• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • PCOS में आसानी से कर सकती हैं कंसीव, जानें प्रजनन क्षमता बढ़ाने के तरीके

PCOS में आसानी से कर सकती हैं कंसीव, जानें प्रजनन क्षमता बढ़ाने के तरीके

पीसीओएस है तो अपने वजन का विशेष ध्यान रखें.

पीसीओएस है तो अपने वजन का विशेष ध्यान रखें.

PCOS And Fertility Tips: PCOS में डाइट ऐसी हो जिसमें प्रोटीन (Protein) ज्यादा और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होनी चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    PCOS And Fertility Tips: पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) एक हॉर्मोनल समस्या है. इसकी वजह से ओवरी में ढेर सारे सिस्ट बन जाते हैं जिसकी वजह से सामान्य तौर पर महिलाओं में अंडे(Egg) रिलीज नहीं हो पाते हैं. इसकी वजह से उनको गर्भधारण करने में दिक्कत होती है. पीसीओएस या पीसीओडी होने की वजह से महिलाओं के पीरियड्स भी समय पर नहीं आते और ऐसे में उनको गर्भधारण करने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. पीसीओएस होने की वजह से सिर्फ़ गर्भधारण में ही दिक्कत नहीं होती बल्कि अनचाहे बाल , मोटापा और एक्ने की भी समस्या होती है.

    जानें कैसे बढ़ाएं प्रजनन क्षमता

    कुछ बातों को ध्यान में रखकर और अपनी लाइफस्टाइल को सही करके पीसीओएस में भी आसानी से गर्भ धारण किया जा सकता है.  यहां हम कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं  जिनकी मदद से आप आसानी से प्रेग्नेंट हो सकती हैं.

    इसे भी पढ़ें: कमर की चर्बी नहीं घटती तो तेज दौड़ लगाकर करें फैट बर्न, जानें दौड़ने का सही तरीका

    वजन को करें नियंत्रित

    पीसीओएस है तो अपने वजन का विशेष ध्यान रखें क्योंकि ज्यादा वजन होने से शरीर में इन्फ्लेमेशन बढ़ जाता है. इससे एग रिलीज होने में दिक्कत होती है.

    इन प्राकृतिक तरीकों की लें मदद

    जिन महिलाओं को पीसीओएस समस्या है उनको अपनी सेहत पर विशेष ध्यान देना चाहिए. चाहे वह प्रेगनेंसी के पहले हो, प्रेगनेंसी के बाद हो या प्रेगनेंसी के दौरान. इसके साथ ही उनको दवाएं और सप्लीमेंट का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए ताकि वह आसानी से कंसीव कर सकें.

    इसे भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी में हो रही परेशानी की वजह एंड्रोमेट्रोयोसिस तो नहीं? 

    कैसा हो खानपान

    PCOS में डाइट ऐसी हो जिसमें प्रोटीन ज्यादा और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होनी चाहिए. इस तरह की डाइट से आपकी फर्टिलिटी  बढ़ जाती है. 

    एक्सरसाइज जरूर करें

    व्यायाम से इसके असर को कम किया जा सकता है और मोटापा भी कम होता है. जिससे आसानी से प्रेगनेंसी ठहर सकती है. साथ ही तनाव भी कम होगा.

    विटामिन और सप्लीमेंट

    पीसीएस के दौरान हो सकता है आपकी गायनोकोलॉजिस्ट आपको किसी तरह के विटामिन और सप्लीमेंट की सलाह दें. इस बात का विशेष ध्यान रखें कि उसे समय-समय पर लेते रहें और अपनी डॉक्टर के संपर्क में भी रहें.(Disclaimer:इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.) 

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज