क्‍या आप भी हैं स्‍ट्रेस ईटिंग डिसऑर्डर के शिकार? उबरने के लिए अपनाएं ये 6 उपाय

जब भी आपको नेगेटिव फीलिंग की वजह से फूड क्रेविंग हो तो आप हेल्‍दी डाइट ट्राई करें. Image-shutterstock.com

जब भी आपको नेगेटिव फीलिंग की वजह से फूड क्रेविंग हो तो आप हेल्‍दी डाइट ट्राई करें. Image-shutterstock.com

Stress Eating Disorder: स्ट्रेस ईटिंग (Stress Eating) कॉमन समस्‍या है जो हममें से ज्यादातर लोगों में होती है. स्‍ट्रेस या मूड ऑफ होते हीं खाने के लिए क्रेविंग (Food Craving) कई बार लोगों को गिल्‍टी फीलिंग का एहसास भी कराता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 5, 2021, 11:52 AM IST
  • Share this:
क्‍या आपने ऐसा महसूस किया है कि जब कभी आप तनाव (Stress) में होते हैं तो आपको फूड क्रेविंग (Food Cravings) जैसी फीलिंग्स आती है? अगर आपके साथ ऐसा होता है तो आप अकेले नहीं हैं. दरअसल इसे इमोशनल इटिंग या स्‍ट्रेस इटिंग डिसऑर्डर (Stress Eating Disorder) कहा जाता है. हेल्‍थ लाइन के मुताबिक, ऐसे लोग नकारात्‍मक भावनाओं से उबरने के लिए भोजन को माध्‍यम बनाते हैं. हालांकि इन लोगों में ऐसा करने के बाद गिल्‍टी फीलिंग भी आती है और वे खाने की इस आदत के लिए खुद को दोषी मानते हैं.इससे उबरने के लिए कुछ छोटी छोटी बातों को अपनाया जा सकता है. आइए जानते हैं इससे उबरने के कुछ खास उपाय.

1.फूड डायरी बनाएं

स्‍ट्रेस इटिंग से निपटने का सबसे पहला कदम यह होगा कि आप अपने लिए एक डायरी खरीदें और जो भी आप खाते पीते हैं उनका डिटेल डायरी में लिखें. आप यहां यह भी लिखें कि आपको भूख कब लगी और खाने के वक्‍त आप कैसा महसूस किए. इससे आपके भूख का सही पैटर्न पता चलेगा और आप इससे निजात पाने के लिए उपाय खोज पाएंगे.





इसे भी पढ़ें : तनाव से हैं परेशान तो अपनाएं ये 5 आयुर्वेदिक टिप्स, जरूर देखेंगे बदलाव




2.स्‍ट्रेस को रखें दूर

इस बात पर ध्‍यान दें कि आप किन बातों से स्‍ट्रेस में आते हैं. ऐसे में या तो उन बातों को इग्‍नोर करें या यह बात खुद को समझाएं कि स्‍ट्रेस लेने से कुछ भी फायदा नहीं बल्कि आपको अनावश्‍यक नुकसान हीं उठाना पड़ता है. इसके लिए आप योग, मेडिटेशन आदि का सहारा भी ले सकते हैं.

3.घर में जंक फूड न रखें

स्‍ट्रेस इंटिंग से उबरने के लिए यह एक जरूरी कदम है. आप अपने घर में उन जंक फूड्स और ड्रिंक्‍स को ना रखें जो अनहेल्‍दी हैं और जो आपके क्रेविंग को बढ़ावा देते हैं.

4.फिजिकल ऐक्टिविटीज़ करें

कुछ लोग ऐसा मानते हैं कि जब उनके साथ ऐसा सिचुएशन बनता है तो वे या तो लॉन्‍ग वॉक पर चले जाते हैं या एक्‍सरसाइज करते हैं. एक स्‍टडी के मुताबिक, कुछ ऐसे लोगों ने 8 सप्‍ताह तक खुद को योगा में इंगेज रखा और पाया कि वह एंजाइटी और डिप्रेशन से कम प्रभावित हुए और उनका फूड क्रेविंग भी कंट्रोल हुआ.

5.कुछ हेल्‍दी डाइट का करें इस्तेमाल

अगली बार जब भी आपको नेगेटिव फीलिंग की वजह से फूड क्रेविंग हो तो आप हेल्‍दी डाइट ट्राई करें. जैसे फ्रेश फ्रूट्स, सलाद, प्‍लेन पॉपकॉन, लो फैट- लो कैलोरी वाले फूड आदि.
इसे भी पढ़ें : 60 के बाद भी आप दिख सकते हैं चुस्‍त दुरुस्‍त, इन टिप्‍स को अपनाकर बने रहें यंग



6.छोटी छोटी चीजों का करें प्रयोग

स्‍नैक्‍स खाने का मन हो तो पूरा पैकेट लेने की बजाय उन्‍हें छोटे छोटे प्‍लेट्स में डालकर खाएं. ऐसा करने पर फूड क्रेविंग कंट्रोल होगा और पाएंगे कि आप पहले की तुलना में कम खा रहे हैं. जब भी भूख जैसी फीलिंग आए तो गहरी सांस लें और थोड़ा वेट करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज