सरफराज के बाद स्टीव स्मिथ भी दिखे जम्हाई लेते, जानें जम्हाई लेने का कारण

सरफराज के बाद स्टीव स्मिथ भी दिखे जम्हाई लेते, जानें जम्हाई लेने का कारण
s

जब शरीर थक जाता है या हमें नींद आने लगती है तो शरीर में एक स्वाभाविक प्रतिक्रिया होती है जिसे जम्हाई या उबासी (Yawning) कहते हैं.

  • Last Updated: September 7, 2020, 1:35 PM IST
  • Share this:


सोशल मीडिया (Social Media) में इन दिनों जम्हाई (Yawning) लेने वाले मीम्स काफी तेजी से वायरल (Viral) हो रहे हैं और इसकी वजह है एक के बाद एक क्रिकेट खिलाड़ियों की जम्हाई लेते तस्वीरें सामने आना. पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट कप्तान सरफराज अहमद (Sarfaraz Ahmed) की तो कई बार जम्हाई लेते हुए तस्वीरें सामने आ चुकी हैं लेकिन अब शुक्रवार 4 सितंबर को ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ (Steve Smith) की जम्हाई लेती हुई तस्वीरें वायरल हो रहीं हैं. इंग्लैंड के खिलाफ पहले टी20 मुकाबले में अपनी बारी का इंतजार कर रहे स्मिथ ड्रेसिंग रूम में बैठकर जम्हाई ले रहे थे.

वैसे तो जम्हाई लेना पूरी तरह से एक सामान्य नैचुरल प्रतिक्रिया है लेकिन, इस तरह के प्रफेशनल स्पोर्टिंग ईवेंट के दौरान खिलाड़ियों के इस तरह से जम्हाई लेने को लेकर सवाल ये उठ रहा है कि क्या ये खिलाड़ी सचमुच थके हुए थे या खेल के प्रति उनका रवैया उदासीन था. भले ही वायरल हो रहीं ये तस्वीरें और मीम्स सिर्फ हंसी मजाक के लिए बनाए जा रहे हों लेकिन यह घटना कुछ दिलचस्प सवाल जरूर खोजने पर मजबूर करती है: क्या जम्हाई सचमुच संक्रामक होती है? बहुत ज्यादा जम्हाई लेने का कारण क्या है? क्या बहुत ज्यादा जम्हाई लेने का व्यक्ति की सेहत पर कोई प्रभाव पड़ता है?



आखिर क्यों आती है जम्हाई?
जब शरीर थक जाता है या हमें नींद आने लगती है तो शरीर में एक स्वाभाविक प्रतिक्रिया होती है जिसे जम्हाई या उबासी कहते हैं. हालांकि, कभी-कभी हम चिंता और तनाव के कारण भी जम्हाई लेते हैं. जम्हाई लेना अनैच्छिक गतिविधि है और इस प्रक्रिया में मुंह इतना खुल जाता है जितने में आप गहराई से सांस ले पाएं. एक व्यक्ति जितना अधिक जम्हाई लेता है, वह उतना ही अधिक थका हुआ होता है.

एक अध्ययन की मानें तो जम्हाई लेने से मस्तिष्क में तापमान को नियंत्रित करने में मदद मिलती है. इतना ही नहीं, जम्हाई लेने पर जबड़े की मांसपेशियों में खिंचाव होता है जिससे सिर, गर्दन और चेहरे तक ब्लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है. जम्हाई लेते समय जब व्यक्ति गहरी सांस लेता है तो ठंडी हवा शरीर के अंदर प्रवेश करती है और शरीर के अंदर मौजूद तरल पदार्थों को ठंडा करने में मदद मिलती है. वैज्ञानिकों का यह भी मानना है कि जम्हाई लेने से कान खुल जाते हैं, जिससे आप बेहतर तरीके से सुन पाते हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि गर्भावस्था की पहली तिमाही में ही भ्रूण सहज रूप से जम्हाई ले सकता है.

एक तरफ जहां जम्हाई लेने के पीछे शारीरिक कारण जिम्मेदार माने जाते हैं तो वहीं कुछ वैज्ञानिकों का कहना है कि जम्हाई लेना, मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण से संचार के साधन के रूप में कार्य करता है. यह सिद्धांत इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि जम्हाई लेने को अत्यंत संक्रामक गतिविधि के रूप में देखा जाता है यानी किसी व्यक्ति को जम्हाई लेता देख आपको भी जम्हाई आने लगती है. जम्हाई की संक्रामकता बताती है कि यह अचेतन अवस्था में किया गया व्यवहार है.

ज्यादा जम्हाई लेने का कारण क्या है?
1 मिनट में 1 से अधिक बार जम्हाई लेने वाले व्यक्ति को ज्यादा जम्हाई लेने की कैटिगरी में रखा जा सकता है. बहुत अधिक जम्हाई लेने का मतलब है कि या तो आप बहुत ज्यादा थके हुए हैं या बोरियत महसूस कर रहे हैं. हालांकि, कुछ मामलों में, यह सेहत से जुड़ी समस्याओं का भी संकेत हो सकता है. नींद से जुड़ी बीमारियां जैसे- स्लीप ऐपनिया, इनसॉमनिया आदि के कारण भी व्यक्ति को बार-बार जम्हाई आती है. बेचैनी, चिंता या डिप्रेशन के कारण भी व्यक्ति को जम्हाई आने लगती है. कई बार कुछ दवाइयां जैसे- एंटीडिप्रेसेंट और पेनकिलर का सेवन करने पर भी अत्यधिक जम्हाई आ सकती है. इसके अलावा कई बार ब्रेन से जुड़ी कुछ बीमारियों जैसे- स्ट्रोक, ब्रेन ट्यूमर, मिर्गी आदि बीमारियों के कारण भी व्यक्ति को बहुत अधिक जम्हाई आ सकती है.

बहुत अधिक जम्हाई आने का कारण क्या है इसके आधार पर ही डॉक्टर अत्यधिक जम्हाई की घटनाओं को कम करने के लिए इलाज क्या होना चाहिए इस बारे में कोई फैसला लेते हैं.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, जम्हाई लेने के कारण, लक्षण, इलाज के बारे में पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज