कोरोना से बचने के लिए इस्तेमाल हो रहे इस तरीके के हो सकते हैं गंभीर परिणाम

लगातार स्टीम लेने से टार्किया, फैरिंक्स जल सकते हैं (credit: shutterstock/Nancy Beijersbergen)

लगातार स्टीम लेने से टार्किया, फैरिंक्स जल सकते हैं (credit: shutterstock/Nancy Beijersbergen)

Consequences of taking steam are serious: कोरोना से बचने के लिए इस्तेमाल किये जा रहे स्टीम लेने के तरीके (Ways to take steam) से, कोरोना वायरस से बचाव हो, इसके साक्ष्य नहीं हैं, लेकिन इसके विपरीत स्टीम लेने के परिणाम गंभीर हो सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2021, 3:36 PM IST
  • Share this:
कोरोना से बचने के लिए लोग तरह-तरह के तरीके (Different ways to avoid corona) आजमा रहे हैं. जो कोरोना पॉज़िटिव हैं वो ठीक होने के लिए और जो पॉज़िटिव नहीं हैं वो कोरोना वायरस से बचने के लिए कई तरह की चीज़ें इस्तेमाल कर रहे हैं. इनमें से एक तरीका है स्टीम इनहेलेशन (One way is steam inhalation) यानी भाप लेना. बहुत सारे लोग दिन में कई-कई बार इसका सहारा ले रहे हैं. इतना ही नहीं कई हॉस्पिटल में कोरोना मरीज़ों के इलाज के दौरान ये तरीका अपनाया जाता रहा है. लेकिन कोरोना से बचाव के इस तथाकथित तरीके (So-called way of protecting against corona) पर एक विडियो ने सवाल खड़े कर दिए हैं. इस वीडियो में कहा गया है कि भाप लेने से कोरोना ठीक होगा ये नहीं कहा जा सकता है लेकिन स्टीम इनहेलेशन का ये तरीका आपको गंभीर रूप से बीमार ज़रूर कर सकता है. आइये जानते हैं इसके बारे में.

ये भी पढ़ें: क्या आप सही तरह से इस्तेमाल कर रहे हैं सैनिटाइजर?



'यूनिसेफ इंडिया' ने अपने ट्विटर हैंडल पर अपलोड किया है वीडियो 

 

Youtube Video


स्टीम लेने के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं ये जाने बिना, इसका लगातार और कई बार इस्तेमाल करने वालों को, सचेत करने के लिए 'यूनिसेफ इंडिया' ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो में पॉल रटर, जो यूनिसेफ साउथ एशिया के रीज़नल एडवाइजर एंड चाइल्ड हेल्थ एक्सपर्ट हैं, ने बताया है कि स्टीम से कोविड-19 को खत्म किया जा सकता है इसके कोई साक्ष्य मौजूद नहीं हैं.



ये भी पढ़ें: गर्भ में पल रहे बच्चे को कोरोना वायरस से है कितना खतरा, जानें





स्टीम लेने से मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

इस वीडियो में यूनिसेफ साउथ एशिया के रीज़नल एडवाइजर एंड चाइल्ड हेल्थ एक्सपर्ट पॉल रटर ने ये भी बताया है कि वायरस से बचने के लिए स्टीम लेने का रिजल्ट काफी खराब हो सकता है. लगातार स्टीम लेने से गले और फेफड़े के बीच की नली में टार्किया और फैरिंक्स जल सकते हैं या गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हो सकते हैं. जिसकी वजह से व्यक्ति को सांस लेने में ज्यादा दिक्कत हो सकती है और वायरस भी बहुत आसानी के साथ आपकी बॉडी में प्रवेश कर सकता है.  यानी इस वीडियो के अनुसार कोरोना के इलाज के तौर पर स्टीम लेने का सुझाव विश्व स्वास्थ्य संगठन नहीं देता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज