Home /News /lifestyle /

health news pregnancy and delivery related problems increase during corona infection study nav

कोरोना संक्रमण के दौरान बढ़ जाती है प्रेग्नेंसी और डिलीवरी से जुड़ी परेशानियां - स्टडी

इस स्टडी के निष्कर्ष में कहा गया है कि वैक्सीनेशन 
प्रेग्नेंट महिलाओं और उनके शिशुओं की सुरक्षा में कारगर साबित हो सकता है. (फोटो-canva.com)

इस स्टडी के निष्कर्ष में कहा गया है कि वैक्सीनेशन प्रेग्नेंट महिलाओं और उनके शिशुओं की सुरक्षा में कारगर साबित हो सकता है. (फोटो-canva.com)

फ्रांस में हुई एक स्टडी के अनुसार, सामान्य के मुकाबले कोरोना संक्रमित महिलाओं को प्रेग्रेंसी और डिलीवरी के दौरान ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ता है. स्टडी में महामारी के शुरुआती 6 महीनों के दौरान फ्रांस के अस्पतालों में प्रसव के लिए भर्ती महिलाओं को शामिल किया था. इसके निष्कर्ष में कहा गया है कि वैक्सीनेशन उन प्रेग्नेंट महिलाओं और उनके गर्भ में पल रहे शिशु की सुरक्षा में कारगर साबित हो सकता है, जिन्हें कोविड-19 से संक्रमण का खतरा ज्यादा होता है.

अधिक पढ़ें ...

पिछले दो सालों से पूरी दुनिया को प्रभावित करने वाले कोरोनावायरस संक्रमण के इलाज को लेकर अभी भी कई देशों में रिसर्च जारी है. हालांकि, इस मामले में अभी तक इम्यूनिटी बढ़ाने वाली वैक्सीन से ज्यादा हमारे हाथ कुछ नहीं लगा है. लेकिन, लगातार हो रही रिसर्च कोरोना से जुड़ी कई समस्याओं की परतें खोलती हैं. फ्रांस में हुई एक स्टडी के अनुसार, सामान्य के मुकाबले कोरोना संक्रमित महिलाओं को प्रेग्रेंसी और डिलीवरी के दौरान ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ता है. इस स्टडी के नतीजों को पीएलओएस मेडिसिन (PLOS Medicine) नामक पत्रिका में प्रकाशित  किया गया है. इस स्टडी में रिसर्चर्स ने महामारी के शुरुआती 6 महीनों के दौरान फ्रांस के अस्पतालों में प्रसव के लिए भर्ती महिलाओं को शामिल किया गया था.

इस स्टडी के निष्कर्ष में कहा गया है कि वैक्सीनेशन प्रेग्नेंट महिलाओं और उनके गर्भ में पल रहे शिशुओं की सुरक्षा में कारगर साबित हो सकता है. खासकर, उनके लिए जिन्हें कोविड-19 से संक्रमण का खतरा ज्यादा होता है.

कैसे हुई स्टडी
यूनिवर्सिटी ऑफ पेरिस के रिसर्चर्स ने जनवरी से जून 2020 के बीच अस्पतालों में भर्ती 22 हफ्ते की प्रेग्नेंट महिलाओं के आंकड़ों का विश्लेषण किया.

यह भी पढ़ें-
क्या डायबिटीज महिलाओं के लिए ज्यादा हानिकारक है? जानें कैसे रखें ब्लड शुगर लेवल को ठीक

इस दौरान अस्पतालों में 2,44,465 बच्चों ने जन्म लिया, जिनमें से 847 यानी 0.36 फीसद की मां कोरोना संक्रमित थीं. स्टडी में पाया गया कि कोरोना संक्रमण से पीड़ित प्रेग्नेंट महिलाओं को आइसीयू में भर्ती करने, अंगों के फेल होने और मौत का खतरा ज्यादा रहा. संक्रमित महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान हाई ब्लड प्रेशर और ब्लीडिंग जैसी कॉम्प्लिकेशन का भी सामना करना पड़ा.

यह भी पढ़ें-
Mistakes Should Be Avoided: कहीं आप भी तो नहीं कर रहे ये गलतियां? सेहत को हो सकता है नुकसान

कोरोना का मां और बच्चे पर पड़ता है अलग-अलग प्रभाव
वहीं, इससे पहले हुई एक स्टडी में दावा किया गया था कि कोरोना संक्रमण प्रेग्नेंट महिला और बच्चे की प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune System) पर अलग-अलग प्रभाव छोड़ता है. क्लीवलैंड क्लिनिकल ग्लोबल सेंटर फॉर पैथोजन एंड ह्यूमन हेल्थ रिसर्च (Cleveland Clinical Global Center for Pathogen and Human Health Research) द्वारा की गई इस स्टडी के अनुसार, कोविड संक्रमण प्रेग्नेंट महिला के इम्यून सिस्टम को कमजोर कर देता है और बिना लक्षण वाली व गंभीर रूप से संक्रमित महिलाओं का इम्यून सिस्टम भी अलग प्रतिक्रियाएं देता हैं. इस स्टडी के नतीजे सेल रिपोर्ट मेडिसिन (cell reports medicine) नामक मेडिकल जर्नल में प्रकाशित किए गए है.

Tags: Coronavirus, Health, Health News, Lifestyle, Pregnancy

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर