Home /News /lifestyle /

गर्मी के मौसम में बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए अपनाएं ये 7 खास टिप्स

गर्मी के मौसम में बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए अपनाएं ये 7 खास टिप्स

बच्‍चों में डिप्रेशन के लक्षणों को अनदेखा न करें.

बच्‍चों में डिप्रेशन के लक्षणों को अनदेखा न करें.

गर्मियों का मौसम वैसे भी तेज धूप, गर्म हवाओं, ह्यूमीडिटी (Humidity), इंफेक्शन (Infection) और कई तरह की बीमारियों से जुड़ा है. ऐसे में बच्चों के लिए गर्मी का मौसम स्वस्थ तरीके से कैसे बिताया जाए, यह समझना जरूरी है.

  • Myupchar
  • Last Updated :
    गर्मी का मौसम (Summer Season) बदलता है तो माता-पिता (Parents) को वैसे भी बच्चों की हेल्थ (Health) की चिंता सताती है. उसमें भी गर्मी का मौसम एक अलग तरह की चिंता खड़ी करता है. गर्मियों का मौसम वैसे भी तेज धूप, गर्म हवाओं, ह्यूमीडिटी (Humidity), इंफेक्शन (Infection) और कई तरह की बीमारियों से जुड़ा है. ऐसे में बच्चों के लिए गर्मी का मौसम स्वस्थ तरीके से कैसे बिताया जाए, यह समझना जरूरी है. यहां ऐसे 7 टिप्स बता रहे हैं, जिससे बच्चों को गर्मी के मौसम में स्वस्थ रखने में मदद मिलेगी

    हाईड्रेशन
    myUpchar से जुड़े डॉ. प्रदीप जैन का कहना है कि गर्मी के दिनों का मतलब होता है बहुत अधिक पसीना. यदि वह दिन में पर्याप्त मात्रा में लिक्विड नहीं पीता है तो पसीने की वजह से बच्चा आसानी से डिहाइड्रेटेड हो सकता है. खेलते समय अधिक पसीना आने से या बार-बार पेशाब आने से भी बच्चों के शरीर में पानी की कमी हो जाती है. अकेले पीने का पानी हमेशा पर्याप्त नहीं हो सकता है. इसीलिए दिन बहुत गर्म होने से पहले बच्चे के आहार में तरल पदार्थ जैसे दूध, स्मूदी, फलों के जूस आदि शामिल करें. गर्म दिनों की शुरुआत में ही वे हाइड्रेटेड रहेंगे और बीमारियों से लड़ सकेंगे.

    अच्छी नींद
    रात की अच्छी नींद कई समस्याओं को दूर रख सकती है और बच्चे को हेल्दी, एनर्जेटिक और एक्टिव होने में मदद कर सकती है. हालांकि, गर्मियों के दौरान बच्चे अक्सर रात को अच्छी तरह से नहीं सोते हैं. यह हाई टेम्प्रेचर, ह्यूमिडिटी, असुविधाजनक बिस्तर और बहुत कुछ के कारण हो सकता है. रात में कम नींद बच्चे की इम्यूनिटी को प्रभावित कर सकती है और गर्मी व हाई टेम्प्रेचर के प्रभाव के कारण उसे ज्यादा सेंसेटिव बना सकती है. इसीलिए यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि बच्चे को हर रात पर्याप्त नींद मिले. इसके लिए उनके सोने का समय निश्चित करें, कमरे में कम रोशनी रखें, सोने से पहले टीवी न देखने दें. तेल मालिश से भी अच्छी नींद आ सकती है.

    सही आहार
    यदि बच्चे बहुत अधिक तैलीय और तला हुआ भोजन करते आए हैं तो उसे बदलने का समय आ गया है. गर्मी के मौसम में तैलीय, तले हुए फूड बिल्कुल भी सही नहीं हैं. myUpchar के डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि गर्मियों में वैसे भी ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए, जो पचाने में आसान हो और बहुत अधिक और तेलयुक्त न हो. ऐसे खाद्य पदार्थों को हरी सब्जियों और सलाद के साथ बदलें. ऐसे आहार को भी जोड़ सकते हैं जो पेट को शांत कर सकते हैं और शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ा सकते हैं. गर्मी के दिनों में फलों का सेवन भी किया जाना चाहिए, क्योंकि वे शरीर को तरल पदार्थ के साथ-साथ महत्वपूर्ण पोषक तत्व भी देते हैं.

    आरामदायक कपड़े
    एक और कारण है कि बच्चे अक्सर गर्मी के दिनों में परेशान होते हैं और वह उनके कपड़ों के कारण होता है जो वे पहनते हैं. चूंकि, इस दौरान पसीना आना आम है, इसलिए बच्चे के कपड़े ऐसे होने चाहिए कि पसीना जल्दी से निकल जाए. गर्मियों के दौरान कपड़ों के लिए कॉटन अच्छा होता है, यह त्वचा के लिए हल्का होता है और सांस लेने योग्य भी होता है. बच्चे किस रंग के कपड़े पहन रहे हैं यह भी जरूरी है. गर्मी के दिनों में हल्के रंग के कपड़े पहनने चाहिए. इससे हानिकारक यूवी किरणों को दूर रख सकते हैं और बच्चे को स्वस्थ रख सकते हैं.

    दिन में 2-3 बार नहलाएं
    बच्चा पूरे साल पुरानी खांसी और सर्दी से पीड़ित नहीं रहता है तो उसे दिन में 2 बार 3 बार नहलाना ठीक रहेगा. हालांकि, स्नान पूरे दिन के अंतराल में होना चाहिए ना कि 2-3 घंटे के छोटे अंतराल पर. बच्चे को सुबह जल्दी, दिन में और शाम को या सोने से पहले स्नान देना सबसे अच्छा है. यह उनके शरीर में गर्मी को नियंत्रित करेगा और उन्हें शांत रखेगा. इससे अतिरिक्त गर्मी के दुष्प्रभावों की चिंता नहीं होगी.

    एक्टिव रखें
    गर्मियों में स्कूल की छुट्टियां होती हैं तो इसका मतलब नहीं है कि बच्चें पूरे समय घर में आलसी बनकर लेटे रहें या टीवी या मोबाइल पर कार्टून देखते रहें. बच्चों के शेड्यूल को व्यस्त रखना जरूरी है. बाहर नहीं जा सकते हैं तो कई इनडोर गेम्स खेल सकते हैं. घर के कामों में हाथ बंटा सकते हैं. वरना एक्टिविटी क्लास भी अच्छा आइडिया है.

    सनस्क्रीन लगाएं
    सनस्क्रीन्स केवल एडल्ट के लिए नहीं है. बच्चे भी उन्हें यूज कर सकते हैं. सनस्क्रीन्स बच्चों की सेंसेटिव स्किन को सूर्य से निकलने वाली हानिकारक किरणों से बचाती है. घर से निकलने से पहले या घर में हो तब भी सनस्क्रीन यूज करना चाहिए, ताकि उनकी त्वचा प्रभावित न हो.

    अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, गर्मी लगना क्या होता है, इसके लक्षण और इलाज पढ़ें.

    न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.undefined

    Tags: Health, Lifestyle, News18-MyUpchar

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर