• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • अपने सोडियम लेवल को लेकर हैं अगर परेशान, ये 4 तरह के नमक करेंगे मदद

अपने सोडियम लेवल को लेकर हैं अगर परेशान, ये 4 तरह के नमक करेंगे मदद

सोडियम लेवल कंट्रोल करने के लिए हेल्थ फ्रेंडली नमक खाएं-Image/pexels

सोडियम लेवल कंट्रोल करने के लिए हेल्थ फ्रेंडली नमक खाएं-Image/pexels

Health Friendly Salt: ये 4 तरह के नमक (Salt) शरीर में सोडियम (Sodium) के लेवल को कंट्रोल में रखते हैं. साथ ही किडनी को भी नुकसान नहीं पहुंचाते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    Health Friendly Salt: खाने में अगर नमक (Salt ) नहीं है तो खाना कितना भी स्वादिष्ट क्यों न हो फीका और बेस्वाद (Tasteless) ही लगता है. इतना ही नहीं नमक आयोडीन (Iodine) का एक स्रोत है. यह थायरॉयड ग्रंथि के कार्य को रेगुलेट करने में मदद करता है और शरीर में फ्लुइड को संतुलित करता है. लेकिन इसका मतलब ये भी नहीं है कि आप नमक का इस्तेमाल खाने में ज्यादा करने लगें. ऐसा करने से शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ सकती है. जिससे हाई ब्लड प्रेशर, किडनी और हृदय रोग होने का अंदेशआ बढ़ जाता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार एक दिन में 1.5 ग्राम से 2.3 ग्राम नमक खाना सुरक्षित है.

    अगर आप अपने सोडियम सेवन के बारे में चिंतित हैं, तो ये 4 तरह के नमक आपकी मदद कर सकते हैं. इनमें शामिल हैं समुद्री नमक, सेंधा नमक, हिमालयन पिंक सॉल्ट और हिमालयन ब्लैक सॉल्ट. ये नमक शरीर में सोडियम के लेवल को कंट्रोल में रखते हैं और किडनी को भी नुकसान नहीं पहुंचाते हैं. आइये जानते हैं इनके फायदों के बारे में.

    ये भी पढ़ें: खाने में नमक हो गया है ज्यादा? इन 5 तरीकों से करें कम

    समुद्री नमक

    समुद्री नमक खनिजों से भरपूर नमक की एक अनरिफाइंड किस्म है. ये वाष्पित समुद्री जल से प्राप्त होता है. ये नमक वजन घटाने में मदद करता है, इम्यूनिटी को बढ़ाता है और सामान्य सर्दी-ज़ुकाम से भी निजात दिलाने में मदद करता है. ये कई तरह के किस्मों में बाजार में उपलब्ध है. समुद्री नमक खाने के स्वाद को बढ़ाने का काम भी करता है.

    सेंधा नमक

    सेंधा नमक क्रिस्टल रेगुलर टेबल नमक का सबसे अच्छा विकल्प है. ये नमक ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने और पाचन क्रिया को दुरुस्त रखने में मदद करता है. साथ ही मेटाबोलिज्म को बढ़ाने का काम भी करता है. सेंधा नमक, खदानों और अंडरग्राउंड मिनरल डिपॉज़िट्स में पाया जाता है. ये नमक क्रिस्टल रेगुलर टेबल नमक का बेहतर ऑप्शन है.

    हिमालयन पिंक सॉल्ट

    हिमालयन पिंक सॉल्ट में 84 खनिज पाए जाते हैं. ये अपनी न्यूट्रिशनल वैल्यू की वजह से काफी फेमस है. इसके सेवन से शरीर के पीएच संतुलन को बनाए रखने में मदद मिलती है. इसके साथ ही ये बेहतर नींद लाने, ब्लड ग्लूकोज़ को कंट्रोल करने और बढ़ती उम्र के असर को कम करने में भी काफी अच्छी भूमिका निभाता है.

    ये भी पढ़ें: केवल व्रत में खाने के ही काम नहीं आता सेंधा नमक, इन चीजों के लिए भी है बेमिसाल

    हिमालयन ब्लैक सॉल्ट

    हिमालयन ब्लैक सॉल्ट को काला नमक के नाम से भी जाना जाता है. इसमें सोडियम की कम मात्रा होती है. ये पाचन क्रिया को बेहतर बनाने में मदद करता है. साथ ही आंखों की रोशनी में सुधार करने और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में भी ये काफी मदद करता है. इसको फ्रूट चाट, नींबू पानी और गोलगप्पे जैसी चीजों का स्वाद बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज