Home /News /lifestyle /

health news yoga to control anxiety and stress benefits and hero tree and child pose method in hindi anjsh

Yoga to control anxiety: इन 3 योगासनों का रोज करें अभ्यास, नहीं होगी एंग्जायटी

Yoga to control anxiety: वृक्षासन करने से एंग्जायटी कम होती है.

Yoga to control anxiety: वृक्षासन करने से एंग्जायटी कम होती है.

Yoga to control anxiety: एंग्जायटी किसी को भी, किसी भी उम्र में किसी भी वजह से हो सकती है. वीरासन, बालासन और त्रिकोणासन के जरिए आप एंग्जायटी (Anxiety) को कम कर सकते हैं.

Yoga to control anxiety: आज कल की भागदौड़ भरी जिंदगी में स्ट्रेस (Stress) और एंग्जायटी (Anxiety) होना आम बात है. काम का प्रेशर, निजी जिंदगी में उथल-पुथल और भी कई कारणों से लोगों को एंग्जायटी की समस्या होने लगी है. इसकी वजह से मेंटल और फिजिकल हेल्थ, दोनों ही खराब हो सकती हैं. ये दिक्कत किसी को भी किसी भी उम्र में और किसी भी वजह से हो सकती है.

आपको बता दें कि हेल्थलाइन के मुताबिक योग करने से तनाव से मुक्ति मिलती है. आपको बता दें कि वीरासन, बालासन और त्रिकोणासन के जरिए आप एंग्जायटी (Anxiety) को कम कर सकते हैं. इन आसनों को करने के कई और फायदे भी हैं.

एंग्जायटी कम करने के लिए इन आसनों को करें (Yoga to control anxiety)

वीरासन (Hero Pose)
वीरासन करने से पंजे, टखने और घुटने मजबूत होते हैं. इसका अभ्यास करने से पाचन भी ठीक रहता है. इससे एंग्जायटी भी कम होती है.

यह भी पढ़ें- Yoga Session: सूर्य नमस्कार करने से मिलेगा ‘आरोग्य का वरदान’, सीखें सही तरीका
वीरासान करने के लिए योगा मैट बिछा कर घुटनों के बल बैठ जाएं इस आसन को करने के लिए जमीन पर घुटनों के बल बैठ जाएं. हाथों को घुटनों पर रख दें. हिप्स को एड़ियों के बीच में लाएं. अब अपने घुटनों के बीच की दूरी को कम कर दें. नाभि को अंदर की ओर खींचें. इस आसन को करने के लिए 5 मिनट के लिए कर सकते हैं. अब रिलैक्स करें. अगर आपको असहज महसूस करें तो हिप्स के नीचे तकिया या ब्लाॉक रख लें.

बालासन (Child’s pose)
बालासन को करने से बॉडी रिलैक्स होती है. इससे स्ट्रेस और एंग्जायटी भी कम होती है.

इस आसन को करने के लिए योगा मैट पर सबसे पहले वज्रासन में बैठ जाएं. अब सांस लेते हुए दोनों हाथों को अपने सिर के ऊपर ले जाएं. इसके बाद सांस छोड़ते हुए आगे की तरफ झुक जाएं. अब हथेलियों और माथे को जमीन पर टिकाएं. श्वास-प्रश्वास का ध्यान रखें.

यह भी पढ़ें- Yoga Session: कंधों को मजबूती देने के लिए करें तिर्यक ताड़ासन, जानें सही तरीका

वृक्षासन (Tree pose)
वृक्षासन करने से टखने मजबूत होते हैं. शरीर का संतुलन भी इसके अभ्यास से सही रहता है. साथ ही तनाव व एंग्जायटी भी कंट्रोल होती है.

इस आसन को करने के लिए सावधान की मुद्रा में खड़े हो जाएं. अब धीरे से सीधे पैर के घुटने को मोड़ते हुए पंजे को लेफ्ट पैर की जांघ पर रखें और इस पैर को सीधा रखें. सांस को होल्ड करें. दोनों हाथों को ऊपर की और ले जाएं.अब नमस्कार की मुद्रा बनाएं. इसके बाद पैर को नीचे लाते हुए श्वास छोड़ें.

Tags: Benefits of yoga, Health News, Lifestyle

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर