वजन कम करने और इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करती है इमली, जानें इसके फायदे

इमली में कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो पाचन को बेहतर करने का कार्य करते हैं.
इमली में कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो पाचन को बेहतर करने का कार्य करते हैं.

इमली (Tamarind) में काफी मात्रा में विटामिन-सी (Vitamin-C) और पॉलीसैकेराइड तत्व पाए जाते हैं, जो प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) को बढ़ाने में महत्वपूर्ण है.

  • Last Updated: November 5, 2020, 1:38 PM IST
  • Share this:


इमली (Tamarind) चटपटी होने के कारण स्वादिष्ट होती है. कई लोग इसकी चटनी (Chutney) बनाकर खाना पसंद करते हैं, तो कई लोग अपने भोजन का स्वाद चटपटा करने के लिए इसे खाने में डालते हैं. बहरहाल, स्वाद बढ़ाने के साथ साथ यह शारीरिक स्वस्थ्य के लिए गुणकारी औषधि (Medicine) के रूप में भी काम करती है. यह वजन कम (Weight Lose) करने में रामबाण औषधि है, साथ ही यह इम्यूनिटी बूस्टर (Immunity Booster) का काम भी करती है. आइए जानते हैं कि यह किस प्रकार से शरीर के लिए फायदेमंद है.

इमली के औषधीय गुण



इमली में कई फाइटोकेमिकल्स तत्व पाए जाते हैं, साथ ही यह एंटीबैक्टीरियल, एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी अस्थेमेटिक जैसे गुणों से भरपूर होती है. इमली खाने से लीवर और हृदय संबंधित परेशानियां भी दूर हो जाती हैं. इसमें अनेक गुण होने के कारण बेहतरीन जड़ी बूटी है.
वजन घटाने में मददगार

वजन कम करने के लिए इमली एक बेहतरीन आयुर्वेदिक औषधि है. अनेक शोध में यह पाया गया है कि इमली के बीज में ट्रिप्सिन इन्हिबिटर (एक तरह का प्रोटीन) के गुण होते हैं. शोध में यह भी पाया गया कि इमली के बीज में पाया जाने वाले कुछ गुण हाई ब्लड शुगर, हाई-कोलेस्ट्रॉल, हाई बीपी, हाई ट्राइग्लिसराइड्स और मोटापा संबंधी सभी समस्याओं को दूर करने की क्षमता रखता है. यह भूख को कम करने में सक्षम है, जिससे वजन कम करने में मदद मिल सकती है.

मजबूत बनाए इम्यून सिस्टम

myUpchar के अनुसार, इमली में काफी मात्रा में विटामिन-सी और पॉलीसैकेराइड तत्व पाए जाते हैं, जो प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण है. वैज्ञानिकों द्वारा किए गए अध्ययनों में यह पता चला है कि इमली के बीज में पाए जाने वाले पॉलीसैकेराइड में इम्यूनोमॉड्यूलेटरी गुण भी होते हैं, जो शरीर को रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाते हैं.

पाचन प्रक्रिया में इमली के फायदे

इमली में कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो पाचन को बेहतर करने का कार्य करते हैं. साथ ही इसके सेवन से कब्ज, एसिडिटी, गैस या अल्सर जैसी समस्याएं भी दूर हो जाती हैं.

डायबिटीज में इमली का सेवन

इमली के बीज में काफी मात्रा में पॉलीफेनोल और फ्लेवोनोइड तत्व पाए जाते हैं. इसके अलावा इमली के बीज के अर्क में एंटी-डायबिटिक गुण पाए जाते हैं, जिससे ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है.

गर्भवती महिलाएं इसलिए पसंद करती है इमली

myUpchar के अनुसार, इमली में काफी मात्रा में विटामिन सी होता है और विटामिन सी शरीर में आयरन की आपूर्ति में अहम भूमिका निभाता है. गर्भवती महिलाओं में हीमोग्लोबिन की पूर्ति के लिए संतुलित मात्रा में आयरन जरूरी होता है. यही कारण है कि गर्भवती महिलाओं को विटामिन सी से भरपूर खट्टी चीजें ज्यादा दी जाती है.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, इमली के फायदे और नुकसान पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज