• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • HEALTH NEWS THESE 5 THINGS KEPT IN THE KITCHEN WILL MAKE YOU FEEL COOL IN THE SUMMER DIGESTION WILL REMAIN HEALTHY PUR

गर्मी में ठंडक का एहसास देंगी किचन में रखीं ये 5 चीजें, पाचन रहेगा दुरुस्‍त

इन मसालों से लगाएं गर्मी में ठंडक का तड़का. Image-shutterstock.com

आपकी रसोई (Kitchen) में ऐसी बहुत सी चीजें हैं जिन्हें डाइट (Diet) में शामिल कर आप ठंडक पा सकते हैं. इन मसालों (Spices) के बारे में आयुर्वेद में भी पुष्टि की गई है.

  • Share this:
    गर्मियों (Summer) में शरीर को ठंडा करने के लिए कुछ खास चीजों का सेवन जरूरी होता है. चिलचिलाती गर्मी में ठंडक पाने के लिए लोग कई तरह की चीजों का इस्तेमाल करते हैं. कोई स्वीमिंग पूल में नहाना पसंद करता है तो कोई बर्फीले पहाड़ों पर सैर करने निकल जाता है. हालांकि देशभर में कोरोना (Corona) को बढ़ते मामलों को देखते हुए इस वक्त ये कर पाना संभव नहीं है. ऐसे हालात में अगर आपको गर्मी सता रही है तो आपके किचन (Kitchen) में रखे कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताते हैं जिनके सेवन से आप घर बैठे ठंडक का एहसास ले सकते हैं. आमतौर पर लोग गर्मियों में में शरबत, लस्सी, रायता और ठंडा सलाद पसंद करते हैं और इन्हें नियमित रूप से अपनी डाइट में शामिल करते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि आपकी रसोई में ऐसी बहुत सी चीजें हैं जिन्हें डाइट में शामिल कर आप ठंडक पा सकते हैं. इन मसालों के बारे में आयुर्वेद में भी पुष्टि की गई है जिनके जरिए आप गर्मी में ठंडक का तड़का लगा सकते हैं. आइए जानते हैं इन खास चीजों के बारे में.

    हरा धनिया
    धनिए का इस्तेमाल वैसे तो हर मौसम में किया जाता है लेकिन क्या आपको पता है कि धनिया आपके पेट को स्वस्थ रखने के साथ साथ शरीर को ठंडा भी रखता है. घनिया न सिर्फ सब्जियों के स्वाद को मजेदार बनाता है बल्कि ये सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है. नींबू पानी में धनिया मिलाने से या फिर पुदीना के साथ धनिया मिलाकर बनाई गई चटनी का सेवन करने से इम्यूनिटी बूस्ट होती है. साथ ही इसकी पत्तियों के सेवन से शरीर से पसीने की बदबू भी दूर होती है. धनिया में मिश्री मिलाकर पीने से गर्मी से होने वाले सिर दर्द में राहत मिलती है.

    इसे भी पढ़ेंः कच्चा कटहल नहीं अब 'पका हुआ कटहल' बढ़ाएगा इम्यूनिटी, लीवर रखेगा स्वस्थ

    हरी इलायची
    कई लोग हरी इलायची का इस्तेमाल माउथ फ्रेशनर के रूप में करते हैं. इससे मुंह की दुर्गंध दूर हो जाती है. आपको बता दें कि इलायची में पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम जैसे खनिज पदार्थ पाए जाते हैं. इलायची में फाइबर भी बहुत अधिक मात्रा में होता है. इससे गर्मी में होने वाली एसिडिटी, सीने में जलन, एसिडिटी, कब्ज जैसी पेट की परेशानियों को दूर किया जा सकता है.

    पुदीना
    कोरोना काल में लोग इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए पुदीने का जमकर इस्तेमाल कर रहे हैं. आयुर्वेद में पुदीना को एक विशेष औषधि बताया गया है जिसका तमाम तरह की जड़ी बूटियों में इस्तेमाल किया जाता है. वहीं गर्मियों में लोग एसिडिटी, सीने में दर्द और बदहजमी जैसी समस्याओं को दूर करने के लिए पुदीने का सेवन करते हैं. पुदीने की तासीर ठंडी होती है इसलिए गर्मी के मौसम में यह पेट को ठंडा करने में मदद करता है. पुदीना वात, पित्त और कफ को शांत करने में मदद करता है. पुदीने का इस्तेमाल लेमन और गन्ने के रस में भी किया जाता है. पुदीने की चटनी भी मुंह का टेस्ट बदल देती है.

    हल्दी
    कोरोना काल में जमकर हल्दी वाले दूध का सेवन किया जा रहा है. हल्दी इम्यून सिस्टम को तेजी से मजबूत करती है. हल्दी एक ऐसी सामग्री है जिसे हर मौसम में व्यंजनों में शामिल किया जाता है. यह पारंपरिक देसी मसाला ढेर सारे औषधीय गुणों से भरपूर है. यह शरीर में दर्द और सूजन को कम करने के साथ-साथ लीवर को भी सही रखती है. साथ ही यह शरीर को ठंडा भी रखती है. हल्दी खून को भी साफ करती है और स्किन का ग्लो बढ़ाती है.

    इसे भी पढ़ेंः गर्मियों में जरूर पिएं पालक का जूस, मोटापे से मिलेगा छुटकारा

    सौंफ
    सौंफ का इस्तेमाल ज्यादातर लोग खाने के बाद माउथ फ्रेशनर के तौर पर करते हैं जिससे मुंह की दुर्गंध दूर हो जाती है. सौंफ विटामिन सी से समृद्ध है. सौंफ के सेवन से न सिर्फ आपको ठंडा फील होता है बल्कि यह गर्मी के कारण शरीर में होने वाली सूजन को भी मिटा देती है. इससे डाइजेस्टिव सिस्टम भी बढ़िया रहता है. यह शरीर को ठंडा करती है. सौंफ के बीज को रात भर पानी में भिगोएं और सुबह इसे छान लें. इसके बाद इस पानी में एक चुटकी चीनी, काला नमक, नींबू मिलाकर इसे पी लें. इससे शरीर को तुरंत ठंडक मिलती है. इसके अलावा गला खराब होने पर सौंफ, मिश्री व काली मिर्च समान मात्रा में चबाने पर गला साफ हो जाता है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
    Published by:Purnima Acharya
    First published: