Home /News /lifestyle /

health news vegan diet weight loss its benefits food sources in hindi ans

क्या वीगन डाइट से वजन होता है कम? जानें इसके सेहत पर होने वाले फायदे, फूड सोर्स

यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो वीगन डाइट को अपना सकते हैं.

यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो वीगन डाइट को अपना सकते हैं.

Weight Loss Diet: यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो वीगन डाइट को अपनाकर देखें. वीगन डाइट पूरी तरह से प्लांट-बेस्ड डाइट होती है, जो वजन कम करने के साथ ही कई रोगों से भी बचाए रखने में मदद करती है.

Vegan Diet Health Benefits: आपने वजन कम करने या फिर स्वस्थ रहने के लिए कई तरह की डाइट को फॉलो किया होगा, पर क्या कभी वीगन डाइट को अपनाया है. दरअसल, वीगन डाइट एक ऐसी डाइट है, जिसमें मांस-मछली या इनसे बने फूड प्रोडक्ट्स को शामिल नहीं किया जाता है. वीगन डाइट पूरी तरह से प्लांट-बेस्ड डाइट होती है. इसे सही तरीके से फॉलो किया जाए, तो यह सेहत को कई तरह से लाभ पहुंचाती है, क्योंकि इसमें ढेरों पोषक तत्व मौजूद होते हैं. यह कई तरह की गंभीर बीमारियों के होने के जोखिम को कम करती है, साथ ही वजन घटाने में भी मदद करती है. आज अधिकतर बॉलीवुड सेलिब्रिटीज वीगन डाइट को धीरे-धीरे अपना रहे हैं, ताकि पर्यावरण, जानवरों के अस्तित्व को बचाया जा सके. आइए जानते हैं, क्या होते हैं वीगन डाइट के फायदे.

इसे भी पढ़ें: फिट रहने के लिए वीगन डाइट हो रही फॉलो, जानें इसके फायदे-नुकसान

क्या है वीगन डाइट
मेडिकलन्यूजटुडे में छपी एक खबर के अनुसार, शाकाहारी भोजन में ढेरों पोषक तत्व होते हैं और सैचुरेटेड फैट्स बेहद कम. शोध के अनुसार, वीगन डाइट हृदय स्वास्थ्य के लिए बेहतर होती है. कैंसर, टाइप-2 डायबिटीज के जोखिम को कम कर सकती है. हालांकि, किसी भी डाइट को फॉलो करने से पहले एक्सपर्ट से सलाह जरूर लेनी चाहिए, ताकि आपको इसका भरपूर लाभ मिल सके. वीगन डाइट में सिर्फ पौधों से युक्त खाद्य पदार्थ (प्लांट बेस्ड फूड्स) ही खाया जाता है. इस आहार को फॉलो करने वाले मांस-मछली, अंडा, डेयरी, पशु उत्पादों का सेवन नहीं करते हैं. आजकल अधिकतर लोग शाकाहारी होना पसंद कर रहे हैं, ताकि लंबी उम्र तक स्वस्थ रह सकें. कुछ इसे पर्यावरणीय लाभों के लिए इसे अपनाते हैं.

वीगन डाइट में कौन से फूड्स खाए जाते हैं
वीगन लाइफस्टाइल को फॉलो करने वाले कुछ लोग साबुन, कपड़े या अन्य ऐसे प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से भी बचते हैं, जिनमें पशुओं के चमड़े, फर आदि का इस्तेमाल किया गया हो. इसमें मीट, डेयरी, अंडा, शहद आदि का सेवन बिल्कुल भी शामिल नहीं होता है. वीगन डाइट में भरपूर मात्रा में सब्जियां, फल, बींस, नट्स, बीज आदि शामिल होते हैं, जो सेहत को कई तरह से लाभ पहुंचाते हैं. इनमें विटामिंस, मिनरल्स, हेल्दी फैट्स, प्रोटीन आदि होते हैं. हालांकि, जो लोग इस डाइट को अपनाते हैं, उन्हें इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि आप जो भी खाएं उसमें प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन बी12, विटामिन डी, आयरन आदि मौजूद हों, क्योंकि ये सभी चीजें मांस-मछली में मौजूद होते हैं.

इसे भी पढ़ें: कम कैलोरी वाली डाइट का फायदा तभी जब टाइम पर लिया जाए – स्टडी

वीगन और वेजिटेरियन डाइट में फर्क
वेजिटेरियन डाइट फॉलो करने वाले लोग मीट का सेवन नहीं करते हैं जैसे मछली, चिकन, मटन आदि, लेकिन ये डेयरी प्रोडक्ट्स, अंडे का सेवन करते हैं. वहीं, वीगन डाइट में जानवरों से संबंधित किसी भी तरह के फूड्स, सामग्री का सेवन नहीं किया जाता है.

वीगन डाइट के फायदे

हार्ट के लिए वीगन डाइट है हेल्दी
दिल के लिए वीगन डाइट बहुत अच्छी होती है. प्लांट-बेस्ड फूड्स के अधिक सेवन और एनिमल फूड्स के कम सेवन से हार्ट डिजीज होने का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है. इससे शरीर में अतिरिक्त अनहेल्दी फैट्स, सैचुरेटेड फैट्स, कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता है. हाई कोलेस्ट्रॉल के कारण हार्ट डिजीज, स्ट्रोक होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है. वहीं, वीगन डाइट में फाइबर अधिक होता है, जो हार्ट हेल्थ के लिए हेल्दी होता है.

कैंसर के जोखिम को करे कम
वीगन डाइट के सेवन से कैंसर का जोखिम 15 प्रतिशत तक कम हो सकता है. ऐसा इसलिए, क्योंकि ये डाइट फाइबर, विटामिंस, फाइटोकेमिकल्स से भरपूर होता है, जो कैंसर से शरीर को सुरक्षा प्रदान करता है. रेड मीट कार्सिनोजेनिक होते हैं, जो संभवत: कोलोरेक्टल, प्रोस्टेट और पैन्क्रियाटिक कैंसर के होने के खतरे को बढ़ा सकता है.

टाइप 2 डायबिटीज का रिस्क करे कम
एक स्टडी के अनुसार, प्लांट बेस्ड डाइट का पालन करने से टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा कम हो सकता है. यदि आप फल, सब्जियां, साबुत अनाज, नट्स और फलियां सहित अन्य स्वस्थ पौधे-आधारित फूड्स का सेवन करेंगे, तो काफी हद तक डायबिटीज से बचाव हो सकेगा.

वीगन डाइट करे वजन कम
यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो वीगन डाइट को अपना सकते हैं. जो लोग वीगन डाइट फॉलो करते हैं, उनका बॉडी मास इंडेक्स दूसरी डाइट फॉलो करने वालों की तुलना में काफी कम होता है. कई एनिमल फूड्स में कैलोरी और फैट की मात्रा बहुत अधिक होती है, ऐसे में इनकी जगह आप कम कैलोरी युक्त प्लांट-बेस्ड फूड्स का सेवन करते हैं, तो वजन को कंट्रोल करना आसान हो सकता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर