महिलाएं अपनी लाइफस्टाइल में करें ये 10 बदलाव, स्वस्थ रहेगा मन और शरीर

पर्याप्त मात्रा में पानी पीना और कम से कम 8 घंटे की अच्छी नींद लें.
पर्याप्त मात्रा में पानी पीना और कम से कम 8 घंटे की अच्छी नींद लें.

अच्छे स्वास्थ (Health) के बिना कुछ भी मुमकिन नहीं है, खासकर महिलाओं (Women) को अपनी सेहत का ध्यान रखना और भी जरूरी है.

  • Last Updated: November 3, 2020, 2:34 PM IST
  • Share this:

कोविड-19 (Covid-19) महामारी ने हर किसी की दिनचर्या को बदल दिया है, लेकिन अब सभी लोग अपने जीवन की गाड़ी को पटरी पर लाने की कोशिश कर रहे हैं, इनमें कुछ लोग ऐसे भी हैं जो घर और परिवार के कामकाज के बीच अपनी सेहत को बनाए रखने के लिए लगातार संघर्ष कर रहे हैं. ऐसे में अच्छे स्वास्थ के बिना कुछ भी मुमकिन नहीं है, खासकर महिलाओं (Women) को अपनी सेहत का ध्यान रखना और भी जरूरी है. यहां कुछ ऐसी जरूरी बातें बताई गई हैं जिनके माध्यम से महिलाओं को अपने मन और शरीर को स्वस्थ रखने में मदद मिलेगी.


1. पर्याप्त पानी और नींद : पर्याप्त मात्रा में पानी पीना और कम से कम 8 घंटे की अच्छी नींद लें. ये शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों के लिए जरूरी है.

2. योग और ध्यान : वैसे तो दिनचर्या से समय निकालना भी अपने आप में एक काम है, लेकिन 30 मिनट का समय निकालने से शरीर की बहुत परेशानी हल हो सकती हैं. इस 30 मिनट के दौरान ध्यान लगाएं व योग करें, ताकि पूरे दिन ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में मदद मिल सके.

3. स्क्रीन टाइम कम करें : आज कल स्क्रीन टाइम नई परेशानी बन चुकी है, खासकर लॉकडाउन में इसका प्रभाव ज्यादा रहा है. स्क्रीन टाइम यानी मोबाइल या टीवी पर अधिक समय बिताना. स्क्रीन टाइम कम करने की कोशिश करें और दिनभर में कभी भी 20 मिनट बगैर मोबाइल के रहें. इसके अलावा आंखों की एक्सरसाइज के लिए दूर रखी किसी वस्तु को घूरें.

4. अपनी मुद्रा को लेकर सजग रहें : महिलाएं इन दिनों स्लिप्ड डिस्क और सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस की ज्यादा शिकार हो रही हैं, यह स्थिति समय लंबे समय तक गलत तरीके से बैठने के कारण होती है. इसलिए अपने बैठने के तरीके पर गौर कीजिए और गर्दन की मांसपेशियों में यदि तनाव है, तो इसके लिए गर्दन से जुड़े व्यायाम कीजिए.



5. आहार : एक स्वस्थ आहार अनगिनत तरीकों से मदद कर सकता है. अपने भोजन में फाइबर, प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ और पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ शामिल करें.

6. मासिक धर्म में स्वच्छता बनाए रखें : गुप्तांग की साफ सफाई प्रतिदिन रखनी चाहिए, लेकिन मासिक धर्म के दौरान यह और भी जरूरी हो जाता है. इन दिनों में होने वाली ऐंठन काफी परेशान करने वाली हो सकती है. यदि कोई महिला रोजाना साफ सफाई नहीं करती है और उचित समय पर सैनिटरी नैपकिन नहीं बदलती हैं, तो ऐसे में स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां हो सकती हैं.

myUpchar से जुड़ी डॉक्टर अर्चना निरुला का कहना है कि मासिक धर्म के दिनों में रोजाना हर 4-5 घंटे में सैनिटरी नैपकिन बदलना चाहिए. यह न सोचें कि यह अभी खराब नहीं हुआ है. एक ही पैड को लंबे समय इस्तेमाल करने से संक्रमण का खतरा रहता है.

7. कम करें चीनी का सेवन : चीनी का सेवन करना या चीनी के विकल्प जैसे गुड़ आदि का इस्तेमाल करने से हार्मोन को नियंत्रित रखने में मिलती है. यह डायबिटीज, हृदय रोगों और मोटापे के जोखिमों को कम कर सकता है.

8. थोड़ी धूप जरूरी : ज्यादा धूप में रहना त्वचा के लिए निश्चित रूप से अच्छा नहीं होता है, लेकिन शारीरिक विकास के लिहाज से धूप बड़ी भूमिका निभाता है. सूर्य का प्रकाश विटामिन डी का एक बहुत बड़ा स्रोत है, जिसके बिना शरीर कैल्शियम को अवशोषित नहीं कर सकता है. myUpchar के अनुसार, विटामिन डी युक्त खाद्य पदार्थों को खाने के अलावा 15 से 20 मिनट धूप लेना विटामिन डी की कमी को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है. रोजाना सूर्य की रोशनी में कुछ समय बिताने से विटामिन डी की कमी से होने वाली समस्याओं को रोका जा सकता है.

9. खुद के लिए निकाले थोड़ा समय : घर के किसी काम के लिए नहीं, बल्कि खुद के लिए थोड़ा-सा वक्त निकालना जरूरी है. इससे नई व अच्छी आदते विकसित होती हैं, साथ ही महिलाओं को यह भी पता चलता है कि उन्हें किस चीज में रुचि है.

10. जोखिम भरी आदतों से बचें : मॉर्डन शहरों में महिलाओं को सिगरेट पीते देखा होगा, लेकिन सिगरेट का इस्तेमाल किसी को नहीं करना चाहिए, फिर चाहे वे पुरुष हों या कोई महिला. इसके अलावा अल्कोहल युक्त पेय के सेवन से भी दूर रहें.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, महिला स्वास्थ्य पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज