इम्यूनिटी को कमजोर बनाती हैं खाने की ये आदतें, इन फूड्स से रहें दूर

इम्यूनिटी को कमजोर बनाती हैं खाने की ये आदतें, इन फूड्स से रहें दूर
इम्यूनिटी को कमजोर बनाने वाले फूड्स से दूरी बना लेनी चाहिए.

जरूरी है कि कमजोर इम्यूनिटी (Weak Immunity) को बढ़ाने के लिए स्वस्थ जीवनशैली (Lifestyle) के साथ स्वस्थ आहार (Healthy Food) भी लें. लेकिन परेशानी का बात तो यह है कि लोग अपने आहार में कुछ ऐसी चीजें शामिल कर लेते हैं, जिससे इम्यूनिटी कमजोर होती है.

  • Last Updated: July 21, 2020, 6:45 AM IST
  • Share this:


कोरोना वायरस (Coronavirus) ने पूरी दुनिया में हलचल मचा दी है. कोविड-19 (Covid-19) संक्रमण से बचाव को लेकर यह कहा जा रहा है कि जिन लोगों की इम्यूनिटी (Immunity) यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है, वे इस संक्रमण से लड़ पाने में सक्षम होते हैं. मजबूत इम्यूनिटी होने से जल्दी ठीक होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं. myUpchar से जुड़े डॉ. अजय मोहन का कहना है कि कोरोना वायरस के लिए अभी तक कोई भी ऐसा टीका (Vaccine) नहीं बना है, जिससे इसकी रोकथाम हो सके. इसलिए जरूरी है कि लोग इम्यून सिस्टम के जरिए ही संक्रमण से बचाव करें.

myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि कई बार जाने-अनजाने में की गई बेहद साधारण सी दिखने वाली कुछ गलतियां भी इम्यून सिस्टम को कमजोर बना देती हैं और बीमारियों का जोखिम बढ़ जाता है. इसलिए जरूरी है कि कमजोर इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए स्वस्थ जीवनशैली के साथ स्वस्थ आहार भी लें. लेकिन परेशानी का बात तो यह है कि लोग अपने आहार में कुछ ऐसी चीजें शामिल कर लेते हैं, जिससे इम्यूनिटी कमजोर होती है. यहां जानिए इम्यून सिस्टम को नुकसान पहुंचाने वाली आहार संबंधी खराब आदतें :



सोने से पहले कैफीन
कैफीन का सेवन करना जरूरी नहीं कि इम्यून सिस्टम के लिए बुरा हो. लेकिन इसके सेवन से नींद में बाधा पैदा होती है तो यह इम्यूनिटी के लिए एक समस्या बन जाता है. ऐसा इसलिए है, क्योंकि इम्यून सिस्टम के अच्छी तरह से काम करने के लिए पर्याप्त नींद महत्वपूर्ण है. पर्याप्त नींद सुनिश्चित करती है कि हार्मोन ठीक से काम कर रहे हैं और शरीर में कम सूजन है, जो इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाता है. कॉफी केवल एक चीज नहीं है, जिसका सोने से पहले सेवन नहीं करना चाहिए. सोने से पहले कैफीन से भरपूर चीजों का सेवन करने से भी बचना चाहिए और उनमें शामिल है कैफीनयुक्त चाय, चॉकलेट और कुछ प्रोटीन बार.

फास्ट फूड

फास्ट फूड उच्च मात्रा में कैलोरी, फैट और सोडियम प्रदान करते हैं. इन खाद्य पदार्थों में विटामिन और मिनरल्स जैसे पोषक तत्व कम होते हैं. दूसरी ओर, ताजे फल और सब्जियों की तरह एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर खाद्य पदार्थ जो विटामिन सी जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, इम्यून सिस्टम को सपोर्ट करने में मदद करते हैं. ज्यादा फास्ट-फूड की खपत का मतलब है कि फलों और सब्जियों के साथ संतुलित भोजन खाने की संभावना कम है, जितना की जरूरी है.

प्रोसेस्ड फूड्स

कुछ प्रोसेस्ड फूड्स 'प्राकृतिक' होने का दावा करते हैं, लेकिन इसमें काफी मात्रा में चीनी, रिफाइन्ड कार्ब्स और एडिटिव्स और प्रिजर्वेटिव्स होते हैं जो सूजन से जुड़े होते हैं. उच्च स्तर की सूजन इम्यून सिस्टम को कमजोर कर सकती है.

रिफाइन्ड फूड्स

रिफाइन्ड फूड्स खाना मतलब इम्यून सिस्टम से समझौता हो सकता है और आंतों के सूक्ष्मजीव और महत्वपूर्ण कोलेजन बैक्टीरिया में असंतुलन पैदा कर सकते हैं. रिफाइन्ड फूड्स में मैदा, सफेद ब्रेड, चीनी आदि शामिल हैं.

शराब या धूम्रपान

शराब या धूम्रपान के सेवन से भी इम्यूनिटी सिस्टम खराब होता है. इसलिए जितना जल्दी हो सके, ऐसी चीजों से दूरी बना लें.

रिफाइनरी ऑयल

यदि खाना बनाने में बार-बार एक ही तेल का इस्तेमाल करते हैं तो ये सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है. इस तरह का तेल इम्यून सिस्टम को खराब करता है. अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, ओवरी हाइपरस्टीमुलेशन सिंड्रोम क्या है, लक्षण, कारण, बचाव और इलाज पढ़ें.न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज