होम /न्यूज /जीवन शैली /

सब्जियों और दालों में घी का तड़का लगाना चाहिए या नहीं? जानिए क्या कहते हैं न्यूट्रिशनिस्ट

सब्जियों और दालों में घी का तड़का लगाना चाहिए या नहीं? जानिए क्या कहते हैं न्यूट्रिशनिस्ट

घरों में आमतौर पर घी का तड़का लगाया जाता है. Image - Canva

घरों में आमतौर पर घी का तड़का लगाया जाता है. Image - Canva

हमारे यहां खाने में पारंपरिक तौर पर घी का इस्तेमाल किया जाता है. सब्जी बनाने से लेकर दाल में तड़का लगाने तक सभी में घी का प्रयोग किया जाता है. लेकिन ये सेहत के लिहाज से कितना सही है, इसे लेकर गट हेल्थ एक्सपर्ट और न्यूट्रिशनिस्ट अवंती देशपांडे ने इंस्टाग्राम पर अपना एक वीडियो पोस्ट किया है..

अधिक पढ़ें ...

सेहतमंद रहने के लिए घी खाने की आदत हमें बड़े बुजुर्गों से ही मिली है. कई भारतीय घरों में सब्जियां और दाल बिना घी के नहीं बनती है. घी को सीधे शारीरिक मजबूती से जोड़कर देखा जाता है. घी हमारे शरीर की सेहत को दुरुस्त करने में लाभकारी होता है ये बात भी सही है लेकिन क्या आप जानते हैं कि सब्जियों को बनाने या फिर दाल में तड़का लगाने के लिए घी को गरम करने के बाद किया गया इस्तेमाल उसके गुणों को कम कर देता है.

गट हेल्थ एक्सपर्ट और न्यूट्रिशनिस्ट अवंती देशपांडे ने हाल ही में इंस्टाग्राम पर एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें उन्होंने सब्जियों और दाल में तड़का लगाने के लिए घी इस्तेमाल ना करने की सलाह भी दी है. उन्होंने तड़के लिए घी के बजाय तेल का इस्तेमाल करने की एडवाइज भी दी है.

इसे भी पढ़ें: इन लक्षणों के नजर आने पर हो सकता है डेंगू, जानें बचाव के उपाय

इंस्टाग्राम पोस्ट में कही ये बात
सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम पर वीडियो शेयर करते हुए न्यूट्रिशनिस्ट अवंती देशपांडे कहती हैं कि ‘मैं देखती हूं कि कई लोग सब्जी बनाने के दौरान तड़का लगाने के लिए घी का इस्तेमाल करते हैं. न्यूट्रीशनिस्ट होने के नाते, मैं महसूस करती हूं कि ये एडवाइजेबल नहीं है. घी एक सैचुरेटेड फैट होता है. इसका मतलब है कि तेल के मुकाबले में घी का स्मोक पाइंट कम होता है. जब भी सब्जी बनाते हुए या दाल में तड़का लगाते हुए घी को गर्म किया जाता है तो तापमान तय सीमा से ज्यादा हो जाता है, इसके चलते फैटी एसिड सेचुरेटेड हो जाता है और ये डिसइंटीग्रेटेड हो जाता है जिससे इसकी न्यूट्रीशनल क्वालिटी में कमी आ जाती है.’

अवंती आगे कहती हैं कि ‘घी को खाने का सही तरीका है कि इसे रोटी में लगाकर खाया जाए, चावल या दाल में ऊपर से डालकर खाया जाए.’ सब्जी बनाने या तड़के के लिए घी के बजाय अवंती उन कुकिंग आयल का इस्तेमाल करने की सलाह भी देती हैं जिनका स्मोक पाइंट ज्यादा हो जैसे मूंगफली तेल, सूरजमूखी तेल, सफोला तेल आदि.

इसे भी पढ़ें: क्या आम खाने से वजन होता है कम? जानें एक दिन में कितना आम खाना सेहत के लिए है हेल्दी

बता दें कि सेहत के लिहाज से गाय का घी सबसे अच्छा माना जाता है, वहीं घरों  में भैंस का घी भी काफी इस्तेमाल किया जाता है. अगर घी को सही तरीके से सही मात्रा में खाया जाए तो ये हमारे लिए काफी लाभकारी हो सकता है.

Tags: Health, Lifestyle

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर