होम /न्यूज /जीवन शैली /Rama Krishna Tulsi: रामा तुलसी और कृष्णा तुलसी में क्या है अंतर, जानें स्वास्थ्य के लिए कौन है फायदेमंद

Rama Krishna Tulsi: रामा तुलसी और कृष्णा तुलसी में क्या है अंतर, जानें स्वास्थ्य के लिए कौन है फायदेमंद

दोनों ही तुलसी में कई तरह के औषधीय गुण मौजूद हैं.

दोनों ही तुलसी में कई तरह के औषधीय गुण मौजूद हैं.

Rama and Shyama Tulsi, Health Tips: तुलसी को लेकर अब तक हुए अध्ययनों में यह बात भी सामने आई है कि इसके पानी का सेवन करन ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

Difference between Rama and Shyama Tulsi: हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का एक विशेष महत्व है. इसका जहां पूजा पाठ की दृष्टि से धार्मिक महत्व है तो वहीं इसे आयुर्वेद मे कई बीमारियों के लिए रामबाण माना गया है. आयुर्वेद और घरेली चिकित्सा में तुलसी का बड़ा महत्व है. तुलसी में इतने सारे स्वास्थ्य लाभ मौजूद हैं कि इसे लोग जादुई जड़ी बूटी भी कहते हैं. तुलसी के कई प्रकार है, लेकिन इनमें से सबसे ज्यादा राम तुलसी और कृष्ण तुलसी का प्रयोग किया जाता है.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक राम तुलसी और कृष्ण तुलसी को लेकर अक्सर लोगों के मन में एक संशय बना रहता है. क्या आप दोनों प्रकार की तुलसी के बारे में जानते हैं? यदि आपको अंतर नहीं मालूम तो हम आपको बताते हैं कि आपके स्वास्थ्य के लिए कौन सी तुलसी फायदेमंद है.

कई तरह की बीमारियों में होता है प्रयोग
रामा तुलसी और कृष्णा तुलसी के बारे में जानकारी देते हुए डॉ प्रियंका रोहतगी, चीफ क्लिनिकल डाइटिशियन, अपोलो हॉस्पिटल्स, बैंगलोर ने कहा, राम तुलसी का उपयोग ज्यादातर धार्मिक कार्यों में किया जाता है इसके साथ ही यह कई प्रकार की बीमारियों में औषधि के तौर पर प्रयोग में लाई जाती है.

एक्सपर्ट के अनुसार राम तुलसी में दूसरी किसी और तुलसी की तुलना में अधिक मीठा स्वाद होता है. इसके साथ ही राम तुलसी की पत्तियां हरे रंग की होती हैं.

इन गलतियों की वजह से अंडरआर्म्स हो जाते हैं डार्क, इन आसान तरीका से चमकाएं

वहीं दूसरी तरफ कृष्ण तुलसी को श्यामा तुलसी के नाम से भी जाना जाता है. इसकी पत्तियों का रंग गहरा हरा और बैगनी होता है. इसका तना भी बैगनी रंग का ही होता है. कृष्णतुलसी का उपयोग धार्मिक कार्यों में बेहद कम या फिर न के बराबर ही होता है. कृष्ण तुलसी स्वाद में हल्की कड़वी भी होती है. दोनों ही तुलसी का अपनी अपनी जगह पर विशेष महत्व है. राम तुलसी को घर में लगाने से शांति आती है जबकि वहीं कृष्ण तुलसी या फिर श्यामा तुलसी का उपयोग आयुर्वेद में भी किया जाता है.

रामा तुलसी या कृष्ण तुलसी कौन सी है स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद
एक्सपर्ट के अनुसार स्वास्थ्य के लिए राम और कृष्ण दोनों ही प्रकार की तुलसी काफी फायदेमंद हैं. दोनों ही तुलसी का प्रयोग बुखार, स्किन प्रॉब्लम्स, पाचन की समस्या आदि के इलाज में किया जाता है. राम तुलसी को नेचुरल प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ाने वाला पौधा माना जाता है इसके साथ ही कई बार लोग हाई ब्लड प्रेशर और तनाव के खतरे को कम करने के लिए भी इसका प्रयोग करते हैं. राम तुलसी अपने कैंसर रोधी गुणो के लिए भी जानी जाती है.

कई पोषक तत्वों का पावर हाउस ‘अखरोट’, हार्ट और ब्रेन के लिए तो है सुपरफूड

वहीं अगर कृष्ण तुलसी की बात करें तो यह बच्चों में खांसी जुकाम की समस्या को रोकने के लिए मुख्यरूप से जानी जाती है. जिन लोगों को श्वसन संबंधी बीमारी है वे लोग भी कृष्ण तुलसी का प्रयोग करते हैं. इसके एंटी ऑक्सीडेंट गुण हॉर्ट रोधी बीमारियों को कम करने में सहायक हैं. कृष्ण तुलसी डायबिटीज की समस्या में भी फायदेमंद है.

मोटापे को कम करने में लाभकारी है तुलसी का सेवन
तुलसी को लेकर अब तक हुए अध्ययनों में यह बात भी सामने आई है कि इसके पानी का सेवन करने से मोटापे और वजन को कम करने में भी मदद मिलती है. इसके साथ ही सांस की दुर्गंध वाले रोगियों के लिए भी यह काफी कारगर है. कृष्ण तुलसी बच्चों की लंबाई चौड़ाई को बढ़ाने में भी मदद करती है.

हेल्थ एक्सपर्ट का मानना है कि तुलसी के सेवन का भी एक तरीका है. रोजना सुबह खाली पेट इसकी दो से चार पत्तियों का सेवन करना चाहिए. इसके अलावा चाय में इसकी पत्ती को मिलाकर भी इसका सेवन किया जा सकता है.

Tags: Health, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें