होम /न्यूज /जीवन शैली /

नेचुरल तरीकों से कोलेस्ट्रॉल लेवल कर सकते हैं कंट्रोल, बस अपनाएं ये 6 टिप्स

नेचुरल तरीकों से कोलेस्ट्रॉल लेवल कर सकते हैं कंट्रोल, बस अपनाएं ये 6 टिप्स

कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए हर दिन एक्सरसाइज करें. ( image-canva)

कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए हर दिन एक्सरसाइज करें. ( image-canva)

कोलेस्ट्रॉल हमारी बॉडी के लिए ज़रूरी है, लेकिन ज्यादा कोलेस्ट्रॉल स्ट्रोक और किडनी फेलियर की वजह बन जाता है. ऐसे में नियमित एक्सरसाइज और हेल्दी डाइट से इसे कंट्रोल रखा जा सकता है.

हाइलाइट्स

फल और सब्जियां खाने से शरीर में गुड कोलेस्ट्रोल इंप्रूव होता है.
अनसैचुरेटेड फैट्स का सेवन करने से कोलेस्ट्रोल कंट्रोल रहता है.

Natural Ways to Control Cholesterol: कोलेस्ट्रॉल शरीर के लिए बहुत जरूरी होता है, जो हार्मोन्स बनाने और सैल वॉल्स को फ्लैक्सिबल रखने जैसे ज़रूरी कामों में मदद करता है. वहीं बॉडी में कोलेस्ट्रॉल ज्यादा बढ़ने पर ये हार्ट अटैक, किडनी फेलियर और स्ट्रोक जैसी बड़ी समस्याओं का खतरा बढ़ा सकता है. अनहेल्दी लाइफस्टाइल या कभी कभी जैनेटिक कारणों से ये समस्या पैदा हो सकती है. कोलेस्ट्रॉल लिपोप्रोटीन के साथ बॉडी में सर्कुलेट होते हैं. एलडीएल कोलेस्ट्रॉल ब्लड वेसल्स में जमने से ब्लड सर्कुलेशन को रोककर सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है. इसीलिए ज़रूरी है कि बॉडी में कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल करने के लिए एचडीएल कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ाई जाए. आइए कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने के कुछ नेचुरल तरीके जान लेते हैं.

नियमित एक्सरसाइज
हेल्थलाइन के अनुसार
 एक्सरसाइज करने से हमारी बॉडी फंक्शनिंग सुधरती है जिससे कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल होता है. हल्की फुल्की एक्सरसाइज भी हार्ट हेल्थ सुधार सकती है और हमें कोलेस्ट्रॉल के खतरे से बचा सकती है.

यह भी पढ़ेंः क्या आपके शरीर में बढ़ गया है बैड कोलेस्ट्रॉल? डॉक्टर ने बताए लक्षण

सॉल्यूबल फाइबर का सेवन
सेम, मटर, दाल, फल और दूसरे होल ग्रेंस सॉल्यूबल फाइबर के अच्छे सोर्स हैं. इनका सेवन प्रोबायोटिक गट बैक्टीरिया को पोषण देता है जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को बॉडी से बाहर निकालने में मदद करता है.

मोनोअनसैचुरेटेड फैट्स का सेवन
जैतून का तेल, कैनोला तेल, ट्री नट्स, और एवोकाडो जैसे मोनोअनसैचुरेटेड फैट्स का सेवन एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करता है, साथ ही एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में भी मदद करता है जिससे सही कोलेस्ट्र\ल लेवल मेंटेन रहता है.

पॉलीअनसैचुरेटेड फैट्स का सेवन
वैसे तो सभी पॉलीअनसेचुरेटेड फैट हेल्दी होते हैं पर ओमेगा-3 ऐसा पॉलीअनसेचुरेटेड फैट है जो हार्ट हेल्थ को भी मज़बूत करता है, जिससे पूरी बॉडी हेल्दी बनती है.

यह भी पढ़ेंः कोल्ड ड्रिंक की कैन में 10 चम्मच चीनी? कहीं डायबिटीज का शिकार न हो जाएं

हेल्दी वेट
वजन कम करना मतलब कोलेस्ट्रॉल कम करना. वजन घटाने से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल कम होता है और बढ़ता है एचडीएल यानी अच्छा कोलेस्ट्रॉल.

ट्रांस फैट से दूरी बनाएं
ट्रांस फैट का हमारी बॉडी में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है, साथ ही एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करता है जिससे बॉडी का कोलेस्ट्रॉल लेवल बिगड़ जाता है और सेहत के लिए खतरनाक साबित हो सकता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

अगली ख़बर