Home /News /lifestyle /

try 4 7 8 breathing technique to get bette sleep at night in hindi

रात में घंटों नहीं आती है नींद, तो ट्राई करें 4-7-8 ब्रीदिंग टेक्निक, मिनटों में सो जाएंगे आप

सोने के दौरान कुछ भी न सोचें - image/canva

सोने के दौरान कुछ भी न सोचें - image/canva

दिनभर की थकान के बाद भी कई लोगों को रात में नींद न आने की समस्या होती है. अगर आप भी उन्हीं में से एक हैं, तो आपको ब्रीडिंग 4-7-8 ब्रीदिंग टेक्निक को फॉलो करना चाहिए. इसे कैसे कर सकते हैं आज हम आपको बताते हैं.

हाइलाइट्स

सांसों के आने-जाने पर ध्यान दें, नींद जल्दी आएगी
अगर आप 4-78 ब्रीदिंग पैटर्न फॉलो नहीं कर पा रहे हैं, तो मेडिटेशन करें

Technique For Better Sleep–  नींद जल्दी आ जाए इसके लिए कई लोग एक से सौ तक गिनती गिनते हैं, गाने सुनते हैं, अपने दिमाग में आने वाले ख्यालों को नज़रअंदाज़ करते हैं. इतनी कोशिशों के बाद भी कई बार नींद का अता-पता नहीं होता. हम सब जानते हैं कि अच्छी नींद हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है. ऐसी स्थिति में 4-7-8 ब्रीदिंग टेकनीक आपके काम आ सकती है. सोने से जुड़ा यह उपाय एक योगिक टेक्निक पर आधारित है, जो सांस लेने के प्रोसेस पर कंट्रोल करने में मदद करती है.

इस टेकनीक को रूटीन में शामिल किया जाए, तो मिनटों में नींद आ सकती है. इस टेक्निक को अपनाकर ब्रीदिंग प्रॉब्लम में भी काफी आराम मिलता है. सांस लेने और छोड़ने का यह तरीका आपके शरीर का तनाव कम करने में भी मदद करेगा. आइए जानते हैं क्या है 4-7-8 ब्रीदिंग टेकनीक जिसकी प्रैक्टिस कर आप भी चैन की नींद ले सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: Sound Sleep Benefits: अच्छी और गहरी नींद लेने के ये हैं 5 बड़े फायदे

क्या है 4-7-8 ब्रीदिंग टेकनीक
हेल्थलाइन के अनुसार ब्रीदिंग टेकनीक को शरीर को रिलेक्स करने के लिए डिजाइन किया गया है. इस पैटर्न में कुछ देर के लिए सांसों को रोका जाता है. इसकी मदद से शरीर में पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन पहुंचता है. 4-7-8 टेकनीक मन और शरीर को रिलेक्स कर सांस पर कंट्रोल करने ​पर फोकस कराती है.

प्रेक्टिस से जुड़ी अहम बातें
इस टेकनीक को करते समय मन और दिमाग को शांत रखें. सीधे लेट जाएं और अपना चेहरा सीलिंग की ओर रखें. सांस लेते समय अपनी जीभ को एक ही जगह रखें. इस स्थिति को 4-5 बार दोहराइए या तब तक करें जब तक की नींद न आ जाए. यह प्रक्रिया कुछ लोगों के लिए मुश्किल हो सकती है, लेकिन प्रेक्टिस करने से आप जल्द इसे कर पाएंगे.

ये भी पढ़ें:  बेहद सामान्य होते हैं कैंसर के शुरुआती लक्षण, इन्हें इग्नोर करना हो सकता है खतरनाक

सांस लेने की ऐसे करें प्रक्टिस

– सबसे पहले अपने होठों को थोड़ा खोलें और हल्की आवाज़ निकालें.
– इस दौरान अपने मुंह से पूरी तरह से सांस छोड़ें.
 इसके बाद, अपने होठों को बंद करें और सांस लेते हुए मन में 4 तक गिनें.
 फिर 7 सेकेंड तक सांस को रोककर रखें.
 8 वां सेकेंड शुरू होने पर अपने मुंह से एक बार में ही सांस बाहर निकाल दें.

4-7-8 ब्रीदिंग टेकनीक के फायदे

ब्रीदिंग टेकनीक में सुधार
मन और दिमाग शांत होता है
एकाग्रता बढ़ती है
स्लीपिंग पैटर्न बेहतर होता है
 हाई बीपी कंट्रोल करने में मदद मिलती है
 शरीर रिलेक्स होता है

अगर आपको नींद नहीं आती है या स्लीपिंग पैटर्न डिस्टर्ब रहता है, तो एक्सपर्ट से मिलकर इसकी वजह जानें.

Tags: Better sleep, Health, Lifestyle

अगली ख़बर