होम /न्यूज /जीवन शैली /क्या होता है नर्वस स्टमक, कहीं आपको भी तो ये समस्या नहीं, जानिए लक्षण

क्या होता है नर्वस स्टमक, कहीं आपको भी तो ये समस्या नहीं, जानिए लक्षण

क्या है नर्वस स्टमक, Image-Canva

क्या है नर्वस स्टमक, Image-Canva

What is a nervous stomach - नर्वस स्टमक यानी तनाव के चलते पाचन तंत्र खराब हो जाना. हालांकि लोग इसका इलाज नहीं करवाते और ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

नर्वस स्टमक में तनाव की अधिकता के चलते पेट खराब होता है
कोई अनचाही खबर सुनना या किसी खास मौके से पहले नर्वस स्टमक हो सकता है.

What is a nervous stomach – शरीर में पेट से जुड़ी कई तरह की बीमारियां होती हैं लेकिन नर्वस स्टमक (Nervous Stomach) को लोग सही से समझ नहीं पाते हैं. आखिर स्टमक यानी पेट कैसे नर्वसनेस (तनाव) का शिकार हो सकता है. लेकिन ये सच है, आजकल लोगों में नर्वस स्टमक की काफी परेशानी देखी जा रही है. हालांकि ये इसके लक्षण इतने सामान्य होते हैं कि लोग गौर नहीं करते और ना ही इसका इलाज करने का प्रयास करते हैं. नर्वस स्टमक की बात की जाए तो यह ऐसी स्थिति है जब व्यक्ति तनाव में होता है तो उसका पाचन तंत्र सही से काम नहीं करता और इसका परिणाम ये निकलता है कि पेट खराब हो जाता है. यानी जब कोई ज्यादा तनाव और इमोशन का शिकार होता है तो उसके डाइजेशन सिस्टम पर इसका असर दिखता है.

नर्वस स्टमक के लक्षण
मेडिकल न्यूज़ टुडे के मुताबिक नर्वस स्टमक के कुछ सामान्य लक्षण दिखते हैं, जैसे पेट में तितलियां सी उड़ना, बार-बार जी मिचलाना, अचानक गैस बनने लगना, अचानक दस्त लग जाना, पेट में दर्द, मरोड़ उठना और पेट का सख्त हो जाना, अचानक गुस्सा आना, ज्यादा यूरिन आना और यूरिन की फ्रीक्वेंसी बढ़ जाना.

किन किन परिस्थितियों में होता है नर्वस स्टमक
-एकाएक कोई बुरी खबर सुनना या कोई अच्छी खबर सुनना
-परीक्षा और परीक्षा परिणाम से पहले का वक्त
-रिलेशनशिप या फैमिली से संबंधित कोई शॉकिंग खबर
-नई नौकरी या बिजनेस ज्वाइन करने से ऐन पहले का वक्त
-कोई राज खुलने का संकेत मिलना

नर्वस स्टमक से कैसे डील करना चाहिए
हेल्थलाइन के मुताबिक नर्वस स्टमक कभी भी हो सकता है, क्योंकि ये दिमाग और भावनाओं से कनेक्ट मसला है इसलिए इसे रोक पाना तो संभव नहीं, लेकिन इससे डील करना हर किसी को आना चाहिए.
लेकिन अगर नर्वस स्टमक की स्थिति गंभीर होती है तो थैरेपी और मेडिकेशन की मदद ली जाती है. मनोचिकित्सक व्यक्ति को तनाव से डील करना सिखाते हैं जिससे तनाव का असर शरीर के अन्य अंगों पर पड़ने की आशंका कम होती है.
कई बार जब नर्वस स्टमक होता है तो डॉक्टर तनाव कम करने की दवा लिखते हैं जिससे एंग्जाइटी कम होती है और तनाव कम होने लगता है.
-डाइट में आसान बदलाव करके भी नर्वस स्टमक की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है. जैसे अदरक का सेवन करना, अदरक की चाय या पिपरमेंट ऑयल की मसाज करने से तनाव कम होता है और पाचन तंत्र भी दुरुस्त हो जाता है.
नर्वस स्टमक की समस्या के समय कैफीन और चॉकलेट जैसे पदार्थों का सेवन करने से बचें.
– इसके अलावा डीप ब्रीदिंग, गाने सुनना और किसी अच्छी किताब को पढ़ना भी नर्वसनेस को दूर करने में कारगर साबित हो सकता है.

ये भी पढ़ें: हाई ब्लड शुगर को कम करने में सहायक है मेथी दाना, जानें कब खाने से होगा ज्यादा फायदा

ये भी पढ़ें: यूरिक एसिड पेशेंट के लिए अंडे का सेवन करना सेफ है या नहीं? यहां जानें इसके फायदे-नुकसान

Tags: Health, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें