कहीं आप भी तो नहीं हैं काउच पोटैटो ? ऐसे करें ये बीमारी दूर

News18Hindi
Updated: October 13, 2017, 9:53 AM IST
कहीं आप भी तो नहीं हैं काउच पोटैटो ? ऐसे करें ये बीमारी दूर
लाइफस्टाइल हो स्वस्थ
News18Hindi
Updated: October 13, 2017, 9:53 AM IST
‘काउच पोटैटो’ नाम तो सुना ही होगा, वही जो सोफे पर पसरकर, चिप्स-पॉपकॉर्न खाते हुए टीवी देखता रहता है. क्या आप भी ऐसा करते हैं! अगर हां तो संभल जाएं क्योंकि ये आदत मस्तिष्क में स्थायी बदलाव कर देती है और याददाश्त, कल्पनाशक्ति कमजोर हो जाती है. इसके अलावा ऐसे लोगों में एसोसिएटेड बीमारियां भी हो जाती हैं. इनमें डायबिटीज, तनाव, रक्तचाप, दिल की बीमारियां, हडि्डयों का कमजोर होना, स्पॉन्डियोलाइटिस जैसे रोग आम हैं.

खतरे की घंटी
सोफे पर पसरकर टीवी देखना भला किसे नहीं सुहाता. दफ्तर से लौटकर ये लगभग सभी का पार्टटाइम शगल बन चुका है लेकिन अगर रोज आप टीवी के सामने दो घंटे भी बैठते हैं और घर या दफ्तर में काफी वक्त कंप्यूटर के सामने बिताते हैं तो आप खतरे के दायरे में हैं.

फिजिकल एक्टिविटी के अभाव में शरीर कमजोर हो जाता है और ये सबसे पहले बीमारी से लड़ने की क्षमता पर असर डालता है. डॉक्टरों का मानना है कि स्क्रीन टाइम जितना अधिक होगा, बीमारियों का डर उतना ही ज्यादा होगा. खासकर रात में सोने से तीन से चार घंटे पहले ही किसी भी तरह की स्क्रीन से दूरी बना लें ताकि अच्छी नींद ले सकें.

अपनाएं ये तरीके
कुछ आसान से उपाय आपको काउच पोटैटो की श्रेणी में आने से बचा सकते हैं. अगर पहले से ही आप इस श्रेणी में आ चुके हों तो सबसे पहले अपनी डाइट प्लान करें. कम कैलोरी और अधिक प्रोटीन वाली डाइट लें. हरी सब्जियां और फल अधिक लें. इसके लिए डायटीशियन की मदद भी ले सकते हैं.

सुबह-शाम वक्त निकालकर वॉक, योग, एरोबिक्स, या जिम एक्सरसाइज करना शरीर को टोन करेगा. दफ्तर में काम करते वक्त हर एक घंटे में उठकर 5 मिनट वॉक करें. इन सबसे साथ आपका विल पावर भी बहुत जरूरी है. टीवी देखने का वक्त कम कर दें. न्यूज या कोई पसंदीदा प्रोग्राम देखना ही हो तो कोई फिजिकल एक्टिविटी करते हुए भी देख सकते हैं.
First published: October 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर