होम /न्यूज /जीवन शैली /Heart disease prevention: चाहते हैं हार्ट अटैक कभी न हो, तो कीजिए सिर्फ एक काम, हमेशा के लिए टेंशन फ्री रहेंगे

Heart disease prevention: चाहते हैं हार्ट अटैक कभी न हो, तो कीजिए सिर्फ एक काम, हमेशा के लिए टेंशन फ्री रहेंगे

हार्ट अटैक के जोखिम एक साधारण सी आदत से कम किया जा सकता है. Image; Canva

हार्ट अटैक के जोखिम एक साधारण सी आदत से कम किया जा सकता है. Image; Canva

Heart attack prevention: दुनिया में जिस तरह से हार्ट अटैक के मामले बढ़ रहे हैं, वह चिंता का विषय है. ऐसे में हार्ट अटैक ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अध्ययन में कहा गया है कि हार्ट अटैक के जोखिम एक साधारण सी आदत से कम किया जा सकता है
हार्ट डिजीज की शुरुआत आमतौर पर हाइपटेंशन यानी हाई ब्लड प्रेशर से होती है

Heart attack prevention tips: हार्ट अटैक आज बहुत बड़ी समस्या बन गई है. कम उम्र में भी लोग हार्ट अटैक का शिकार हो रहे हैं. डब्ल्यूएचओ के मुताबिक दुनिया भर में करीब 1.28 अरब लोगों का बीपी बढ़ा हुआ है लेकिन दुर्भाग्य से इनमें से 46 प्रतिशत को पता भी नहीं है कि उन्हें ब्लड प्रेशर की बीमारी है. यही कारण है कि अनियंत्रित ब्लड प्रेशर की वजह से हार्ट अटैक के मामले बढ़ रहे हैं. हार्ट अटैक से बचने के लिए शुरू से ही एहतियात बरतनी जरूरी है. इसके लिए एक हालिया अध्ययन में कहा गया है कि हार्ट अटैक के जोखिम एक साधारण सी आदत से कम किया जा सकता है. इसके लिए बस खाने में कम नमक मिलाने की जरूरत है.

इसे भी पढ़ें- Diabetes care: डायबिटीज में अगर बढ़ती है मीठा खाने की चाहत, तो इन 5 फूड को करें ट्राई

हार्ट फेल्योर और इश्चेमिक हार्ट डिजीज का जोखिम भी कम
एएनआई  की खबर के मुताबिक जर्नल ऑफ अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि भोजन में अगर किफायत से नमक को मिलाया जाए तो भविष्य में हार्ट अटैक के खतरे को बहुत कम किया जा सकता है. इससे हार्ट फेल्योर और इश्चेमिक हार्ट डिजीज का जोखिम भी कम हो जाता है. अध्ययन के मुताबिक जो लोग हाइपरटेंशन डाइट को फॉलो कर रहे हैं, वे भी अगर खाने में कम नमक का सेवन करें, तो उनमें भी हार्ट डिजीज या हार्ट अटैक का खतरा बहुत कम हो जाता है.

अतिरिक्त नमक नहीं खाने के कई फायदे
अध्ययन में कहा गया है कि हार्ट डिजीज की शुरुआत आमतौर पर हाइपटेंशन यानी हाई ब्लड प्रेशर से होती है. हाई ब्लड प्रेशर का सीधा संबंध अत्यधिक सोडियम खुराक से जोड़ा गया है. हालांकि लंबे समय तक सोडियम लेने के निर्धारण संबंधी तकनीकी की कमी है, इसलिए महामारी विज्ञान के अध्ययन में इसे निर्धारित करने के लिए विरोधाभाषी परिणाम सामने आते हैं. हालांकि हालिया अध्ययन से यह जाना जा सकता है कि किसी व्यक्ति ने अपने भोजन में कितनी जल्दी-जल्दी नमक का सेवन करते हैं.

तुलाने यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर लू क्वी ने बताया कि जो लोग अपने भोजन में थोड़ा भी अतिरिक्त नमक नहीं मिलाता है, चाहे उसका लाइफस्टाइल कैसा भी हो, उसे हार्ट डिजीज या हार्ट अटैक का खतरा बहुत कम हो जाता है. इसके अलावा अध्ययन में यह भी पाया गया कि जो लोग हाइपरटेंश डाइट को फॉलो कर रहे हैं और यदि वही व्यक्ति अतिरिक्त नमक का सेवन नहीं कर रहा है, तो उसमें हार्ट डिजीज का खतरा और अधिक टल जाता है. यह अध्ययन करीब 1.76 लाख लोगों के हेल्थ संबंधी आंकड़ों पर आधारित है.

Tags: Health, Health tips, Heart attack, Lifestyle

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें