Home /News /lifestyle /

health news to stay healthy it is not enough just to eat must understand science of food nav

हेल्दी रहने के लिए सिर्फ खाना ही काफी नहीं, 'भोजन का विज्ञान' समझना भी है जरूरी

दिन के किस समय क्या खाना हमारी सेहत के लिए फायदेमंद रहता है, जानिए न्यूट्रिशनिस्ट दिव्या गांधी से.

दिन के किस समय क्या खाना हमारी सेहत के लिए फायदेमंद रहता है, जानिए न्यूट्रिशनिस्ट दिव्या गांधी से.

शरीर के लिए फल और सब्जियां सबसे बेस्ट मानी जाती हैं, लेकिन अगर इन्हें सही समय पर लिया जाए तो ही ये शरीर के लिए ज्यादा फायदेमंद साबित होती हैं. वहीं, गलत टाइम पर इनके सेवन से सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकती हैं. सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट दिव्या गांधी से हमने जाना दिन के किस समय क्या खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है.

अधिक पढ़ें ...

Right Time to Eat: एक दिन में 24 घंटे होते हैं और इन 24 घंटों के दौरान हमारा शरीर अलग-अलग अवस्थाओं में होता है. हमारी बॉडी अलग-अलग टाइम पर अलग-अलग हार्मोन्स रिलीज करती है, जिसका असर हमारे शरीर, दिमाग से लेकर हमारे मेटाबॉलिज्म पर पड़ता है. इसी से हमारी एक्टिविटी भी प्रभावित होती है. वैसे तो बॉडी के लिए फल और सब्जियां सबसे बेस्ट मानी जाती हैं, लेकिन अगर इन्हें सही समय पर लिया जाए तो ये शरीर के लिए ज्यादा फायदेमंद साबित होती हैं. वहीं, गलत टाइम पर लेने से ये चीजें हेल्थ के लिए नुकसानदायक भी हो सकती हैं. फिजियोलॉजी यानी शरीर विज्ञान के मुताबिक, सुबह लगभग 8 बजे से हमारी आंतों (Gut) का मूवमेंट शुरू हो जाता है और रात लगभग 10 बजे तक ये एक्टिव रहती हैं. इसके बाद ये मूवमेंट कमजोर होने लगता है.

सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट दिव्या गांधी (Nutritionist Divya Gandhi) से हमने जाना कि दिन के किस समय क्या खाना हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होता है. आप भी जानिए कब क्या खाएं.

सुबह पानी पीना क्यों है जरूरी
आमतौर पर सुबह उठकर लोगों को टूथब्रश करने की आदत होती है, जो कि दांतों की सेहत के लिए अच्छी प्रैक्टिस है. लेकिन, अगर हम सुबह-सुबह बिना ब्रश किए एक या दो गिलास पानी पीते हैं, तो ये हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है. सुबह उठने के बाद हमारे मुंह में जो सलाइवा (लार) होता है, इसमें गुड बैक्टीरिया होते हैं, जो हमारे गट यानी आंतों की सेहत के लिए बहुत हेल्दी होता है. पानी पीने से ये सलाइवा (लार) हमारे पेट में जाता है, जिससे हमारा मेटाबॉलिज्म भी बूस्ट होता है और जिन लोगों को एसिडिटी या कब्ज की समस्या रहती है, वो भी ठीक हो जाती है. ये एक नेचुरल बैक्टीरिया होता है, जिससे हमारी बॉडी की इम्यूनिटी भी बढ़ती है.

यह भी पढ़ें-
दुबले-पतले हैं तो वजन बढ़ाने के लिए रोज पिएं ये 5 फ्रूट ड्रिंक्स, सेहत से जुड़ी कई समस्‍याएं भी रहेंगी दूर

फलों से करें दिन की शुरुआत
सुबह 5 बजे से लेर दोपहर 12 बजे तक शरीर की अलर्टनेस तेज रहती है. नींद लाने वाले हार्मोन मेलाटोनिन का स्राव बंद हो चुका होता है. ऐसे में फल, हर्ब्स (जड़ी-बूटियां) और पानी का यूज इस दौरान अधिक करना चाहिए. इससे दिनभर ताजगी बनी रहती है. शरीर एनर्जेटिक रहता है.

सब्जियों का टाइम दोपहर में 
बॉडी का कोऑर्डिनेशन दोपहर 2 बजे के आसपास सबसे अच्छा होता है, जबकि रिएक्शन टाइम 3 से 4 के बीच सर्वाधिक होता है. ऐसे में 12 से 3 बजे के बीच सब्जियां खाना बेस्ट रहता है. इस टाइम आपको डाइट में सब्जियां लेनी चाहिए. ये सेल्स के हुए डैमेज की भरपाई करती हैं. शरीर में मिनरल्स का अवशोषण तेजी से होता है.

यह भी पढ़ें-
मलेरिया होने पर मरीज को क्या खिलाएं और क्या नहीं, पढ़ें यहां

रात में कम से कम लें सॉलिड फूड
शाम 5 बजे हार्ट की क्षमता सर्वाधिक होती है. जबकि 7 बजे शरीर का टेम्प्रेचर टॉप पर होता है. रात 9 बजे नींद लाने वाला हार्मोन मेलाटोनिन का डिस्चार्ज शुरू हो जाता है. ऐसे में दोपहर 3 बजे से रात 8 बजे तक सॉलिड फूड लिया जा सकता है. लेकिन रात 8 बजे के बाद सॉलिड फूड लेने से बचें.

गर्मियों में खाने से जुड़ी ये तीन अहम बातें

– सुबह खाली पेट केला खाना सेहत के लिए फायदेमंद नहीं होता है, क्योंकि केल में पोटैशियम और मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में होता है. इसे खाने से ब्लड में दोनों ही तत्वों की मात्रा बढ़ने लगती है, जिससे दिल को नुकसान पहुंचाने की आशंका बढ़ती है.

– दही तो हमेशा से ही सेहत के फादेमंद बताया गया है ये एक प्रोबायोटिक फूड है. ये आंतों में अच्छे बैक्टीरिया की मात्रा बढ़ाता है. ये बैक्टीरिया खाना पचाने में मदद करते हैं. इसमें विटामिन बी-12 और लैक्टोबेसिल होते हैं, जो गुड बैक्टीरिया की मात्रा बढ़ाते हैं. ये सब मिलकर आपको हल्का महसूस कराते हैं.

– रात में तरबूज ना खाएं, क्योंकि तरबूज में 95% पानी होता है. रात में इसे खाने से ओवर हाईड्रेशन की समस्या हो सकती है. यदि ये बढ़ा हुआ पानी बाहर नहीं निकले, तो किडनी को नुकसान पहुंच सकता है. जिससे पैरों में सूजन की समस्या हो सकती है.

Tags: Health, Health News, Lifestyle

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर