होम /न्यूज /जीवन शैली /Hair Transplant and Precautions: क्या है हेयर ट्रांसप्लांट? सर्जरी कराने के बाद इन बातों का रखें विशेष ध्यान

Hair Transplant and Precautions: क्या है हेयर ट्रांसप्लांट? सर्जरी कराने के बाद इन बातों का रखें विशेष ध्यान

गंजेपन से छुटकारा पाने के लिए लोग हेयर ट्रांसप्लांट का सहारा ले रहे हैं.

गंजेपन से छुटकारा पाने के लिए लोग हेयर ट्रांसप्लांट का सहारा ले रहे हैं.

Types of Hair Transplant and Precautions : गंजेपन की समस्या कई वजहों से होती है कई बार हमारी आदतों के कारण हमें यह दिक् ...अधिक पढ़ें

Types of Hair Transplant and Precautions : हमारे चेहरे की सुंदरता में हमारे बालों का बहुत योगदान होता है अगर बाल नहीं होते तो चेहरा काफी अजीब लगता है. हर कोई घने बाल चाहता है चाहता है लेकिन इस भागदौड़ भरी जिंदगी में हमारी लाइफस्टाइल तेजी से बदली है. हमारा खानपान भी काफी बदल गया है और इस सबका बालों पर बहुत असर पड़ा है. गंजेपन की समस्या का सामना महिलाएं और पुरुष दोनों ही कर रहे हैं लेकिन पुरुषों में यह समस्या कुछ ज्यादा नजर आती है.

गंजेपन की समस्या कई वजहों से होती है कई बार हमारी आदतों के कारण हमें यह दिक्कत होती है तो कई बार हमें आनुवांशिक तौर पर गंजापन मिल जाता है. बाल न होने की वजह से हम समय से पहले ही बूढ़े नजर आने लगते हैं. हेल्थलाइन की खबर के अनुसार पिछले कुछ वक्त में गंजेपन की समस्या से राहत पाने के लिए लोगों में हेयर ट्रांसप्लांट के प्रति तेजी से आकर्षण बढ़ा है. आइए जानते हैं कि आखिर हेयरट्रांसप्लांट क्या है, इसकी कितनी लागत होती है और इसे करवाने के बाद कौन कौन सी सावधानियां बरतनी चाहिए.

क्या है हेयर ट्रांसप्लांट
अगर आपके सिर के बाल झड़ गए हैं और आप गंजे दिखने लगे हैं तो आप हेयरट्रांसप्लांट के जरिए गंजेपन वाली जगह पर दोबारा बाल पा सकते हैं. हेयर ट्रांसप्लांट एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें प्लास्टिक सर्जन या डर्मेटोलॉजिकल सर्जन बालों को सिर के गंजे जगह पर बाल लगाते हैं. एक्सपर्ट आमतौर पर गंजेपन की जगह के लिए सिर के पीछे या फिर साइड के बाल निकालते हैं. हेयर ट्रांसप्लांट से पहले मरीज को एनेस्थीसिया भी दिया जाता है जिससे उसे दर्द का एहसास न हो.

रात को बिस्तर पर जाते समय अपनाएं ये तकनीक, कुछ ही पलों में आ जाएगी गहरी नींद

हेयर ट्रांसप्लांट कई प्रकार का होता है लेकिन इसकी दो विधियां सबसे ज्यादा प्रचलित हैं और अधिकांश लोग ट्रांसप्लांट के लिए इनका ही प्रयोग करते हैं. इसमें पहली विधि है फॉलिक्युलर यूनिट ट्रांसप्लांटेशन (Follicular Unit Transplantation) और दूसरी फॉलिक्युलर यूनिट एक्सट्रैक्शन (Follicular Unit Extraction). इन दोनों विधियों से लगाए गए बाल एकदम कुदरती बात की तरह दिखते हैं और इन्हें आप कटवा और कलर भी कर सकते हैं.

ट्रांसप्लांट कराने के बाद बरतें ये सावधानियां

हेयर ट्रांसप्लांट में सिर में एक तरह से ऑपरेशन किया जाता है इसिलए इसके पूरे हो जाने बाद हमें कई महीने तक सावधानियां बरतने की जरूरत है….

  • ट्रांसप्लांट के बाद किसी भी तरह के हेलमेट या फिर टोपी के इस्तेमाल से बचें.

  • हेयरट्रांस प्लांट के बाद आपको करीब 7-8 दिन तक गंजेपन वाली जगह पर लगाए गए बालों को छूना नहीं है.
  • सर्जरी के बाद डॉक्टर आपको कई दिनों तक एंटीबायोटिक्स और पेनकिलर खाने के लिए देंगे, इनका नियमित रूप से इस्तेमाल करें.

  • हेयर ट्रांसप्लांट के बाद जब पहली बार बालों को धोएं तो डॉक्टर्स की देख रेख में ही धोएं.

  • ट्रांसप्लांट के बाद कभी भी नहाने का बाद या फिर गीले बालों में कंघी न करें.

  • बालों की ग्रोथ के लिए जितना संभव हो संतुलित आहार करें और भोजन में हरी सब्जियां और फलों को प्राथमिकता जरूर दें.

  • ट्रांसप्लांट के बाद एक्सपर्ट की सलाह के अनुसार बालों में शैंपू करें ताकि आपके सिर में किसी तरह की गंदगी, या फिर खून या फिर तेल न जमा हो सके. इससे आप पोस्ट सर्जरी होने वाले इंफेक्शन से भी दूर रहेंगे.
  • अगर आप अपने बालों को रंगना चाहते हैं तो एक्सपर्ट से राय लें. वैसे किसी भी तरह के रंग का कम से कम 14 दिन तक सिर पर प्रयोग न करें.

  • बिना डॉक्टर की सलाह के सिर पर शैम्पू, स्प्रे, जेल या किसी अन्य हेयर प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से बचें.

Tags: Health, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें