Home /News /lifestyle /

Raksha Bandhan 2021: रक्षाबंधन पर नकली मावों से रहें जरा बच कर, इस तरह करें असली-नकली की पहचान

Raksha Bandhan 2021: रक्षाबंधन पर नकली मावों से रहें जरा बच कर, इस तरह करें असली-नकली की पहचान

अगर आप नकली मावे से बनी मिठाई खा लेते हैं तो फूड पॉइजनिंग की समस्‍या हो सकती है. Image Credit :  shutterstock

अगर आप नकली मावे से बनी मिठाई खा लेते हैं तो फूड पॉइजनिंग की समस्‍या हो सकती है. Image Credit : shutterstock

Raksha Bandhan 2021 : रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) के त्‍योहार के दिन मिठाइयों (Sweets) की खरीददारी के समय असली और नकली (Fake) मिठाइयों की पहचान जानना बहुत जरूरी है.

    Stay Away From Fake Sweets On Raksha Bandhan In This Way : आज पूरे देश में रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) का त्योहार जोर शोर से मनाया जा रहा है. भाई-बहन (Brother-Sister) के प्यार का प्रतीक रक्षा बंधन का त्‍योहार इस बार घर पर रहकर ही अधिकतर लोग मना रहे हैं. ऐसे में बाजार से मिठाइयों (Sweets) की खरीददारी ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से खूब की जा रही है. लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि त्‍योहारों के इस मौसम में बाजार में नकली मिठाइयों या नकली (Fake) मावे का कारोबार भी तेजी से बढ जाता है. लेकिन अच्‍छे और बुरे क्‍वालिटी यानी असली और नकली क्‍वालिटी वाली मिठाइयों या मावों में अंतर जानना हर किसी के बस की बात नहीं होती. ऐसे में आज चलिए हम आपको बताते हैं कि आप किन बातों को ध्‍यान में रखकर इनकी खरीददारी करें और किस तरह असली और नकली मावों या इससे बनी मिठाइयों को पहचानें.

    इस तरह पहचानें असली या नकली मावों को

    पहला तरीका

    मावा के छोटे से टुकड़े को लें और अंगूठे और उंगली के बीच में रखकर थोड़ी देर के लिए रगड़ें. अगर इसमें मौजूद घी की महक देर तक अंगूठे पर रहती है यानि की मावा प्‍योर है.

    दूसरा तरीका

    मावा का टुकड़ा लें और अपनी हथेली पर इसकी एक गोली बनाएं. आप इसे देर तक ह‍थेली के बीच घुमाते रहें. अगर ये गोली फटने लगती है तो समझिए कि मावा मावा नकली या मिलावटी है.

    इसे भी पढ़ेंः Raksha Bandhan 2021: 474 साल बाद बन रहा ये महासंयोग, राखी पर बहनों की हर इच्छा होगी पूरी

    तीसरा तरीका

    थोड़े से पानी को गर्म करें और इसमें 5 ग्राम खोया डालें. जब ये ठंडा हो जाए तो इसमें आयोडीन सॉलूशन डालें. अगर मावे का रंग नीला पड़ने लगे तो समझिए कि मावा नकली है.

    चौथा तरीका

    अगर मावा को मुंह में डालने से चिपचिपाहट लगे तो समझिए कि ये खराब हो चुका है. दरअसल असली मावा का स्‍वाद कच्चे दूध जैसा होता है.

    इसे भी पढ़ेंः Raksha Bandhan 2021: 474 साल बाद बन रहा ये महासंयोग, राखी पर बहनों की हर इच्छा होगी पूरी

    पाचवां तरीका

    पानी में मावा डालकर फेंटें, अगर वो छोटे-छोटे टुकड़ों में टूटता है तो ये खराब है. इसे खाने से आपकी सेहत खराब हो सकती है.

    नकली मावा सेहत को पहुंचा सकता है नुकसान

    डॉक्‍टरों का कहना है कि अगर आप नकली मावे से बनी मिठाई खा लेते हैं तो फूड पॉइजनिंग, उल्टी, पेट दर्द की समस्या आदि की समस्‍या हो सकती है. दरअसल नकली मावे से बनी मिठाइयां हमारी किडनी और लिवर को प्रभावित करती हैं और पाचन क्रिया को भी बाधित करते हैं. जिससे जिससे पेट संबंधित रोग होने की संभावना रहती है. अगर इन मिठाइयों को खाने से आपको किसी तरह की समस्‍या लगे तो डॉक्‍टर से संपर्क करें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Health, Lifestyle, Raksha Bandhan 2021, Rakshabandhan festival

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर