डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया न हो, इसके लिए जानें ये जरूरी बातें

पूर्वी दिल्ली की महापौर अंजु ने बताया कि लोगों को डेंगू से बचाने के लिए कोई वैक्सीन उपलब्ध नहीं है, केवल मच्छरों की संख्या सीमित करके ही इस बीमारी से बचा जा सकता है ...

  • Share this:
मौसम बदल रहा है और मॉनसून आ चुका है. ऐसे में डेंगू, मलेरिया और चिकुनगुनिया जैसी बीमारियां फैलने का खतरा हमेशा बना रहता है. इसके लिए पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने पहल करते हुए मच्छरों से पैदा होने वाली बीमारियों की रोकथाम के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए कदम उठाए. सरकार तो अपनी ओर से पहल कर ही रही है लेकिन जरूरी है कि आपको पता हो कि इन रोगों से बचने के क्या उपाय करने चाहिए.

पूर्वी दिल्ली की महापौर अंजु ने बताया कि लोगों को डेंगू से बचाने के लिए कोई वैक्सीन उपलब्ध नहीं है, केवल मच्छरों की संख्या सीमित करके ही इस बीमारी से बचा जा सकता है इसलिए वे अपने घर व आस-पास पानी जमा ना होने दें, घर की छतों में कबाड़ आदि ना रखें जिसमें बरसात का पानी जमा होने की संभावना हो.

पूर्वी दिल्ली के सभी 64 वार्डों में जन-जागरुकता रैलियों का आयोजन एमसीडी ने किया जिसमें स्थानीय जनता को जागरुक करने के लिए रैलियों के जरिए रिहायशी इलाकों, स्कूलों, अस्पतालों, पुलिस थानों, निर्माणाधीन इमारतों का निरीक्षण किया. ब्रिडिंग स्पॉट्स की जांच की और बताया कि मच्छरों की उत्पत्ति रोकने के उपाय बताए. इस मौसम में मच्छरों के काटने से मलेरिया के काफी केस सामने आते हैं. लेकिन कई बार लोग इसके लक्षणों को समझ नहीं पाते. आइए जानते हैं  मच्छरों से मच्छरों से पैदा होने वाली बीमारियों के लक्षण.



मच्छरों से होने वाली बीमारियों के लक्षण:
1.मलेरिया में एक दिन छोड़कर बहुत तेज बुखार आता है. उस दौरान मरीज को बहुत तेज सर्दी के साथ कंपकपी भी लगती है. इसमें बुखार एक दिन के अंतराल के बाद आता है.

2.मलेरिया की शुरुआत में मरीज को बहुत तेज ठंड लगती है और साथ में बहुत तेज बुखार आता है. इसके थोड़ी देर बाद शरीर का तामपान सामान्य हो जाता है. और उसके बाद मरीज को बहुत तेज गर्मी लगती है साथ ही तेज बुखार भी आता है.

3.मलेरिया का बुखार जब धीमे धीमे कम होता है तो मरीज को पसीना आता है और शरीर में कमजोरी महसूस होती है.

4. मलेरिया के मरीज को दो-तीन दिन तक लगातार बुखार आता रहता है.

5. चिकनगुनिया में तेज सिर दर्द के साथ बुखार आता है. यह बुखार हफ्ते भर तक बना रहता है तो तत्काल डॉक्टर से परामर्श के लिए संपर्क करना चाहिए.

6. डेंगू में मरीज को शरीर में दर्द, थकान, भूख ना लगना, हलके रैशज और लो ब्लड प्रेशर जैसे शुरूआती लक्षण रोगी में नजर आते हैं.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज