होम /न्यूज /जीवन शैली /Smiling Depression: कहीं आपका कोई अपना स्माइलिंग डिप्रेशन का शिकार तो नहीं? लक्षण पहचान कर पहुंचाएं मदद

Smiling Depression: कहीं आपका कोई अपना स्माइलिंग डिप्रेशन का शिकार तो नहीं? लक्षण पहचान कर पहुंचाएं मदद

स्माइलिंग डिप्रेशन के शिकार लोग बाहर से हंसमुख और आशावादी दिखाई देते हैं.

स्माइलिंग डिप्रेशन के शिकार लोग बाहर से हंसमुख और आशावादी दिखाई देते हैं.

Smiling Depression: स्माइलिंग डिप्रेशन भी एक तरह का अवसाद होता है जिससे ग्रस्त व्यक्ति एक्टिव, हेल्दी फैमिली, अच्छी नौक ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

स्माइलिंग डिप्रेशन से ग्रस्त लोग अंदर से अवसाद के लक्षणों का अनुभव कर रहे होते हैं.
स्माइलिंग डिप्रेशन से जूझ रहे इंसान के खुदकुशी करने का खतरा ज्यादा हो सकता है.

Smiling Depression Symptoms And Diagnosis: ‘तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो, क्या गम है जिसको छुपा रहे हो’ कैफ़ी आज़मी की ये शायरी महज एक शेर नहीं है, बल्कि कई लोगों की सच्चाई है. अपने आसपास रोज़ न जाने कितने ऐसे चेहरे हम देखते हैं, जो हमेशा हंसते-मुस्कुराते हुए दिखाई देते हैं. जिन्हें देखकर एक न एक बार तो यही मन में आता है कि ‘वाह! लाइफ हो तो ऐसी’ मगर ज्यादातर लोग उन मुस्कुराहटों के पीछे की हकीकत कभी नहीं जान पाते. क्या आपने कभी स्माइलिंग ड्रिप्रेशन के बारे में सुना है? बहुत सारे लोगों के लिए ऐसी कोई टर्म होती ही नहीं लेकिन ऐसा नहीं है.

आपको बता दें कि हेल्थलाइन के मुताबिक स्माइलिंग डिप्रेशन भी एक तरह का अवसाद होता है जिससे ग्रस्त व्यक्ति बाहर से खुश या संतुष्ट दिखाई देता है. हैरानी की बात ये है कि डायग्नोस्टिक एंड स्टैटिकल मैनुअल ऑफ मेंटल डिसऑर्डर (डीएसएम -5) में इसे शामिल नहीं किया गया है लेकिन संभवतः असामान्य विशेषताओं के साथ प्रमुख अवसादग्रस्तता विकार के रूप में इसकी पहचान की जा सकती है.

स्माइलिंग डिप्रेशन के लक्षण क्या हैं?

मुस्कुराते हुए अवसाद का अनुभव करने वाले लोग बाहर से दूसरों को खुश दिखाई देते हैं लेकिन अंदर से वे अवसाद के कष्टदायक लक्षणों का अनुभव कर रहे होते हैं. अवसाद हर किसी को अलग तरह से प्रभावित करता है और इसके कई लक्षण हो सकते हैं, जिनमें सबसे प्रमुख लंबे समय तक उदास होना है. जानिए, अन्य लक्षणों-

  • भूख, वजन और नींद में बदलाव आना.
  • थकान या सुस्ती महसूस करना.
  • निराशा की भावना आना.
  • आत्म-सम्मान और आत्मविश्वास की कमी होना.
  • उन चीजों को करने में रुचि न लेना, जिन्हें करना पहले अच्छा लगता हो.

स्माइलिंग डिप्रेशन से ग्रस्त व्यक्ति इन सब में से कुछ या सभी का अनुभव कर सकता है लेकिन सार्वजनिक रूप से अधिकतर या ये सारे लक्षण नहीं दिखाई देते यानी दूसरा व्यक्ति उन लोगों में इन लक्षणों की पहचान नहीं कर पाता. आप यह जान कर हैरान हो सकते हैं कि स्माइलिंग डिप्रेशन का शिकार शख्स एक्टिव, हेल्दी फैमिली, अच्छी नौकरी करने वाला, हंसमुख, आशावादी और आम तौर पर खुश दिखने वाला हो सकता है.

यह भी पढ़ें- Teenagers Mental Health: ये 7 कारण हो सकते हैं आपके अकेलेपन की वजह, ऐसे करें पहचान

मुस्कुराहट से पीछे क्यों परेशानी छिपाते हैं?

अगर कोई इस तरह के अवसाद का अनुभव कर रहा है, मुस्कुरा रहा है तो हो सकता है कि उसे ये लगता हो कि-

  • अवसाद के लक्षण दिखना कमजोरी का संकेत है.
  • अपनी सच्ची भावनाओं को व्यक्त करने का मतलब किसी पर बोझ डालना है.
  • बिल्कुल भी डिप्रेशन नहीं है, सब ठीक है.
  • दूसरों के साथ इससे बदतर होता है तो किसी भी बारे में शिकायत करने की ज़रूरत नहीं है.
  • दुनिया हमारे बिना बेहतर हो सकती है.

आत्महत्या करने का खतरा ज्यादा!

अवसादग्रस्त इंसान में उर्जा की कमी होती है और सुबह बिस्तर से बाहर निकालना भी मुश्किल हो जाता है लेकिन स्माइलिंग डिप्रेशन में ऊर्जा का स्तर प्रभावित नहीं हो है (बशर्ते वो शख्स अकेला न हो). इस वजह से, आत्महत्या करने का खतरा अधिक हो सकता है. गंभीर अवसाद से ग्रस्त लोग कभी-कभी आत्महत्या के ख्याल का अनुभव करते हैं लेकिन कई लोगों के पास इन विचारों को हकीकत में बदलने की ऊर्जा नहीं होती है लेकिन मुस्कुराते हुए अवसाद से जूझने वाले किसी व्यक्ति के पास अनुसरण करने की ऊर्जा हो सकती है.

स्माइलिंग डिप्रेशन का निदान क्या है?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, स्माइलिंग डिप्रेशन क्लासिक अवसाद के विपरीत या इतर लक्षणों को दिखाता है, जिसके कारण इसकी पहचान या जांच करना मुश्किल होता है. इसका निदान करना इसलिए भी मुश्किल है क्योंकि बहुत से लोग यह भी नहीं जानते कि वे उदास हैं या वे मदद ही नहीं मांगना चाहते. अगर आपको लगता है कि आपके आसपास कोई अवसाद की चपेट में है तो जल्द से जल्द उसकी मदद करने की कोशिश करें. निदान करने के लिए डॉक्टर्स की सलाह लेनी बहुत जरूरी है.

यह भी पढ़ें- Headache Red Alert: दिनभर सिरदर्द रहना ट्यूमर का लक्षण तो नहीं? डॉक्टर से जानें कैसे करें पहचान

अगर आप भी अवसाद के लक्षणों का अनुभव कर रहे हैं तो मदद लेने से हिचकिचाएं नहीं. डॉक्टर्स या मनोचिकित्सक की मदद से आप अपनी मेंटल हेल्थ में सुधार ला सकते हैं. वे दवाइयों, थेरेपी आदि के जरिए आपको अवसाद के चंगुल से निकाल सकते हैं. आप हेल्पलाइन किरण  (1800-599-0019) पर भी कॉल कर सकते हैं.

Tags: Depression, Health, Lifestyle, Mental diseases, Mental health

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें