vidhan sabha election 2017

फायदे तो बहुत हैं लेकिन नुकसान भी जानते हैं नॉनस्टिक बर्तनों के !

News18Hindi
Updated: December 8, 2017, 8:59 AM IST
फायदे तो बहुत हैं लेकिन नुकसान भी जानते हैं नॉनस्टिक बर्तनों के !
नॉनस्टिक के कई नुकसान भी हैं
News18Hindi
Updated: December 8, 2017, 8:59 AM IST
किचन जैसे-जैसे मॉड्युलर हो रहा है, यहां काम में आने वाले बर्तन भी नॉनस्टिक हो रहे हैं. इनमें खाना पकाना और बाद की सफाई भी आसान होती है. इसमें खाना बनाने में तेल भी कम लगता है. वहीं नॉनस्टिक के कई नुकसान भी हैं. हम आपके शेयर कर रहे हैं इन नुकसानों से बचाव के कुछ तरीके.

खरीदने के बाद नॉनस्टिक बर्तनों को कभी भी सीधे इस्तेमाल न करें. ये साफ तो दिखते हैं लेकिन इनकी केमिकल कोटिंग खाने के जरिए हमारे शरीर में पहुंच सकती है. इन्हें गर्म पानी से धो लें.

बर्तनों के साथ इस्तेमाल करने के लिए अलग से लकड़ी की कड़छी, चम्मच लें. स्टील के चम्मच से चलाने पर इनकी ऊपरी परत निकल जाती है और हानिकारक तत्व सीधे हमारे पेट में पहुंचते हैं.

बर्तनों की कोटिंग की देखभाल सबसे जरूरी है. इनमें खाना पकाने के बाद बर्तन सिंक में डालने की बजाए हाथोंहाथ धोकर रख दें. इससे वे लंबे समय तक टिके रहते हैं.

बर्तनों के साथ काम में आने वाले लकड़ी के चम्मच-कड़छी को पानी में भिगोकर न छोड़ें. इससे वे जल्दी खराब हो जाते हैं. इन्हें भी साथ के साथ धोकर रख दें.

कई बार खाना पकाने के दौरान बर्तन में कुछ चिपक जाता है. इन्हें किसी स्टील की चीज से घिसकर न छुड़ाएं, इससे नॉनस्टिक तुरंत खराब हो सकता है.

नॉ़नस्टिक बर्तनों की एक उम्र होती है. अगर उनकी कोटिंग निकल गई हो तो उन्हें तुरंत नए बर्तनों से बदल डालें. पुराने, घिसे हुए बर्तनों में कुकिंग फायदे की बजाए नुकसान करती है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर