सही और संतुलित भोजन से डायबिटीज करें कंट्रोल, जानें कैसे करेगा ये काम

चीनी, आलू, चावल, सफेद आटा (मैदा), सफेद ब्रेड, पास्ता जैसी कई सफेद चीजों से डायबिटीज के मरीजों को परहेज करना चाहिए.
चीनी, आलू, चावल, सफेद आटा (मैदा), सफेद ब्रेड, पास्ता जैसी कई सफेद चीजों से डायबिटीज के मरीजों को परहेज करना चाहिए.

डायबिटीज (Diabetes) के मरीजों में वजन बढ़ने (Weight Gain) के कारण भी कई दिक्कतें होने लगती हैं. खाने में नियंत्रण रख डायबिटीज कम करने के साथ-साथ वजन भी कंट्रोल होगा.

  • Last Updated: October 21, 2020, 7:19 AM IST
  • Share this:


डायबिटीज (Diabetes) की बीमारी में खानपान (Diet) का नियंत्रण बेहद जरूरी होता है. कुछ चीजों का त्याग करना होता है, जबकि कुछ का सेवन अनिवार्य रूप से करना होता है. खानपान में इस संतुलन को बनाए रखना जरूरी है. वहीं डायबिटीज के मरीजों में वजन बढ़ने (Weight Gain) के कारण भी कई दिक्कतें होने लगती हैं. खाने में नियंत्रण रख डायबिटीज कम करने के साथ-साथ वजन भी कंट्रोल होगा. myUpchar के अनुसार, डायबिटीज को कंट्रोल करने के तीन तरीके हैं.

पहला- नियमित व्यायाम
दूसरा- वजन पर नियंत्रण
तीसरा- सही आहार लेना



जानिए डायबिटीज में खान-पान से जुड़ी किन बातों का ध्यान रखना चाहिए -

सफेद भोजन से बनाएं दूरी

चीनी, आलू, चावल, सफेद आटा (मैदा), सफेद ब्रेड, पास्ता जैसी कई सफेद चीजों से डायबिटीज के मरीजों को परहेज करना चाहिए. इनमें शर्करा की काफी मात्रा में होती है, जो मधुमेह के रोगियों के लिए काफी नुकसानदायक है. कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाद्य सामग्री से भी डायबिटीज के मरीजों को बचाना चाहिए क्योंकि कार्बोहाइड्रेट शरीर में ग्लूकोज की मात्रा को बढ़ाता है, जिससे खून में शुगर लेवल बढ़ जाता है. आलू, चावल और चीनी में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा सबसे ज्यादा होती है, इसलिए इन चीजों से मधुमेह के रोगी जितना दूर रहें, उनकी सेहत के लिए उतना ही अच्छा है. थोड़े दिनों में कम मात्रा में इन्हें खाया जा सकता है, लेकिन नियमित खानपान में इन्हें बिल्कुल न लें.

पास्ता व पाव में बिल्कुल नहीं होता फाइबर व प्रोटीन

अन्य सफेद चीजों की बात करें तो सफेद पास्ता और पाव में प्रोटीन और फाइबर बिल्कुल नहीं होता है, बल्कि इनमें शुगर अधिक मात्रा में होती है. इन सभी चीजों में कैलोरी की अधिकता होने की वजह से वजन में बढ़ोतरी होती है. हालांकि, शरीर में ऊर्जा के लिए कैलोरी आवश्यक है, लेकिन इसकी अधिक मात्रा फैट बढ़ाती है. सफेद चावल खाने के बजाए ब्राउन राइस या लाल चावल का सेवन कर सकते हैं.

सफेद चीनी का प्रतिरोध क्षमता पर प्रभाव

सफेद चीनी रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी बीमारियों से लड़ने की ताकत को कमजोर बनाती है. सफेद चीनी का अधिक मात्रा में सेवन कैंसर कोशिकाओं को बढ़ाने मदद करता है. सफेद चीनी से स्तन कैंसर, बड़ी आंत का कैंसर, उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल, हार्ट अटैक, स्ट्रोक जैसी कई बीमारियों का खतरा बढ़ता है. खाने में बेहद ही कम मात्रा में चीनी लेनी चाहिए. साथ ही वे चीजें, जिनमें चीनी की मात्रा की अधिकता है, उन्हें अपने खाने में शामिल नहीं करना चाहिए.

फलों व सब्जियों का सेवन करें

myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, मधुमेह के रोगियों को फलों और सब्जियों का सेवन करना चाहिए. इनसे सभी प्रकार मिनरल्स, विटामिन्स और फाइबर की पूर्ति होगी. कुछ लोग यह सोचते हैं कि फलों में चीनी की मात्रा अधिक होती है, इसलिए वे फल खाने से भी बचते हैं, लेकिन फलों में प्राकृतिक चीनी होती है, जो नुकसान नहीं पहुंचाती है. फलों का रस लेने के बजाए फल का ही सेवन करना चाहिए. इससे काफी मात्रा में फाइबर भी मिलता है और शुगर लेवल भी नहीं बढ़ता है.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, संतुलित भोजन किसे कहते हैं और इसका चार्ट पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज