होम /न्यूज /जीवन शैली /स्टडी में खुलासा- Covid-19 का अगला वैरिएंट Omicron से भी ज्यादा हो सकता है खतरनाक

स्टडी में खुलासा- Covid-19 का अगला वैरिएंट Omicron से भी ज्यादा हो सकता है खतरनाक

कोविड का नया वैरिएंट ओमिक्रोन से ज्यादा खतरनाक होने की आशंका है.

कोविड का नया वैरिएंट ओमिक्रोन से ज्यादा खतरनाक होने की आशंका है.

Covid-19 New Variant: कोविड-19 का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. इसी बीच सामने आई एक स्टडी ने सभी की नींद उड़ा दी है. ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अफ्रीकी शोधकर्ताओं की लैब स्टडी में इस बात का पता चला है.
कोविड लगातार अपने वैरिएंट बदल रहा है, जो संक्रमण फैला रहे हैं.

New Study About Covid-19: पूरी दुनिया करीब 3 साल से कोविड-19 से जूझ रही है. पहले की अपेक्षा अब कोविड का प्रकोप कम हुआ है, लेकिन लगातार इसके नए वैरिएंट सामने आ रहे हैं, जो लोगों की टेंशन बढ़ा रहे हैं. अब एक नई स्टडी में खुलासा हुआ है कि कोविड-19 का अगला वैरिएंट ओमिक्रोन (Omicron) की अपेक्षा ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है. कोविड-19 केे ओमिक्रोन वैरिएंट ने भी बड़ी संख्या में लोगों को अपनी चपेट में ले लिया था और तमाम लोगों की जान चली गई थी. आइए जानते हैं कि नई स्टडी में कोविड-19 लेकर कौन सी बड़ी बातें सामने आई हैं.

नई स्टडी में सामने आई यह बातें

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक अफ्रीका में की गई एक स्टडी में पता चला है कि कोविड-19 का अगला वैरिएंट बेहद खतरनाक साबित हो सकता है. एक इम्यूनोसप्रेस्ड व्यक्ति के कोविड के नमूनों का उपयोग करते हुए यह लैब स्टडी की गई थी. इसमें पता चला है कि कोविड का अगला वैरिएंट वर्तमान में कहर बरपा रहे ओमिक्रॉन स्ट्रेन की तुलना में ज्यादा इंफेक्शन का कारण बन सकता है. यह स्टडी साउथ अफ्रीका के डरबन स्थित अफ्रीका हेल्थ रिसर्च इंस्टीट्यूट के शोधकर्ताओं ने की है. इसी इंस्टीट्यूट ने पिछले साल वैक्सीन का असर कमजोर करने वाले ओमिक्रॉन स्ट्रेन का सबसे पहले टेस्ट किया था.

यह भी पढ़ें- कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने के लिए इन बीजों का करें सेवन, जानें आसान तरीका

इम्यूनोसप्रेस्ड लोगों को ज्यादा खतरा

इस स्टडी के लीड शोधकर्ता एलेक्स सिगल का कहना है कि एचआईवी या अन्य गंभीर बीमारियों से जूझ रहे इम्यूनोसप्रेस्ड लोगों के लिए कोविड के सभी वैरिएंट ज्यादा खतरनाक हो सकते हैं. ऐसे लोगों को कोविड से उबरने में लंबा वक्त लगता है. वैज्ञानिकों ने पहले यह अनुमान लगाया था कि बीटा और ओमिक्रॉन जैसे वैरिएंट को शुरू में दक्षिणी अफ्रीका में पहचाना गया था. नई स्टडी की समीक्षा की जानी बाकी है, क्योंकि यह केवल एक व्यक्ति के सैंपल पर आधारित है. इस बारे में अभी ज्यादा रिसर्च करने की जरूरत है.

कई देशों में बढ़ रहे कोविड के मामले

पिछले कुछ सप्ताह में चीन समेत दुनिया के कई देशों में कोविड-19 संक्रमण के मामलों में तेजी से उछाल देखने को मिला है. यहां पर हालात तेजी से बिगड़ते जा रहे हैं और एक बार फिर कोविड-19 पैर पसारते हुए नजर आ रहा है. ऐसे में इस स्टडी में लोगों की टेंशन बढ़ा दी है. देखने वाली बात होगी कि कोविड का अगला स्ट्रेन कितना खतरनाक साबित होगा.

यह भी पढ़ें- क्या मूंगफली खाना डायबिटीज और कोलेस्ट्रॉल के मरीजों के लिए फायदेमंद? 

Tags: Coronavirus, Covid, Health, Lifestyle, Omicron

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें