मॉनसून में न खाएं हरी पत्तेदार सब्जियां, बन सकती हैं बीमारी का कारण

मॉनसून में नमी बढ जाती है जिससे पत्तेदार सब्जियों के पत्‍तों पर कीटाणू अपना घर बसा लेते हैं. Image Credit : shutterstock

What To Eat And Not Eat During Monsoon : बरसात (Monsoon) के मौसम में बीमारियों से दूर रहने के लिए जरूरी है कि हम अपने डाइट (Diet) पर विशेष ध्‍यान दें. आइए जानते हैं कि किन बातों का रखें ख्‍याल.

  • Share this:
    What To Eat And Not Eat During Monsoon : बरसात के मौसम (Rainy Weather) में बीमारियों की संभावना बढ़ जाती है और हमें विशेष खान पान (Food Habit) की हिदायत हर जगह से मिलती है. स्वास्थ्य (Health) की दृष्टि से इस मौसम को विशेषज्ञ बीमारियों के लिए काफी संवेदनशील माना जाता है. सूक्ष्म जीवों (Micro organism) के लिए यह मौसम अनुकूल होता है और आसानी से ये हमारे स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित कर सकते हैं. विशेषज्ञों का कहना है कि मानसून के मौसम में हेल्‍दी रहने के लिए अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को ठीक रखना बहुत जरूरी है और इसके लिए संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए. खास बात यह भी है कि हरी सब्जियों जैसे कई खाद्य पदार्थ हैं जिन्‍हें इस मौसम में खाने से मनाही कर दिया जाता है. तो आइए जानते हें कि मॉनसून में किन चीजों का सेवन करना चाहिए और किन चीजों को खाने से बचना चाहिए.

    हरी पत्तेदार सब्जियों को कहें ना

    जहां पूरे साल हरी पत्तेदार सब्जियों को खाने की सलाह दी जाती है वहीं बरसात में ऐसा करने से मना किया जाता है. आहार विशेषज्ञ मानते हैं कि इस मौसम में नमी बढ़ जाती है जिससे पत्तेदार सब्जियों के पत्‍तों पर कीटाणु अपना घर बसा लेते हैं और प्रजनन करते हैं. ऐसे में बरसात के मौसम में पालक, पत्ता गोभी और फूलगोभी जैसी सब्जियों को नहीं खाना चाहिए.



    इसे भी पढ़ें : ब्‍लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने में बहुत असरदार है एप्‍पल साइडर विनेगर, जानें इसके सेवन का तरीका और अन्‍य फायदे
     



    पानी उबाल कर पिएं

    बारिश के मौसम में पानी के दूषित होने का खतरा अधिक होता है. ऐसे अगर दूषित पानी का सेवन किया जाए तो पेट में इंफेक्शन, कालरा, डायरिया और टाइफाइड जैसे रोगों का खतरा बढ़ जाता है. इसलिए जहां तक हो सके पानी को उबालकर पिएं.

    तली चीजों से बचें

    बरसात के मौसम में आमतौर पर लोग पकौड़े और समोसे आदि खाना पसंद करते  हैं लेकिन इसकी वजह से आप बीमार हो सकते हैं. अगर आप बहुत अधिक तैलीय और मसालेदार खाना खाते हैं तो पेट फूलने या गैस का खतरा बढ़ जाता है. दरअसल बरसात के मौसम में मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है जिससे पेट के लिए भोजन से पोषक तत्वों को अवशोषित करना और डाइजेस्‍ट करना मुश्किल हो जाता है. ऐसे में जहां तक हो सके मानसून में हल्की चीजें खाएं.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.