होम /न्यूज /जीवन शैली /Yoga Tips: वर्क फ्रॉम होम कर रहे लोग फिट रहने के लिए करें ये 5 योगासन

Yoga Tips: वर्क फ्रॉम होम कर रहे लोग फिट रहने के लिए करें ये 5 योगासन

अगर आप घंटों कुर्सी पर बैठकर अपने कंप्यूटर को घूरते रहते हैं तो आपको निश्चित रूप से ज्यादा योग करने की जरूरत है.

अगर आप घंटों कुर्सी पर बैठकर अपने कंप्यूटर को घूरते रहते हैं तो आपको निश्चित रूप से ज्यादा योग करने की जरूरत है.

Yoga Tips For Work From Home: घर से काम करने की मौजूदा स्थिति में, अपने घर के ऑफिस स्पेस में योग का अभ्यास करना भी बहुत ...अधिक पढ़ें

Yoga Tips For Work From Home: पिछले कुछ समय से कोविड-19 (Covid-19) संकट के कारण कई लोग अपने घर से ऑफिस का काम (Work From Home) करने के लिए मजबूर हो गए हैं. जब आप घर से काम करते हैं, तो आपके मन में चिंता और तनाव (Stress) की स्थिति बढ़ती जाती है. वहीं वर्क फ्रॉम होम का मतलब है कि हमारे पास अपना ख्याल रखने के लिए ज्यादा समय नहीं होता है. अगर आप घंटों कुर्सी पर बैठकर अपने कंप्यूटर को घूरते रहते हैं तो आपको निश्चित रूप से ज्यादा योग करने की जरूरत है. जो लोग ऑफिस के काम में बहुत अधिक समय बिताते हैं, उन्हें पीठ और गर्दन की बड़ी समस्या होने लगती है. कर्मचारियों को आज के काम करने वाले वातावरण में कई मांगों का सामना करना पड़ता है, जो डिप्रेशन की बढ़ती दरों, कम उत्पादकता, बिगड़ते काम के प्रदर्शन और कम मनोबल में योगदान करते हैं.

ऑफिस के काम के तनाव को दूर करने के लिए वर्कप्लेस योग एक बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है. इंडिया डॉट कॉम की खबर के अनुसार घर से काम करने की मौजूदा स्थिति में, अपने घर के ऑफिस स्पेस में योग का अभ्यास करना भी बहुत जरूरी हो जाता है. वर्क फ्रॉम होम करने वाले लोगों के लिए यहां एक साधारण योग दिनचर्या बताई गई है जिसमें आपको केवल 15 मिनट का समय लगेगा. इन आसनों को बैठकर या काम के दौरान छोटे ब्रेक के दौरान किया जा सकता है. आइए जानते हैं कौन से हैं वो 5 खास योगासन.

यह भी पढ़ें – Yoga Session: शरीर को एक्टिव मोड में लाने के लिए करें ताड़ासन और सूर्य नमस्कार

नेक रोटेशन

लाभ- गर्दन की अकड़न को कम करता है.

-अपनी कुर्सी पर आराम की मुद्रा में सीधे बैठ जाएं.
-गर्दन को दाईं ओर घुमाते हुए गहरी सांस लें.
-अब धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए वापस सेंटर में आ जाएं.
-सांस भरते हुए बाईं ओर मुड़ें.
-सांस छोड़ते हुए वापस सेंटर में आ जाएं.

सर्कुलर नेक रोटेशन

लाभ- गर्दन की अकड़न को कम करता है.

-ठुड्डी को छाती की ओर गिराएं.
-आधा वृत्त बनाने के लिए घड़ी की विपरीत दिशा में घुमाएं.
-सेंटर में वापस आएं और आगे की ओर मुंह करें.
-इस क्रिया को दूसरी तरफ दोहराएं.

परिव्रत सुखासन

लाभ- पीठ और रीढ़ की हड्डी में लचीलापन बढ़ाता है. साथ ही गर्दन के तनाव को दूर करता है.

-साधारण क्रॉस-लेग स्थिति में बैठें.
-सांस भरते हुए बाएं हाथ को ऊपर उठाएं.
-सांस छोड़ते हुए बाएं हाथ को दाएं घुटने पर और दाएं हाथ को कूल्हे पर सहारा देने के लिए रखें.
-सांस लेते हुए आगे की ओर मुंह करके सेंटर में लौट आएं.
-इस क्रिया को दूसरी तरफ दोहराएं.

अर्ध उत्तानासन

लाभ- रीढ़ की हड्डी के लचीलेपन में सुधार करता है. पैर की मांसपेशियों को फैलाता है. संतुलन में सुधार करता है.

-पैरों को मिलाकर खड़े होकर सांस लें और बाजुओं को सिर के ऊपर उठाएं.
-सांस छोड़ते हुए कमर के बल झुकें, बाजुओं को सीधा फैलाएं.
-शरीर को 90 डिग्री का कोण बनाना चाहिए.
-इसी पोजीशन में थोड़ी देर रहें और सांस लेते रहें.

यह भी पढ़ें- Yoga Session: सुबह उठने के बाद बिस्तर पर भी कर सकते हैं ये 3 योगासन, जानें सही तरीका

मार्जारियासन

लाभ- रीढ़ की हड्डी के लचीलेपन के लिए अच्छा है. ब्लड सर्कुलेशन में सुधार करता है.

-एक कुर्सी पर सीधे बैठें, जिसमें पैर फर्श तक लगते हों.
-अपने हाथों को अपने घुटनों पर रखें.
-अपने सिर को पीछे की ओर झुकाते हुए सांस लें और अपनी रीढ़ की हड्डी को अंदर की ओर झुकाएं.
-कुछ सेकंड के लिए इस स्थिति में रहें.
-फिर अपने सिर को नीचे करते हुए, अपनी पीठ को बाहर की ओर झुकाएं.
-कुछ सेकंड के लिए इस स्थिति में रहें और फिर आराम करें.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle, Yoga

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें