होम /न्यूज /जीवन शैली /खर्राटे लेने से हैं परेशान? डॉक्‍टर की बताई ये एक्‍सरसाइज आ सकती है आपके काम

खर्राटे लेने से हैं परेशान? डॉक्‍टर की बताई ये एक्‍सरसाइज आ सकती है आपके काम

ज्यादा वजन होने पर भी लोगों को खर्राटों की समस्या हो जाती है. Image : Canva

ज्यादा वजन होने पर भी लोगों को खर्राटों की समस्या हो जाती है. Image : Canva

अगर आप इस सिंपल सी एक्‍सरसाइज का नियमित अभ्‍यास करें तो आपके वोकल कॉर्ड के मसल्‍स मजबूत होंगे और कंपन की समस्‍या दूर हो ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

जीभ, गले, मुंह और श्वास नली में कंपन की वजह से खर्राटे की आवाज आती है.
इस समस्‍या की वजह से परिवार वालों की भी नींद खराब हो जाती है.

Stop snoring with this Simple Mouth exercise : खर्राटे की समस्‍या एक ऐसी समस्‍या हो जो परिवार और दोस्‍तों के लिए भी मुसीबत बन जाती है. यह आपके नींद में तो दखल पैदा करती ही है, आपके रूम पार्टनर के लिए भी पीड़ादायक होता है. तमाम शिकायतों के बाद भी अगर आपका अब तक अपने खर्राटे की समस्‍या का हल नहीं निकल पाया है तो यहां हम आपके लिए एक सिंपल और असरदार उपाय लेकर आए हैं.

इस तरह कर सकते हैं खर्राटे की समस्‍या को दूर
बायोलॉजिकल डेंटिस्‍ट डॉ. सेब
ने अपने सोशल मीडिया पर इस बात की जानकारी दी है कि अगर आप खर्राटे की समस्‍या से परेशान हैं तो इस समस्‍या को ठीक करने के लिए क्‍या कर सकते हैं.

उन्‍होंने बताया कि आप एक सिंपल एक्‍सरसाइज की मदद से खर्राटे की समस्‍या को दूर कर सकते हैं. इसे करने के लिए आप अपनी जीभ को दांत के सामने वाले हिस्‍से के तालू से सटाएं और अंदर की तरफ स्‍ट्रेच करते हुए ‘क्लिक’ आवाज निकालें. यह आवाज आप जितनी जोर से निकालने का प्रयास करेंगे, यहां के मसल्‍स उतना अधिक मजबूत हो पाएंगे. इस तरह आप अपने खर्राटे की समस्‍या को दूर भी कर सकेंगे. आप इस व्‍यायाम को कभी भी कर सकते हैं.

जानें खर्राटे की वजह
खर्राटे आने के कई कारण हो सकते हैं. आमतौर पर जब जीभ, गले, मुंह और श्वास नली में रुकावट या कंपन होता है तो खर्राटे की आवाज पैदा होने लगती है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब आप सो रहे होते हैं तो शरीर के ये हिस्से शिथिल और संकुचित हो जाते हैं. ज्यादा वजन होने पर भी लोगों को खर्राटों की समस्या हो जाती है. इसके अलावा स्मोकिंग, ज्यादा शराब पीने, सोने के दौरान गले पर दबाव पड़ना भी खर्राटे की वजह बन जाता है. इसके अलावा, अगर आपको स्लीप एपनिया की समस्‍या है तो भी खर्राटों का जोखिम हो सकता है. इस समस्या में सोने के दौरान सांस रुक-रुक करती है.

इसे भी पढ़ें : सर्दियों में इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए खाएं ये 5 विंटर फ्रूट्स, सर्दी-जुकाम, बुखार से नहीं होंगे परेशान

Tags: Health, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें