होम /न्यूज /जीवन शैली /लिवर को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है हेपेटाइटिस डी, जानिए इसके लक्षण

लिवर को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है हेपेटाइटिस डी, जानिए इसके लक्षण

हेपेटाइटिस डी के लक्षण (image-canva)

हेपेटाइटिस डी के लक्षण (image-canva)

Hepatitis D - हेपेटाइटिस डी एक गंभीर इंफेक्शन है, जो व्यक्ति के लिवर को बुरी तरह से प्रभावित कर गंभीर स्थिति पैदा कर सक ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

आंखों में पीलापन हेपेटाइटिस की ओर संकेत हो सकता है.
हेपेटाइटिस में लापरवाही गंभीर नुकसान पहुंचा सकती है.
हेपेटाइटिस इनफेक्टेड व्यक्ति के कॉन्टेक्ट में आने से भी फैल सकता है.

Signs and Symptoms of Hepatitis D : हेपेटाइटिस डी जिसे डेल्टा हेपेटाइटिस के तौर पर भी जाना जाता है, हेपेटाइटिस बी से इनफेक्टेड लोगों में हेपेटाइटिस डी होने का खतरा सबसे ज्यादा होता है. हेपेटाइटिस डी जानने से पहले हम जानेंगे हेपेटाइटिस क्यों इतना खतरनाक माना जाता है. हेपेटाइटिस लिवर से जुड़ी हुई एक बीमारी है, जो वायरल इन्फेक्शन की वजह से जन्म लेती है इस बीमारी के शुरुआती लक्षण में लिवर पर सूजन आना हो सकता है. हेपेटाइटिस के पांच प्रकार होते हैं जैसे ए,बी,सी,डी और ई. हेपेटाइटिस के पांचों प्रकार समान रूप से गंभीर होते हैं. हेपेटाइटिस डी किसी व्यक्ति को तभी होता है जब वह पहले से हेपेटाइटिस बी या सी के सम्पर्क में हो. हेपेटाइटिस डी भी लिवर को बुरी तरह प्रभावित कर सकता है, जिसमें छोटी सी लापरवाही भी खतरनाक स्थिति पैदा कर सकती है. हेपेटाइटिस डी के प्रभाव को कम करने के लिए जरूरी है इसके लक्षणों और रिस्क फैक्टर्स के बारे में जानकारी होना. आइए जानते हैं,

हेपेटाइटिस डी के लक्षण :
– एवरीडे हेल्थ डॉट कॉम के मुताबिक भूख न लगना
– शरीर का सुस्त रहना
– पीलिया होना जिसमें आंखों का पीला नजर आना
– कमजोरी महसूस होना
– घुटनों में हर समय दर्द होना
– हर समय थकान महसूस करना
– सीने के पास दर्द होना
– पेट के ऊपरी भाग में दर्द होना

हेपेटाइटिस डी के रिस्क फैक्टर्स :
– हेपेटाइटिस डी की समस्या एचडीवी इंफेक्शन की वजह से होती है. हेपेटाइटिस में एक व्यक्ति से दूसरा व्यक्ति भी इनफेक्ट हो सकता है.
– इंफेक्टेड व्यक्ति के ब्लड या क्लोज कॉन्टेक्ट में आने की वजह से ये बीमारी फैल सकती है.
– हेपेटाइटिस डी से इंफेक्टेड महिलाओं के बच्चों में इसका खतरा बढ़ जाता है.
– हेपेटाइटिस बी से इंफेक्टेड लोगों में हेपेटाइटिस डी का खतरा काफी ज्यादा रहता है.
– इंफेक्टेड व्यक्ति के साथ अनप्रोटेक्टेड फिजिकल रिलेशन में ये इंफेक्शन फैल सकता है.

हेपेटाइटिस डी के लक्षण महसूस होने पर करें ये काम
अगर आपको ऊपर बताए हुए लक्षणों में किसी भी प्रकार का लक्षण महसूस हो तो आपको तुरंत अच्छे डॉक्टर के पास जाकर सलाह लेनी चाहिए.
– सबसे पहले आपको ब्लड टेस्ट करवाना चाहिए.
ब्लड टेस्ट से हेपेटाइटिस डी और एंटीबॉडी का पता लगाया जा सकता है.
– इसके अलावा लिवर की जांच करवानी भी जरूरी है, जिससे ब्लड में प्रोटीन, लीवर एंजाइम और बिलीरुबिन का पता लगाकर सही समय से इलाज शुरू किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें- ब्लड प्लेटलेट्स कम होने से बढ़ सकता है कई बीमारियों का खतरा, जानिए लक्षण और बढ़ाने के उपाय

इसे भी पढ़ें- डायबिटिक हैं तो तुरंत स्मोकिंग छोड़ दीजिए, वरना कई गुना बढ़ सकता है मौत का खतरा, जानिए रिसर्च

Tags: Health, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें