होम /न्यूज /जीवन शैली /वजन कम करने के लिए क्या खाएं बेसन या सूजी? जानें दोनों के न्यूट्रिशनल वैल्यू, फायदे

वजन कम करने के लिए क्या खाएं बेसन या सूजी? जानें दोनों के न्यूट्रिशनल वैल्यू, फायदे

सूजी और बेसन किस तरह से वजन करते हैं कम.

सूजी और बेसन किस तरह से वजन करते हैं कम.

Suji or Besan for Weight Loss: वजन कम करने के लिए आप कई हेल्दी फूड्स का सेवन करते होंगे. आप डाइट में सूजी और बेसन को भी ...अधिक पढ़ें

Suji or Besan for Weight Loss: सूजी (Sooji) और बेसन (Besan) का सेवन अक्सर आप करते होंगे. ज्यादातर लोग इससे हलवा, ढोकला, चीला, उत्तपम, डोसा, लड्डू आदि बनाने के लिए करते हैं. ये दोनों ही बेहद हेल्दी खाद्य पदार्थ हैं. इनमें पोषक तत्वों का खजाना होता है. बेसन (Gram flour) काला चना को पीसकर बनता है, तो सूजी (Semolina) को बनाने के लिए गेहूं की ऊपर की परत को निकाल दिया जाता है. फिर उसे पीसा जाता है, जिससे गेहूं टुकड़े-टुकड़े हो जाते हैं. यही सूजी होती है. सूजी को रवा भी कहते हैं. इनके सेवन से सेहत को कई लाभ होते हैं. सूजी और बेसन खाने से वजन भी कम होता है, लेकिन हम ये जानेंगे कि दोनों में से किसे खाने से वजन (Semolina or Gram flour for weight loss) अधिक कम होता है.

टीओआई में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी कृषि विभाग (यूएसडीए) के अनुसार, 100 ग्राम सूजी में 360 कैलोरी होती है और इतनी ही मात्रा में बेसन में 387 कैलोरी होती है. ऐसे में सूजी और बेसन दोनों ही कैलोरी के मामले में वजन कंट्रोल करने के लिए आदर्श माने गए हैं. हाई कैलोरी वाले खाद्य पदार्थ कई कारणों से वजन घटाने के लिए फायदेमंद होते हैं. सबसे पहले, इनमें कैलोरी अधिक है. ये खाद्य पदार्थ एक व्यक्ति में स्नैकिंग की प्रवृत्ति को कम करते हैं. आमतौर पर, महिलाओं को प्रतिदिन 2000 और पुरुषों को 2500 कैलोरी का सेवन करना चाहिए.

सूजी में मौजूद पोषक तत्व

सूजी में कैल्शियम, प्रोटीन, मैग्नीशियम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, फॉस्फोरस, पोटैशियम, मैग्नीशियम, जिंक, सोडियम, थियामिन, कई तरह के विटामिंस, नियासिन आदि होते हैं. इसमें कैलोरी की मात्रा काफी कम होती है, जो वजन कम करने में मदद करती है.

इसे भी पढ़ें : Weight Loss Diet: वजन कम करने के लिए खाएं ये लो कैलोरी फूड्स, शरीर से चर्बी होगी गायब

बेसन में मौजूद पोषक तत्व

बेसन में फैट, एनर्जी, प्रोटीन, फाइबर, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, सोडियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम, कॉपर आदि आवश्यक पोषक तत्व होते हैं, जो शरीर के लिए बेहद जरूरी होते हैं.

सूजी के फायदे

सूजी में एंटी-ऑक्सीडेंट होता है, जो कई तरह के कैंसर से बचाता है. शरीर में खून की कमी (Semolina or Suji Benefits) नहीं होने देती है सूजी. प्रेग्नेंसी में महिलाओं को सूजी का सेवन करना चाहिए. इसके अलावा, शरीर में कोलेस्ट्रॉल बैलेंस को बनाती है, आयरन की कमी दूर करती है, रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करती है, डायबिटीज के जोखिम को कम करती है, शरीर में ऊर्जा का संचार करती है.

इसे भी पढ़ें : सूजी, मैदा और बेसन में कीड़ों को लगने से बचाने के लिए फॉलो करें टिप्स

वजन घटाने में सूजी के फायदे

यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो सूजी का सेवन कर सकते हैं. सूजी में फाइबर काफी अधिक मात्रा में मौजूद होता है. फाइबर शरीर से वजन (Suji for weight loss) कम करने के लिए एक आवश्यक पोषक तत्व है. फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से पेट देर तक भरा रहता है, जिससे आप जल्दी-जल्दी खाने से बचे रहते हैं.

बेसन के फायदे

बेसन के फायदे सौंदर्य से लेकर सेहत (Besan benefits) तक होते हैं. चेहरे की खूबसूरती को बनाए रखने के लिए बेसन का इस्तेमाल वर्षों से किया जा रहा है. यह सन टैन, दाग-धब्बे, मुंहासों की समस्या को दूर करता है. बेसन के सेवन से शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल में रहता है. आपके शरीर में खून की कमी नहीं होने देता है. स्वस्थ हड्डियों और हार्ट के लिए भी बेसन का सेवन करना जरूरी है. शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाता है बेसन, साथ ही हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखता है. कैंसर, मस्तिष्क, सूजन संबंधित रोगों के होने के जोखिम को करे कम.

वजन घटाने में बेसन के फायदे

एक शोध के अनुसार, बेसन के नियमित सेवन से शरीर में फैट जमा नहीं हो पाती है, जिससे वजन नहीं बढ़ता (Besan for weight loss) है. बेसन में फाइबर होता है, जो वेट कंट्रोल करने के लिए बेहद जरूरी पोषक तत्व है. साथ ही इसमें मौजूद कॉपर, पोटैशियम, आयरन, मैग्नीशियम वजन को बढ़ने नहीं देते हैं. बेसन पेट, आंतों और पाचन तंत्र को भी दुरुस्त रखता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें