताजे पत्ते को पीसकर इससे रस निकाल लें और इसमें चीनी मिलाकर इसे पीए. इससे पेट और आंतों में रहने वाले हानिकारक कीड़े खत्म हो जाते हैं.

    घाव को भरता है पारिजात का पौधा
    पारिजात में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण पाया जाता है, इसलिए यह किसी भी तरह के घावों को भरने में सक्षम है. इसके लिए पारिजात के बीज का पेस्ट बनाएं. इसे फोड़े-फुन्सी या अन्य सामान्य घाव पर लगाएं. इससे घाव ठीक हो जाता है.

    Tags: Health, Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर