ये हैं 8 सबसे प्रभावशाली आधुनिक योग गुरु

आइए एक नज़र डालते हैं उन 8 प्रसिद्ध योग गुरुओं पर जिन्होंने इस क्षेत्र में अमिट छाप छोड़ी है-

News18Hindi
Updated: July 27, 2019, 1:00 PM IST
ये हैं 8 सबसे प्रभावशाली आधुनिक योग गुरु
आइए एक नज़र डालते हैं उन 8 प्रसिद्ध योग गुरुओं पर जिन्होंने इस क्षेत्र में अमिट छाप छोड़ी है-
News18Hindi
Updated: July 27, 2019, 1:00 PM IST
5 हजार सालों से योग भारतीय संस्कृति का अभिन्न हिस्सा रहा है. दुनिया के सबसे प्राचीन ग्रंथों में से एक ऋगवेद में कहा गया है-

यस्माद्दते न सिध्यति यज्ञोविपश्चितश्चन|
                 स धीनां योगमिन्वति|

अर्थात, विद्वानों का कोई भी कर्म बिना योग के पूर्ण नहीं होता. प्राचीन काल से लेकर वर्तमान युग तक, योग का महत्व प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है. भारत की इस पूंजी की लोकप्रियता दूसरे देशों में भी बढ़ रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सलाह पर संयुक्त राष्ट्र ने एक प्रस्ताव पारित कर के 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने की बात कही थी. इस प्रस्ताव को करीब 175 देशों का समर्थन हासिल हुआ था. आइए आज एक नज़र डालते हैं उन 8 प्रसिद्ध योग गुरुओं पर जिन्होंने इस क्षेत्र में अमिट छाप छोड़ी है-

तिरुमलाई कृष्णमचार्य

इन्हें 'आधुनिक योग का जनक' भी कहा जाता है. योगगुरु कृष्णमचार्य आयुर्वेद और योग के विद्वान थे. वह 'विन्सासा पद्धति' और 'हठ का प्रतिद्वंद्वी' की खोज करने के लिए जाने जाते हैं. कहा जाता है कि वह अपने दिल की धड़कनों को नियंत्रित करने के साथ ही रोकने के भी सक्षम थे. 100 साल की उम्र में उनकी मृत्यु हुई थी.

महर्षी महेश योगी
Loading...

महर्षि महेश योगी ने शंकराचार्य की मौजूदगी में रामेश्वरम में 10 हजार बाल ब्रह्मचारियों को आध्यात्मिक योग और साधना की दीक्षा दी थी. हिमालय क्षेत्र में दो वर्ष का मौन व्रत करने के बाद सन् 1955 में ट्रांसेंडेंटल मेडिटेशन की शिक्षा देना आरम्भ की.

ट्रांसेंडेंटल मेडिटेशन में साधक शांत मन से अपने किसी गुरु या भगवान का मानसिक रूप से जप करता है. साथ ही आंखें बन्द करके विचार को आन्तरिक करता रहता है.

के पट्टाभी जोइस
के पट्टाभी जोइस ने 'अष्टांगयोग' की शुरुआत की थी. प्रख्यात सिंगर मडोना, अमेरिकन एक्ट्रेस ग्वेनेथ पाल्ट्रो अष्टांगयोग की प्रशंसक रही हैं. अष्टांगयोग के आठ अंग हैं- यम,नियम,आसन,प्राणायाम,प्रत्याहार,धारणा,ध्यान,समाधि.

जग्गी वासुदेव

इन्हें सद्गुरु के नाम से भी जाना जाता है. वासुदेव ने योग कक्षाओं के साथ उम्र कैद की सजा काट रहे कैदियों की मदद करने के लिए खुद को समर्पित कर दिया. वह 'ईशा फाउंडेशन' नाम का गैर-लाभकारी संगठन भी चलाते हैं. यह संगठन $ 2.5 मिलियन के शुद्ध राजस्व के साथ दुनिया भर में योग कार्यक्रम आयोजित करता है.

श्री श्री रवि शंकर

श्री श्री रवि शंकर द्वारा संचालित एनजीओ 'आर्ट ऑफ लिविंग फाउंडेशन' काफी चर्चित है. वह 'सुदर्शन क्रिया' के श्वास अभ्यास को लोकप्रिय बनाने के लिए प्रसिद्ध हैं, जो अध्ययनों के अनुसार तनाव को कम कर सकता है.

बाबा रामदेव

योग को मुख्यधारा में लाने के लिए बाबा रामदेव का किया योगदान कोई नहीं भुला सकता. रामदेव ने लोगों को बताया कि योग एक ऐसी चीज है जिसका अभ्यास कोई भी कर सकता है, केवल योगी नहीं. उन्होंने भारतीय चैनल आस्था पर अपने सुबह के योग टीवी कार्यक्रम से कापी प्रसिद्धि हासिल की है.

परमहंस योगानंद

योगगुरु परमहंस ने पश्चिमी देशों में 'मेडिटेशन' को लोकप्रिय करने में काफी काम किया है. योग की उनकी विधि, जिसे क्रिया के रूप में जाना जाता है - श्वास तकनीकों का उपयोग करती है.
बीकेएस आयंगर

नियमित योग करने वाले और इसमें दिलच्स्पी रखने वाले लोगों को 'आयंगर योग' के बारे में जरूर पता होगा. योगगुरु आयंगर ने ही इसकी खोज की थी. दुनिया भर में उनके लाखों अनुयायी थे और योग पर उनकी पुस्तक लाइट ऑन योगा, जिसे योग का बाइबिल भी कहा जाता है की तीन मिलियन से अधिक प्रतियां बिक चुकी हैं. वहीं 19 भाषाओं में इसका अनुवाद किया गया है.
First published: July 27, 2019, 1:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...