होम /न्यूज /जीवन शैली /इस तरह चुपके से आता है साइलेंट हार्ट अटैक, बिना नुकसान वाले इन लक्षणों को जानना जरूरी

इस तरह चुपके से आता है साइलेंट हार्ट अटैक, बिना नुकसान वाले इन लक्षणों को जानना जरूरी

छोटी-छोटी परेशानी हार्ट अटैक का संकेत हो सकती है. Image: Shutterstock

छोटी-छोटी परेशानी हार्ट अटैक का संकेत हो सकती है. Image: Shutterstock

Symptoms of heart attack: बॉडी में कुछ असहजता या दर्द भविष्य में हार्ट अटैक के संकेत हो सकते हैं. इन संकेतों को आमतौर प ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

कंधे और पेट में परेशानी होना भी साइलेंट हार्ट अटैक की चेतावनी का संकेत हो सकता है
कुछ कदम चलने के बाद मैराथन दौड़ जैसा महसूस हो तो सतर्क हो जाना चाहिए

Silent heart attack symptoms: हाल के दिनों में कई सेलीब्रेटियों की मौत अचानक हार्ट अटैक के कारण हुई है. इससे देश के लोगों में चिंता हो गई है क्योंकि यह कम उम्र के लोगों में भी होने लगा है. जैसा कि नाम से यह पता चल जाता है कि साइलेंट हार्ट अटैक में पहले से बहुत कुछ पता नहीं चलता. इससे पहले ऐसे लक्षण दिखाई देते हैं जो बहुत मामूली होते हैं और इनसे कोई खास नुकसान नहीं होता लेकिन इन लक्षणों में भविष्य में होने वाले हार्ट अटैक का संकेत छुपा हो सकता है. इसलिए बिना नुकसान पहुंचाने वाले इन लक्षणों के बारे में जानना जरूरी है. इन छोटे-छोटे संकेतों पर ध्यान नहीं दिया गया तो यह लगातार बढ़ता जाएगा और एक दिन हार्ट अटैक के रूप में सामने आएगा.

हार्ट अटैक यानी दिल का दौरा तब आता है, जब हार्ट में खून को फ्लो कम हो जाता या रूक जाता है. ऐसा तब होता है जब कोरोनरी धमनियों में वसा और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने लगती है और वे धमनियों में खून को जाने से रोकते हैं. हार्ट अटैक मौत का एक गंभीर कारण भी बन सकता है. अगर आपको हार्ट अटैक का कोई सामान्य लक्षण भी महसूस हो, तो इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें. इसलिए इन खतरनाक संकेतों को समझकर ही साइलेंट हार्ट अटैक से बचा जा सकता है. तो आइए जानते हैं कि साइलेंट हार्ट अटैक के क्या लक्षण हैं-

इसे भी पढ़ें- मानसून में खुजली क्यों परेशान करती है, जानिए कारण और आसान इलाज

साइलेंट हार्ट अटैक के पूर्व संकेत

  • छाती में असहजता-छाती में दर्द होना या असहज होना या कंजेशन होना भविष्य में होने वाले हार्ट अटैक का सबसे आम संकेत है. हालांकि जैसे फिल्मों में दिखाया जाता वैसा नहीं होता. आमतौर पर मामूली दर्द या अहसजता होती है जिसे लोग नजरअंदाज कर देते हैं. साइलेंट हार्ट अटैक में, हार्ट बर्न या अपच जैसा भी महसूस हो सकता है, इसलिए लोग सोचते हैं कि यह गैस के कारण हुआ होगा. लेकिन अगर बार-बार ऐसा हो रहा है तो डॉक्टर से दिखाएं वरना इससे हार्ट अटैक भी हो सकता है.
  • शरीर के अन्य हिस्से में तकलीफ-आपकी छाती या पीठ के ऊपरी हिस्से में लगातार दर्द महसूस होना या शरीर के किसी अन्य क्षेत्र जैसे कंधे और पेट में परेशानी होना भी साइलेंट हार्ट अटैक की चेतावनी का संकेत हो सकता है.
  • सांस लेने में दिक्कत-कुछ कदम चलने के बाद आपको ऐसा महसूस नहीं होना चाहिए कि आपने मैराथन दौड़ लगाई है. सांस की तकलीफ का मतलब है कि आपका हार्ट अपना काम ठीक से नहीं कर रहा है. यदि थोड़ी सी मेहनत आपको बेदम कर रही है तो सतर्क हो जाएं.

  • अन्य लक्षण- ठंडा पसीना निकलना, मतली या उल्टी, हल्का सिरदर्द जैसे अन्य लक्षण भी हार्ट अटैक के संकेत हो सकते हैं. हालांकि इस तरह के लक्षण फ्लू जैसी कम गंभीर बीमारियों में भी दिखाई दे सकते हैं. ऐसे में इन लक्षणों के आने पर डॉक्टर के पास जाना ही बेहतर रहेगा. एक बार जांच होने के बाद यह पता चल सकेगा कि ये हार्ट अटैक के लक्षण हैं या किसी अन्य वजहों ये लक्षण दिख रहे हैं.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें