होम /न्यूज /जीवन शैली /

पोहा नाश्ते की नहीं सेहत की भी जान है, इसमें मौजूद फाइबर कम करेगा वज़न

पोहा नाश्ते की नहीं सेहत की भी जान है, इसमें मौजूद फाइबर कम करेगा वज़न

पोहा खाने से पेट देर तक भरा रहता है.

पोहा खाने से पेट देर तक भरा रहता है.

वज़न कम करना और खुद को फिट बनाए रखने के लिए कड़ी मेहनत करनी होती है. डाइट प्लान से लेकर वर्कआउट तक सभी बातों का ध्यान रखना पड़ता है. आज हम आपको बताते हैं कि डाइट में पोहा शामिल करने के क्या फायदे होते हैं.

Poha for Weight loss – आज कल हर कोई अपनी फिटनेस का ध्यान रखता है. फिर वो चाहे वजन बढ़ना हो या फिर घटना. वजन का घटना या फिर बढ़ना सब कुछ आपके खानपान और रूटीन पर निर्भर करता है. इसी खानपान में आपका सुबह का पहला मील यानी कि नाश्ता भी अहम भूमिका निभाता है. कई घरों में सुबह के नाश्ते के लिए पोहा बनना आम है.

फिर चाहे इसे प्याज़ और आलू के साथ बनाएं या फिर इसमें ऊपर मूंगफली और नमकीन डालकर खाएं. पोहे को तैयार करने के कई तरीके हैं. पोहा काफी हेल्दी होता है, क्योंकि यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है. इसे सीरियल से बेहतर माना जाता है, क्योंकि पोहे में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, विटामिन और आयरन की अच्छी मात्रा होती है. ये सभी पोषक तत्व न सिर्फ आपका वजन कम करने में मदद करते हैं, बल्कि सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद होता है.

यह भी पढ़ेंः क्या ब्रेन फंक्शनिंग बिगाड़ सकता है कोविड संक्रमण? एक्सपर्ट से जान लीजिए
जानें पोहा कैसे घटाता है वजन

वेजफिट के मुताबिक हमें उन चीजों का सेवन करना चाहिए, जिसमें फाइबर प्रचुर मात्रा में हो. ऐसे में पोहा आपकी मदद करता है. पोहे में फाइबर अधिक मात्रा में होता है, जो आपके बढ़ते वजन को कंट्रोल करने में असरदार है. पोहा खाने के बाद कई घंटों तक आपको भूख का अहसास नहीं होता, यानी कि आपका पेट लंबे वक्त तक भरा रहता है, जिससे आप ओवर ईटिंग से बचते हैं. वजन बढ़ना या घटना किस चीज से हम कितनी कैलोरी ले रहे हैं, उस पर भी निर्भर करता है. पोहा में कैलोरी कम मात्रा में होती है, इससे ना केवल आपका पेट भरता है, बल्कि वजन को घटाने में भी मदद करेगा.

यह भी पढ़ेंः क्या डायबिटीज के पेशेंट भी कर सकते हैं जिम? जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट

वज़न कम करने में मदद के अलावा पोहा के हैं कई और फायदे

पोहा खाने से डायबिटीज रोगी को भूख कम लगती है और उनका ब्लड प्रेशर नॉर्मल रहता है. वहीं चिवड़ा ब्लड में शुगर की मात्रा धीरे-धीरे रिलीज करने में मदद करता है, जिससे शुगर नहीं बढ़ता है. पोहा खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन और इम्यूनिटी पावर बढ़ती है. इससे शरीर की कोशिकाओं को ऑक्सीजन मिलती है. पोहा में ग्लूटोन की मात्रा बेहद कम होती है, इसलिए यह पचाने में आसान होता है, जो पेट के रोगी के लिए काफी फायदेमंद होता है.

Tags: Health, Healthy Diet, Lifestyle

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर