Home /News /lifestyle /

कोरोना से उबर चुके लोगों में बाल झड़ने की समस्‍या, इस पैथी से इलाज करा रहे लोग

कोरोना से उबर चुके लोगों में बाल झड़ने की समस्‍या, इस पैथी से इलाज करा रहे लोग

कोरोना के बाद बाल झड़ने की समस्‍या पैदा हो गई है.  (प्रतीकात्मक फोटो- shutterstock)

कोरोना के बाद बाल झड़ने की समस्‍या पैदा हो गई है. (प्रतीकात्मक फोटो- shutterstock)

कोरोना की पहली और दूसरी लहर में जो लोग इस बीमारी की चपेट में आए हैं अब इससे उबरने के बाद अधिकांश लोगों को बाल झड़ने की समस्‍या पैदा हो गई है. अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्‍थान के मेडिकल सुप्रिटेंडेंट डॉ. राजगोपाला एस ने बताया कि कोरोना के बाद से अचानक बाल गिरने की समस्‍या से जूझने वाले मरीजों की संख्‍या बढ़ी है. 10 में से करीब 7 लोगों में यह बीमारी पाई जा रही है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. कोरोना महामारी (Corona Pandemic) की चपेट में आए लोग इससे उबर तो गए लेकिन इसका असर अभी भी लोगों को परेशान कर रहा है. कोरोना के पोस्‍ट इफैक्‍ट के रूप में कई गंभीर बीमारियां लोगों में लगातार सामने आ रही हैं. जिनमें शरीर के अंगों पर खराब प्रभाव पड़ा है. वहीं पहले ही वायु प्रदूषण (Air Pollution), गड़बड़ खानपान और तनाव भरी जिंदगी की वजह से बाल संबंधी समस्‍याएं झेल रहे लोगों के लिए कोरोना अभिशाप बनकर सामने आया है.

    कोरोना की पहली और दूसरी लहर में जो लोग इस बीमारी की चपेट में आए हैं अब इससे उबरने के बाद अधिकांश लोगों को बाल झड़ने की समस्‍या पैदा हो गई है. अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्‍थान (All India Institute of Ayurveda) के मेडिकल सुप्रिटेंडेंट डॉ. राजगोपाला एस ने बताया कि कोरोना के बाद से अचानक बाल गिरने की समस्‍या से जूझने वाले मरीजों की संख्‍या बढ़ी है. 10 में से करीब 7 लोगों में यह बीमारी पाई जा रही है.

    डॉ. राजगोपाला कहते हैं कि ऑल इंडिया इंस्‍टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद में कई महीनों से पोस्‍ट कोविड ओपीडी लगाई जा रही हैं. जिनमें कोरोना से उबर चुके लोगों को अगर कोई समस्‍या है तो वे आ सकते हैं. इन ओपीडी में रोजाना बड़ी संख्‍या में मरीज आ रहे हैं. वहीं इनमें बाल झड़ने या टूटकर गिरने, उड़ने या सफेद पड़ने की परेशानी वाले मरीज काफी ज्‍यादा हैं. खास बात है कि इस बीमारी के मरीज ऐलोपैथी या अन्‍य किसी पैथी में इलाज कराने के बजाय आयुर्वेद में सबसे ज्‍यादा आ रहे हैं. यहां तक कि कई अन्‍य आयुर्वेद सेंटर्स पर भी ऐसे मरीजों के आने की सूचना मिल रही है.

    डॉ. कहते हैं कि कोरोना के कारण भारी तनाव, पोषणयुक्‍त भोजन में कमी, हार्मोनल बदलाव, विटामिन डी और बी 12 की कमी होना, विटामिन सी की मात्रा घटना आदि बालों के झड़ने के बेसिक कारण हो सकते हैं. हालांकि एआईआईए में आने वाले मरीजों को इलाज देने से पहले सभी की जांच की जा रही है और कारणों को लेकर भी जानकारी जुटाई जा रही है. ताकि कोविड के बाद हुए इस बदलाव के पीछे के विशिष्‍ट कारणों का पता लगाया जा सके.

    Tags: Ayurveda Doctors, Ayurvedic, COVID 19, Post Covid-19 Symptoms

    अगली ख़बर