Home /News /lifestyle /

मिडिल एज में महिलाओं में क्यों बढ़ता है बैली फैट? एक्सपर्ट से जानें इसे कम करने के टिप्स

मिडिल एज में महिलाओं में क्यों बढ़ता है बैली फैट? एक्सपर्ट से जानें इसे कम करने के टिप्स

अगर हफ्ते में तीन दिन भी 50 -70 मिनट वॉक की जाए तो बैली फैट कम होता है. (प्रतीकात्मक फोटो-shutterstock.com)

अगर हफ्ते में तीन दिन भी 50 -70 मिनट वॉक की जाए तो बैली फैट कम होता है. (प्रतीकात्मक फोटो-shutterstock.com)

Why does belly fat increase in women in middle age : अमेरिका की मिसौरी यूनिवर्सिटी (University of Missouri) में एसोसिएट प्रोफेसर विक्टोरिया विएरा-पॉटर (Victoria Vieira-Potter) के अनुसार 40 की उम्र के बाद महिलाओं में मीनोपॉज (Menopause) की शुरुआत होने लगती है. इससे एस्ट्रोजन जैसे हार्मोन्स के लेवल में होने वाले बदलावों के कारण शरीर का आकार बदलता है. इस दौरान मूड में बदलाव, अनियमित मासिक धर्म (irregular menstruation), नींद में परेशानी जैसी कई समस्याएं होती हैं. इसे प्री-मीनोपॉज (pre-menopause) कहते हैं. ये मुख्य रूप से 45 से 55 साल की उम्र तक चलता है.

अधिक पढ़ें ...

Why does belly fat increase in women in middle age : 40 की उम्र के बाद अक्सर महिलाओं में पेट और कमर के पास चर्बी बढ़ने लगती है, जिसे बैली फैट (Belly fat) कहा जाता है. जानकार इसके पीछे लाइफस्टाइल के साथ-साथ कुछ हार्मोनल चेंजेस को भी वजह मानते हैं. बैली फैट (Belly fat) कम करने के लिए लोग न जानें कितनी तरह के सप्लीमेंट्स और एक्सरसाइज (Excercise) की मदद लेते हैं. लेकिन ये चीजें कई बार बैली फैट कम करने में मददगार साबित नहीं भी होती हैं. ऐसे में आपके पैसे और मेहनत तो बेकार जाते ही हैं. साथ ही साइड इफेक्ट्स का खतरा (Risk) भी बना रहता है. दैनिक भास्कर अखबार ने न्यूयॉर्क टाइम्स के हवाले से छापी अपनी रिपोर्ट में एक्सपर्ट्स द्वारा बताए बैली फैट के कारण और इसे कम करने के कुछ टिप्स के बारे में लिखा है. अमेरिका की मिसौरी यूनिवर्सिटी (University of Missouri) में एसोसिएट प्रोफेसर विक्टोरिया विएरा-पॉटर (Victoria Vieira-Potter) के अनुसार 40 की उम्र के बाद महिलाओं में मीनोपॉज (Menopause) की शुरुआत होने लगती है. इससे एस्ट्रोजन जैसे हार्मोन्स के लेवल में होने वाले बदलावों के कारण शरीर का आकार बदलता है. इस दौरान मूड में बदलाव, अनियमित मासिक धर्म (irregular menstruation), नींद में परेशानी जैसी कई समस्याएं होती हैं. इसे प्री-मीनोपॉज (pre-menopause) कहते हैं. ये मुख्य रूप से 45 से 55 साल की उम्र तक चलता है.

कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी (University of California) के प्रोफेसर डॉ गेल ग्रेन्डेल (Gail Greendale) बताती हैं कि मीनोपॉजल ट्रांजिशन (Menopausal Transition) के पहले महिलाओं में बॉडी फैट जांघों और हिप्स पर इकट्ठा होता है, लेकिन मीनोपॉज के दौरान महिलाओं में फैट शरीर के बीच में यानी पेट और उसके आसपास एकत्रित होने लगता है.

यह भी पढ़ें-
वैज्ञानिकों ने ढूंढ निकाला घातक ब्लड कैंसर के इलाज का नया तरीका- स्टडी

बेली फैट को कम करते हैं ये दो उपाय

कैलोरी डेफिसिट के इस नियम से घटता है वजन
हार्वड इंस्टीट्यूट के अनुसार दिन भर जितनी कैलोरी लेते हैं उससे 500 कैलोरी ज्यादा खर्च करें. इसे हेल्दी कैलोरी डेफिसिट कहते हैं. इससे सप्ताह में लगभग आधा किलो वजन कम हो सकता है.

यह भी पढे़ं-
अगर आप कोविड पॉजिटिव हैं तो ओमिक्रोन या डेल्‍टा किस वेरिएंट से संक्रमित हैं? ऐसे जानें

सप्ताह में तीन दिन 50 से 70 मिनट वॉक जरूर करें
वेमएमडी के अनुसार, अगर हफ्ते में तीन दिन भी 50 -70 मिनट वॉक की जाए तो बैली फैट कम होता है. न सिर्फ स्किन के नीचे का फैट बल्कि एब्डॉमिनल कैविटी में छिपा फैट भी घटता है.

Tags: Health, Health News, Lifestyle, Women Health

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर