होम /न्यूज /जीवन शैली /कहीं आप भी इन 7 बीमारियों के लक्षण को डिप्रेशन तो नहीं मान रहें, जरूर दें ध्यान

कहीं आप भी इन 7 बीमारियों के लक्षण को डिप्रेशन तो नहीं मान रहें, जरूर दें ध्यान

डिप्रेशन का हमारे मानसिक स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड़ता है.

डिप्रेशन का हमारे मानसिक स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड़ता है.

Sings of Depression, Depression symptoms: दुनियाभर में करीब 280 मिलियन लोग डिप्रेशन का शिकार हैं. अगर आप को ठीक से नींद ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

Depression Health Symptoms: डिप्रेशन हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकार है. डिप्रेशन का सबसे अधिक असर हमारे मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता है. आज के दौर में डिप्रेशन और तनाव दोनों ही एक गंभीर समस्या बन चुके हैं. लंबे वक्त तक ड्रिपेशन में रहने से कई तरह की दूसरी गंभीर बीमारियां भी उत्पन्न हो जाती हैं. जहां दूसरी बीमारियां होने पर हमें तुरंत पता चल जाता है वहीं डिप्रेशन का शिकार होने पर भी लोगों को यह नहीं मालूम चल पाता कि वे डिप्रेशन में हैं.

वेबएमडी की खबर के अनुसार आज दुनियाभर में करीब 280 मिलियन लोग डिप्रेशन का शिकार हैं. अगर आप को ठीक से नींद नहीं आती, आप खुद को लेकर निराश रहते हैं, ऊर्जा की कमी महसूस करते हैं, फोकस करने में दिक्कत होती है तो आप डिप्रेशन के शिकार हो सकते हैं. हालांकि ये सभी डिप्रेशन के सामान्य लक्षण है. लेकिन आपको याद रखना है कि जरूरी नहीं है कि ऐसे लक्षण होने पर आप डिप्रेशन के ही शिकार हों. आइए जानते हैं कि ऐसे कौन कौन से लक्षण हैं जो डिप्रेशन के अतिरिक्त किसी और बीमारी के लक्षण हो सकते हैं.

मायालजिक एन्सेफेलोमाइलाइटिस
मायालजिक एन्सेफेलोमाइलाइटिस/क्रोनिक थकान सिंड्रोम और डिप्रेशन दोनों ही थका हुआ महसूस कराते हैं. इसके साथ ही इसमें आपको किसी काम में फोकस करने पर भी दिक्कत होती है. मायालजिक एन्सेफेलोमाइलाइटिस/क्रोनिक थकान सिंड्रोम के चार सामान्य लक्षण है जिसमें चक्कर आना, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द, सिर में दर्द होना शामिल है. यह ज्यादातर युवा लोगों को प्रभावित करता है.

फाइब्रोमायल्गिया
फाइब्रोमायल्गिया को अक्सर लोग डिप्रेशन मान बैठते हैं. यह मस्कुलोस्केलेटल डिसऑर्डर आपके मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी को दर्द को अधिक महसूस कराता है. इसका खतरा पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अधिक होता है. फाइब्रोमायल्गिया और डिप्रेशन दोनों में ही नींद न आना, याददाश्त और एकाग्रता में परेशानी, थकान होना, सोने में परेशानी जैसे समस्याएं आती हैं.

World Lung Day 2022: कोरोना के मरीजों में फेफड़ों से जुड़ी परेशानी के क्या हैं लक्षण? जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट

हाइपोथायरायडिज्म
हाइपोथायरायडिज्म के कई लक्षण डिप्रेशन की तरह मिलते हैं. हाइपोथायरायडिज्म में थायराइड ग्रंथि पर्याप्त मात्रा में हार्मोन का उत्पादन नहीं कर पाती. इससे पीड़ित लोग में जल्द ही थकान आना, वजन बढ़ना और मेमोरी में दिक्कत होना जैसी समान्य और डिप्रेशन जैसी शिकायते दिखाई देती हैं. डिप्रेशन अपने आप में हाइपोथायरायडिज्म का लक्षण हो सकता है. इसका पता ब्लड टेस्ट के माध्यम से किया जा सकता है. कई बार यह बीमारी आनुवांशिक तौर पर भी होती है.

एडीएचडी
एडीएचडी एक न्यूरोडेवलपमेंटल डिसऑर्डर है जिसका संबंध हमारे शरीर के ऊर्जा स्तरों से है. इससे पीड़ित लोगों में सबसे ज्यादा एकाग्रता की समस्या होती है. ऐसे लोग जब ध्यान लगाने की कोशिश करते हैं वे थकान का अनुभव करते हैं. ऐसे लोगों में तनाव की स्थिति को मैनेज करने में भी काफी समस्या आती है.

एहलर्स-डानलोस सिंड्रोम (ईडीएस)
एहलर्स-डानलोस सिंड्रोम एक दुर्लभ आनुवंशिक रोग है जो थकान, सिर में दर्द का अनुभव और नींद की गड़बड़ी का कारण बन सकता है. इसके साथी ही इसमें स्किन संबंधी दिक्कतें भी सामने आती हैं. यदि आपकी त्वचा में खरोच समझ में आती है तो आप एहलर्स डानलोस सिड्रोम के शिकार हो सकते हैं.

विटामिन डी की कमी
विटामिन डी की कमी से कई बार हमें ऐसी परेशानियां होने लगती हैं जो कि डिप्रेशन की तरह दिखती हैं. विटामिन डी की कमी हमें थका हुआ महसूस कराती है, हमारी मनोदशा में बदलाव होने लगता है. ब्लड टेस्ट से इसका पता लगाया जा सकता है. यदि आप अधिक मोटे हैं और आपकी स्किन का रंग गहरा भूरा है तो आपको विटामिन डी की समस्या हो सकती है.

World Retina Day 2022: आंखों के लिए सामान्य नहीं है धुंधलापन और चक्कर आना, हो सकती है रेटिना की बीमारी

एनीमिया
कई बार लोग एनीमिया के लक्षण को भी डिप्रेशन मानने की गलती कर बैठते हैं. अगर आप एनीमिया से ग्रसित हैं तो इसका साफ मतलब है कि आपके बॉडी में पर्याप्त मात्रा में स्वस्थ्य रक्त कोशिकाएं नहीं हैं, जिससे शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा की ठीक से आपूर्ति नहीं हो पाती.एनीमिया में बहुत जल्द थकान होना, चिड़चिड़ापन आना, सिर में दर्द जैसे लक्षण दिखाई देते हैं.

Tags: Depression, Health, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें