होम /न्यूज /जीवन शैली /डार्क स्किन और बीयर पीने वालों को ज्यादा काटते हैं मच्छर ! स्टडी में सामने आईं अनोखी बातें

डार्क स्किन और बीयर पीने वालों को ज्यादा काटते हैं मच्छर ! स्टडी में सामने आईं अनोखी बातें

कुछ लोगों को मच्छर ज्यादा काटते हैं.

कुछ लोगों को मच्छर ज्यादा काटते हैं.

कुछ लोगों को मच्छर ज्यादा काटते हैं. अगर आपसे कहा जाए कि इसके पीछे कुछ खास वजह हो सकती हैं तो क्या आप यकीन करेंगे? आपको ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

एक स्टडी के मुताबिक जिनका ब्लड ग्रुप O होता है उन्हें ज्यादा मच्छर काटते हैं.
आप हल्के कलर के कपड़े पहनेंगे तो मच्छरों के काटने का खतरा कम हो जाएगा.

Why Mosquitoes Bite You: बारिश के मौसम में मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है. मच्छरों की वजह से डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसी खतरनाक बीमारियां हो जाती हैं. लोग मच्छरों से बचने के लिए तरह-तरह के उपाय करते हैं. कई बार आपने यह महसूस किया होगा कि आपको दोस्तों या अन्य लोगों की अपेक्षा मच्छर ज्यादा काटते हैं. अक्सर हमें लगता है कि यह सिर्फ भ्रम है. एक हालिया स्टडी में खुलासा हुआ है कि कुछ लोगों को मच्छर ज्यादा काटते हैं और इसके पीछे स्किन का कलर, स्किन पर मौजूद बैक्टीरिया समेत कई वजह होती हैं. अब तक इसे लेकर कई स्टडी की जा चुकी हैं. सभी में कुछ न कुछ अनोखी बातें सामने आई हैं.

यह भी पढ़ेंः क्या मंकीपॉक्स सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन? हकीकत जान लीजिए

क्यों काटते हैं मच्छर?
मेडिकल न्यूज़ टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक मच्छरों की 3500 से ज्यादा प्रजातियां होती हैं, जिनमें से केवल कुछ मादा प्रजातियों के मच्छर ही इंसानों को काटते हैं. मादा मच्छर को अपने अंडों के लिए प्रोटीन की जरूरत होती है और इंसानों के खून से मच्छरों को प्रोटीन मिलती है. यही कारण है कि मच्छर स्किन पर सुई जैसे डंक से लोगों को काट लेते हैं. मच्छर काटने के बाद त्वचा पर खुजली, सूजन और अन्य गंभीर इंफेक्शन हो जाता है. डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया मच्छरों से फैलने वाली बीमारियां हैं जो लोगों को बुरी तरह प्रभावित करती हैं. कुछ अफ्रीकी देशों में मच्छरों की वजह से यलो फीवर फैल जाता है.

ऐसे लोगों को ज्यादा काटते हैं मच्छर
अमेरिका की न्यू मैक्सिको स्टेट यूनिवर्सिटी में पब्लिक हेल्थ के प्रोफेसर डॉ. जगदीश खूबचंदानी ने मेडिकल न्यूज टुडे को बताया कि कुछ स्टडी में मच्छरों के इंसानों के प्रति आकर्षित होने के कारणों पर चर्चा की गई है. इनमें पता चला है कि शरीर की गंध, स्किन का कलर, स्किन का टेंपरेचर और बनावट, त्वचा पर रहने वाले रोगाणुओं, प्रेग्नेंसी, इंसानों द्वारा छोड़े जाने वाली कार्बन डाइऑक्साइड, शराब और डाइट की वजह से मच्छर कुछ लोगों को ज्यादा काटते हैं और कुछ लोगों को कम. अध्ययनों से पता चलता है कि गर्भवती महिलाएं, हाई टेंपरेचर और ज्यादा पसीना आने वाले लोग और डार्क स्किन वाले लोगों को मच्छर ज्यादा काटते हैं.

यह भी पढ़ेंः Covid-19 संक्रमण से अब मौत का खतरा कम? एक्सपर्ट की राय जान लीजिए

ब्लड ग्रुप O और बीयर पीने वालों को भी खतरा ज्यादा
कुछ स्टडी में ये बात सामने आ चुकी है कि जिनका ब्लड ग्रुप A होता है उन्हें कम मच्छर काटते हैं और जिनका ब्लड ग्रुप O होता है उन्हें सबसे ज्यादा मच्छर काटते हैं. इसके अलावा बीयर पीने वाले लोगों की तरफ मच्छर ज्यादा आकर्षित होते हैं. मच्छरों से बचने का एक उपाय हल्के रंग के कपड़े पहनना हो सकता है. जैसा कि कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि मच्छर गहरे रंगों की ओर आकर्षित होते हैं. अगर आप हल्के कलर के कपड़े पहनेंगे तो मच्छरों के काटने का खतरा कम हो जाएगा.

Tags: Health, Lifestyle, Mosquitoes, Trending news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें