होम /न्यूज /जीवन शैली /युवाओं को 1.5 डायबिटीज का खतरा ज्यादा ! जानें इससे जुड़ी जरूरी बातें

युवाओं को 1.5 डायबिटीज का खतरा ज्यादा ! जानें इससे जुड़ी जरूरी बातें

टाइप 1.5 डायबिटीज खतरनाक हो सकती है. (Image Canva)

टाइप 1.5 डायबिटीज खतरनाक हो सकती है. (Image Canva)

हाल के कुछ सालों में टाइप 2 के साथ ही टाइप 1.5 डायबिटीज मरीजों की संख्‍या भी काफी बढ़ी है. 1.5 टाइप डायबिटीज अन्‍य डायब ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

टाइप 1.5 डायबिटीज की पहचान करना मुश्किल होता है.
लाइफस्टाइल में बदलाव से इस बीमारी में राहत मिलती है.

Type 1.5 Diabetes: डायबिटीज की जब भी बात होती है तो अक्‍सर टाइप 1 या टाइप 2 का ही सबसे ज्‍यादा उल्‍लेख किया जाता है. डायबिटीज का एक और प्रकार है, जिसे टाइप 1.5 डायबिटीज कहा जाता है. हाल के कुछ सालों में टाइप 2 के साथ ही टाइप 1.5 डायबिटीज मरीजों की संख्‍या भी काफी बढ़ी है. 1.5 टाइप डायबिटीज अन्‍य डायबिटीज की तुलना में ज्‍यादा खतरनाक है. टाइप 1 और टाइप 2 की तरह टाइप 1.5 डायबिटीज का पता आसानी से नहीं चलता है. कई बार टाइप 1.5 डायबिटीज की पहचान में देरी होने से मरीज की कंडीशन गंभीर हो जाती है. टाइप 1.5 डायबिटीज अधिकतर युवाओं में हो सकती है, जिसका समय पर इलाज बेहद जरूरी है. टाइप 1.5 डायबिटीज के बारे में विस्‍तार से जान लेते हैं.

क्‍या है 1.5 टाइप डायबिटीज
हेल्‍थलाइन के मुताबिक
टाइप 1.5 डायबिटीज लेटेंट ऑटोइम्‍यून डायबिटीज ऑफ एडल्‍टहुड यानी LADA है. वर्तमान में 1.5 टाइप डायबिटीज से बचने का कोई रास्‍ता नहीं है. टाइप 1 डायबिटीज की तरह ही टाइप 1.5 डायबिटीज में जेनेटिक फैक्‍टर महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. जल्‍दी और सही डायग्‍नोसिस और सिम्‍पटन मैनेजमेंट ही टाइप 1.5 डायबिटीज का उपचार है.



नॉर्मल डायबिटीज से है खतरनाक
टाइप 1.5 डायबिटीज नॉर्मल डायबिटीज से बहुत ज्‍यादा खतरनाक है. टाइप 1.5 डायबिटीज होने पर सीधा असर आंखों और दिल पर होता है. इस बीमारी का सबसे बड़ा खतरा ये है कि इसका पता आसानी से नहीं लगाया जा सकता. टाइप 1.5 डायबिटीज का सही समय पर पता न चल पाने की वजह से इसका इलाज भी समय रहते शुरू नहीं किया जा सकता. टाइप 1.5 डायबिटीज को LADA के नाम से भी जाना जाता है. ज्‍यादातर मामलों में टाइप 1.5 डायबिटीज युवाओं को होती है. कई मामलों में टाइप 1.5 डायबिटीज की वजह से आंखों की रोशनी भी चली जाती है.

यह भी पढ़ेंः डायबिटीज समेत कई बीमारियों की वजह बन सकता है इंसुलिन रेजिस्टेंस

टाइप 1.5 डायबिटीज कारण
टाइप 1.5 डायबिटीज होने की प्रमुख वजह खराब लाइफस्‍टाइल और गलत खान-पान की आदत है. टाइप 1.5 डायबिटीज में शरीर के बीटा सेल्‍स काम करना बंद कर देते हैं. एक अनुमान के मुताबिक डायबिटीज के कुल मरीजों में से करीब 10 प्रतिशत मरीज टाइप 1.5 डायबिटीज के शिकार होते हैं.

यह भी पढ़ेंः कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल कर सकता है एल्कोहल ! आप तो नहीं कर रहे यह गलती

टाइप 1.5 डायबिटीज लक्षण
– बार-बार यूरिन आना रात
– तेजी से वजन कम होना
– आंखों की रोशनी कम होना
– बहुत ज्‍यादा प्‍यास लगना

Tags: Diabetes, Health, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें