Home /News /lifestyle /

Health News: एंटी एजिंग के लिए दवा से बेहतर असर करती है डाइट- नई स्टडी

Health News: एंटी एजिंग के लिए दवा से बेहतर असर करती है डाइट- नई स्टडी

अगर सही तरीके से डाइट ली जाए तो यह कोशिकाओं के अंदरुनी हिस्सों में दवा से कहीं ज्यादा असर छोड़ती है. (Image: Shutterstock)

अगर सही तरीके से डाइट ली जाए तो यह कोशिकाओं के अंदरुनी हिस्सों में दवा से कहीं ज्यादा असर छोड़ती है. (Image: Shutterstock)

Diet is better than drug: एक अध्ययन में दावा किया गया है कि एंटी-एजिंग और डायबिटीज के लिए सही तरीके से डाइट ली जाए तो इसका असर दवा से कहीं बेहतर होता है. सेल मेटाबोलिज्म जर्नल (Cell metabolism Journal) में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर सही तरीके से डाइट (Proper diet) ली जाए तो यह कोशिकाओं के अंदरुनी हिस्सों में दवा से कहीं ज्यादा असर छोड़ती है. यह अध्ययन यूनिवर्सिटी ऑफ सिडनी (University of Sydney) के चार्ल्स पर्किंस सेंटर (Charles Perkins center) के शोधकर्ताओं ने किया है. अध्ययन में दावा किया गया है कि डाइट को सही तरीके से लिया जाए तो यह डायबिटीज, स्ट्रोक और हार्ट डिजीज के मामले में दवा से बेहतर काम करती है.

अधिक पढ़ें ...

    Diet is better than drug: हम जो खाते हैं, उसी हिसाब से हमारी सेहत होती है. दरअसल, डाइट ही वह चीज है जिसकी वजह से हमारा अस्तित्व है. अगर हम अपनी डाइट में सही चीजों का इस्तेमाल करें तो लंबी आयु तक हेल्दी भी रह सकते हैं और जिंदा भी रह सकते हैं. अगर हमारी डाइट सही नहीं रहती है तो शरीर का फंक्शन सही तरह से नहीं हो पाता है. इस स्थिति में मेटाबोलिज्म को मैंटेन रखना चुनौतीपूर्ण हो जाता है. इन सब स्थितियों में क्रोनिक डिजीज होने का जोखिम भी बढ़ जाता है. अब एक नए अध्ययन में भी यह बात साबित हुई है कि एंटी एजिंग और डायबिटीज के मामले में डाइट का असर दवा से कहीं ज्यादा होता है.

    इसे भी पढ़ेंः Drinks For Immunity In Winter: सर्दियों में जरूर पिएं ये होममेड इम्यूनिटी बूस्टर ड्रिंक्स, वायरल इंफेक्शन से होगा बचाव

    कोशिकाओं के अंदरुनी हिस्सों में दवा से ज्यादा असर
    एनआईन्यूज की खबर के मुताबिक सेल मेटाबोलिज्म जर्नल (Cell metabolism Journal) में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर सही तरीके से डाइट ली जाए तो यह कोशिकाओं के अंदरुनी हिस्सों में दवा से कहीं ज्यादा असर छोड़ती है. यह अध्ययन यूनिवर्सिटी ऑफ सिडनी (University of Sydney) के चार्ल्स पर्किंस सेंटर (Charles Perkins center) के शोधकर्ताओं ने किया है. अध्यन में दावा किया गया है कि डाइट को सही तरीके से ली जाए तो यह डायबिटीज, स्ट्रोक और हार्ट डिजीज के मामले में दवा से बेहतर काम करती है.

    इसे भी पढ़ेंः 30 के बाद पुरुष अपनी डाइट में जरूर शामिल करें ये चीजें, नहीं होगी ताकत की कमी

    इंसान और चूहों पर अध्ययन
    शोधकर्ताओं ने चूहों पर अध्ययन के दौरान पाया कि डायबिटीज और एंटी एजिंग के लिए दी जाने वाली तीन दवाइयों की तुलना में अगर पोषक तत्व को सही तरीके से कोशिकाओं तक पहुंचाया जाए तो यह एजिंग और मेटाबोलिक हेल्थ पर दवा से बेहतर तरीके से काम करते हैं. शोधकर्ताओं ने चूहों और इंसान पर एजिंग, मोटापा, हार्ट डिजीज, मेटाबोलिक डिजीज,टाइप 2 डायबिटीज, इम्यून डिसफंक्शन आदि के खिलाफ डाइट के रक्षात्मक प्रभाव का आकलन किया.

    पोषक तत्वों का असर ज्यादा प्रभावी
    चार्ल्स पर्किंस सेंटर के प्रोफेसर स्टीफन सिंपसन (Stephen Simpson) ने बताया कि डाइट पावरफुल मेडिसीन है. उन्होंने कहा कि वर्तमान में एंटी-एजिंग और डायबिटीज के लिए जो दवाएइयां हैं, वे भी उसी बायोकेमिकल रास्ते से शरीर में पहुंचती है जिस रास्ते से पोषक तत्व पहुंचते हैं लेकिन पोषक तत्व का असर ज्यादा प्रभावी है. उन्होंने कहा कि हमने अपने अध्ययन के आधार पर यह पाया है कि जो लोग एंटी एजिंग या डायबिटीज की दवा ले रहे हैं, वे सिर्फ अपनी डाइट में बदलाव ले आए. इसका असर दवा से कही ज्यादा बेहतर होगा. डाइट मेटाबोलिक हेल्थ को बेहतर तरीके से इंप्रूव करेगी.

    Tags: Health, Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर