होम /न्यूज /जीवन शैली /हड्डियों का कमज़ोर होना कहीं ऑस्टियोपोरोसिस तो नहीं? इस बीमारी के बारे में जानें

हड्डियों का कमज़ोर होना कहीं ऑस्टियोपोरोसिस तो नहीं? इस बीमारी के बारे में जानें

ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा कम किया सकता है अगर हड्डियों के स्वास्थ्य के बारे में हम सजग रहें (Image- Shutterstock.com)

ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा कम किया सकता है अगर हड्डियों के स्वास्थ्य के बारे में हम सजग रहें (Image- Shutterstock.com)

अगर हड्डियों के स्वास्थ्य के बारे में हम सजग रहें तो ऑस्टियोपोरोसिस से बचा जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    Bone health tips- ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis )एक बीमारी है जो कमजोर, पतली हड्डियों का कारण बनती है. कलाई, कूल्हे या रीढ़ की हड्डी में फ्रैक्चर इस समस्या का पहला संकेत हो सकता है. वैसे तो ऑस्टियोपोरोसिस का वास्तव में कोई स्पष्ट लक्षण (symptoms)नहीं है. ऑस्टियोपोरोसिस से बचा जा सकता है अगर हड्डियों के स्वास्थ्य के बारे में हम सजग रहें. यहां कुछ सुझाव हैं जिनसे मदद मिल सकती है.

    उम्र के साथ हड्डियां बदलती हैं

    किसी भी उम्र में ऑस्टियोपोरोसिस सकता है. ये ऐसी स्थिति है जो लो बोन मास का संकेत देती है. इन स्थितियों से प्रभावित लोगों का प्रतिशत उम्र के साथ बढ़ता जाता है.

    यह भी पढ़ें- अच्छी सेहत के लिए जरूरी है फाइबर रिच फूड, इसके 10 बड़े फायदे जानें

    शारीरिक बनावट भी है अहम

    महिलाओं की शारीरिक बनावट में स्वाभाविक रूप से पतली हड्डियां होती हैं. और उनको थोड़ी दिक्कत हो सकती है लेकिन सही स्वास्थ्य विकल्पों, चिकित्सा जांच और देखभाल से इसे दूर कर सकते हैं।

    आनुवांशिक दिक्कत से रहें सावधान

    हड्डियों से जुड़ी आनुवांशिक बीमारी भी मायने रखती है. माता-पिता का ऑस्टियोपोरोसिस या हड्डी के फ्रैक्चर का इतिहास होना आपके जोखिम को बढ़ाता है. ऐसे लोगों को अधिक सतर्क रहने की जरुरत है.

    सही हो सकती है स्थिति

    अगर आपको ऑस्टियोपोरोसिस या पतली हड्डी की दिक्कत है है, तो ऐसी कई चीजें हैं जो आप बीमारी की जटिलताओं को रोकने और कम करने में मदद के लिए कर सकते है. सही उपचार और जीवनशैली आपकी हड्डियों को अच्छे आकार में रखने में मदद कर सकती है.

    नियंत्रण में रखें सबकुछ

    हड्डियों से संबंधित कुछ दिक्कतों को आप रोक नहीं सकते हैं लेकिन इनको नियंत्रित कर सकते हैं – जैसे आपकी उम्र, पारिवारिक इतिहास आदि. ऐसी कई चीज़ें हैं जिन्हें आप नियंत्रित कर सकते हैं.  आप क्या खाते हैं वो कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर हो. व्यायाम हड्डी को स्वस्थ्य रखते हैं. धूम्रपान और बहुत अधिक शराब पीने से भी हड्डियां कमजोर हो सकती हैं. इनसे परहेज करें.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Health, Lifestyle

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें